1. home Home
  2. business
  3. mukesh ambani to list reliance jio in stock exchanges invest to earn huge money mtj

JIO के मालिक Mukesh Ambani आपको भी देंगे कमाई का मौका, Reliance Jio IPO पर लेटेस्ट अपडेट यहां पढ़ें

JIO का सबसे सस्ता रीचार्ज प्लान देने वाले मुकेश अंबानी अब आपको पैसे कमाने का भी मौका देंगे. जाने क्या है रिलायंस के मालिक Mukesh Ambani की योजना...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Reliance Jio के मालिक मुकेश अंबानी अब आपको कमाने का मौका देंगे
Reliance Jio के मालिक मुकेश अंबानी अब आपको कमाने का मौका देंगे
Twitter

Reliance Jio Latest Update: ‘कर लो दुनिया मुट्ठी में’ (Kar Lo Duniya Muthi Me) के स्लोगन के साथ रिलायंस (Reliance) ने अमीर से लेकर गरीब व्यक्ति तक मोबाइल फोन पहुंचा दिया. 501 रुपये में मोबाइल फोन का स्कीम लाकर रिलायंस ने मोबाइल इंडस्ट्री में तहलका मचा दिया था. जमाना स्मार्टफोन का आया, तो रिलायंस ने ही सबसे पहले 4जी सिम (4G Sim) लांच किया. वह भी मुफ्त में. आज देश के करोड़ों लोग रिलायंस जियो (Reliance Jio) पर ही बात करते हैं.

देश के सबसे अमीर उद्योगपति और रिलांयस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) के सीएमडी (चेयरमैन कम मैनेजिंग डायरेक्टर) मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) लोगों को अपनी कंपनी में भागीदारी का मौका देने जा रहे हैं. मुकेश अंबानी अपने टेलिकॉम कंपनी रिलांयस जियो (Reliance Jio Latest Update) को स्टॉक एक्सचेंज (Stock Exchanges) में लिस्ट करवाने की तैयारी कर रहे हैं. इसमें आम लोगों को भी निवेश करने का मौका मिलेगा. यानी आप मुकेश अंबानी की कंपनी में हिस्सेदार बन जायेंगे.

Mukesh Ambani की कंपनी का पहला IPO

दरअसल, मुकेश अंबानी वर्ष 2022 में रिलायंस जियो (Reliance Jio) का आईपीओ ( Intial Public Offering) ला सकते हैं. कहा जा रहा है कि भारतीय जीवन बीमा (LIC) के आईपीओ के बाद रिलायंस जियो का आईपीओ देश का दूसरा सबसे बड़ा आईपो हो सकता है. अंबानी बंधुओं के बिजनेस अलग होने के बाद यह पहला मौका होगा, जब मुकेश अंबानी की कोई कंपनी आईपीओ लायेगी. इसलिए निवेशकों के लिए इसे निवेश का सुनहरा अवसर माना जा रहा है.

रिलायंस जियो ( Reliance Jio) और रिलायंस रिटेल ( Reliance Retail) को लेकर कई सालों से चर्चा है कि ये जल्द ही स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट हो जायेंगी. मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) और अनिल अंबानी (Anil Ambani) के बीच बिजनेस का बंटवारा होने के बाद अनिल की कंपनी रिलांयस पावर (Reliance Power) का वर्ष 2008 में आईपीओ आया था. अगर Reliance Jio का IPO बाजार में आता है, तो मुकेश अंबानी की किसी कंपनी का यह पहला आईपीओ होगा.

1977 में पहली बार आईपीओ लाया था Reliance

बता दें कि वर्ष 1977 में यानी करीब 44 साल पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) का आईपीओ आया था. तब से रिलायंस ग्रुप ने अपने निवेशकों को अच्छा-खासा रिटर्न देकर उन्हें मालामाल कर दिया. वर्ष 2016 में मुकेश अंबानी ने Reliance Jio के नाम से टेलिकॉम सेक्टर में कदम रखा था. सिर्फ 5 साल में Releance Jio ने भारती एयरटेल (Bharti Airtel) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) जैसी दिग्गज कंपनियों को पछाड़ दिया और देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी बन गयी.

7.5 लाख करोड़ रुपये की कंपनी Reliance Jio

विदेशी ब्रोकरेज फर्म CLSA ने एक अनुमान के तहत बताया है कि Reliance Jio के मोबाइल बिजनेस का मूल्य 99 बिलियन डॉलर (करीब 7.5 लाख करोड़ रुपये) हो सकता है. इसमें होम ब्रॉडबैंड जियोफाइबर का कारोबार भी शामिल है. होम ब्रॉडबैंड जियोफाइबर का मूल्य 5 अरब डॉलर (37,500 करोड़ रुपये) आंका गया है. CLSA ने ही Reliance Jio की स्टॉक एक्सचेंजों ( Stock Exchanges) में लिस्टिंग की सबसे पहले सूचना दी.

CLSA ने एक रिसर्च नोट में कहा है कि वर्ष 2022 में भारत के टेलिकॉम सेक्टर (Telecom Sector) में बड़े घटनाक्रम देखने को मिल सकते हैं, जिसमें 5जी स्पेक्ट्रम (5G Spectrum) की नीलामी और Reliance Jio की शेयर बाजारों में संभावित लिस्टिंग शामिल है. ज्ञात हो कि जियो की 33% हिस्सेदारी मुकेश अंबानी 13 निवेशकों को पहले ही बेच चुके हैं.

Facebook और Google है Reliance Jio का हिस्सेदार

वर्ष 2020 में वैश्विक महामारी कोरोना जब चरम पर थी, तब मुकेश अंबानी ने रिलायंस जियो (Reliance Jio) की 10 फीसदी हिस्सेदारी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक (Facebook) को और दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल (Google) को 8 फीसदी हिस्सेदारी बेची थी. Intel Capital, Qualcomm Ventures और Silver Lake, Vista Equity Partners, General Atlantic और KKR जैसे टॉप इक्विटी फंड ने भी रिलांयस जियो (Reliance Jio) में हिस्सेदारी खरीदी है. इससे कंपनी की मजबूती का अंदाजा लगाया जा सकता है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें