1. home Hindi News
  2. business
  3. gst collection for december 2020 modi government achieved great success on economic front gst collection reached all time high in december 2020

आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार को मिली बड़ी कामयाबी, दिसंबर 2020 में ऑल टाइम हाई पर पहुंचा GST कलेक्शन

By Agency
Updated Date
मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी.
मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी.
फाइल फोटो.

GST collection for December 2020 : साल 2020 के आखिरी महीने यानी दिसंबर में देश की मोदी सरकार (Modi government) को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है. पिछले साल के दिसंबर महीने में वस्तु एवं सेवाकर (GST) वसूली अब तक के सर्वकालिक ऊंचाई को छू गया. शुक्रवार को वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) ने बताया कि दिसंबर 2020 में जीएसटी वसूली (GST collection) 1.15 लाख करोड़ रुपये के सर्वकालिक ऊंचाई (All time high) को छू गया, जो त्योहारी मांग (Festive demand) और अर्थव्यवस्था में सुधार को दर्शाता है.

21 महीनों में सबसे अधिक राजस्व वृद्धि

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि दिसंबर 2020 में सकल जीएसटी राजस्व 1,15,174 करोड़ रुपये रहा और 1 जुलाई 2017 को जीएसटी लागू होने के बाद किसी भी महीने के मुकाबले यह सबसे अधिक है. बयान में कहा गया कि यह पिछले 21 महीनों में सबसे अधिक मासिक राजस्व वृद्धि है. यह महामारी के बाद तेज आर्थिक सुधार, जीएसटी चोरी और फर्जी बिल के खिलाफ चलाए गए देशव्यापी अभियान और व्यवस्थागत बदलावों के चलते संभव हुआ.

नवंबर महीने 87 लाख जीएसटीआर-3बी रिटर्न दाखिल

वित्त मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, नवंबर महीने के लिए 31 दिसंबर तक कुल 87 लाख जीएसटीआर-3बी रिटर्न दाखिल किए गए. समीक्षाधीन महीने में आयातित वस्तुओं से राजस्व 27 फीसदी बढ़ा और घरेलू लेनदेन (आयात सेवाओं सहित) से राजस्व इससे पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले आठ फीसदी अधिक रहा.

रिवेन्यू कलेक्शन लगातार तीसरे महीने 1 लाख करोड़ के पर

जीएसटी राजस्व में सुधार के हालिया रुझानों के अनुरूप राजस्व संग्रह ने लगातार तीसरे महीने एक लाख करोड़ रुपये के आंकड़े को पार किया. दिसंबर 2020 में कुल राजस्व संग्रह दिसंबर 2019 के मुकाबले 12 फीसदी अधिक था. दिसंबर में केंद्रीय जीएसटी संग्रह 21,365 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी संग्रह 27,804 करोड़ रुपये, एकीकृत जीएसटी 57,426 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर एकत्र 27,050 करोड़ रुपये सहित) और उपकर 8,550 करोड़ रुपये (आयात पर एकत्र 971 करोड़ रुपये सहित) रहा. अभी तक अधिकतम जीएसटी संग्रह अप्रैल 2019 में 1,13,866 करोड़ रुपये रहा था.

धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही आर्थिक गतिविधियां

जीएसटी वसूली आर्थिक गतिविधियों की स्थिति को दर्शाता है और यह कोरोना वायरस महामारी के चलते लगाए गए लॉकडाउन के कारण अप्रैल में 32,172 करोड़ रुपये के रिकॉर्ड निचले स्तर पर चला गया था. हालांकि, लॉकडाउन में राहत के साथ इसमें भी सुधार हुआ. डेलॉइट इंडिया के वरिष्ठ निदेशक एमएस मणि ने कहा कि जीएसटी संग्रह में लगातार बढ़ोतरी अर्थव्यवस्था की मजबूती को लेकर भरोसा बढ़ाएगी और इससे पता चलता है कि व्यावसायिक गतिविधियां पूरी तरह फिर से शुरू हो गई हैं और वस्तुओं तथा सेवाओं की मांग तेज बनी हुई है. सीआईआई के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने कहा कि जीएसटी राजस्व में बढ़ोतरी से पता चलता है कि उद्योग सामान्य स्थिति में वापस आ रहा है.

Posted By : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें