नये आॅर्डर से जून में सेवा क्षेत्र की वृद्धि आठ महीने के उच्चस्तर पर पहुंची

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्लीः नये आॅर्डर मिलने से जून महीने के दौरान सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में जोरदार उछाल आया है और इस क्षेत्र का पीएमआई आंकड़ा 53.1 अंक पर पहुंच गया. मासिक सर्वेक्षण के मुताबिक, इस स्थिति को देखते हुए आने वाले महीनों में आर्थिक गतिविधियों में तेजी आ सकती है. निक्केई इंडिया सविसर्जि पर्चेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई ) के मुताबिक, सेवा क्षेत्र की गतिविधियां जून में बढ़कर 53.1 अंक पर पहुंच गयी. मई में यह आंकड़ा 52.2 अंक था. इससे समूचे सेवा क्षेत्र में ठोस और बढ़ती गतिविधियों का संकेत मिलता है.

आईएचएस मार्किट की अर्थशास्त्री और रिपोर्ट की लेखिका पालियाना डे लिमा ने इन ताजा आंकड़ों पर कहा कि मांग में सुधार और विपणन प्रयासों का परिणाम सामने आने से नये आॅर्डर बढ़ने से सेवा क्षेत्र की गतिविधियां बढ़ी हैं. सेवा क्षेत्र का पीएमआई 50 के आंकड़े को पार करता हुआ, इससे ऊपर रहा है. लगातार पांचवें महीने यह स्थिति रही है. इसके अलावा, इस साल की पहली तिमाही के लिए सेवा क्षेत्रा का औसत पीएमआई 51.8 अंक रहा है. इससे भी तिमाही के दौरान सेवा कारोबार में वृद्धि का संकेत मिलता है.

लिमा ने कहा कि जून के आंकड़ों ने तिमाही औसत के कंपोजिट पीएमआई (52.2 अंक) में सबसे ज्यादा योगदान किया है. वित्त वर्ष 2016 की दूसरी तिमाही के बाद से यह सबसे अधिक है. इससे संकेत मिलता है कि 2017 के शुरुआती तीन माह की तुलना में जीडीपी वृद्धि में तीव्र उछाल की उम्मीद है. बहरहाल, जून माह में विनिर्माण क्षेत्र का पीएमआई चार माह के न्यूनतम स्तर पर रहा है.

भारत में चूंकि सेवा क्षेत्र का दायरा काफी व्यापक है. इसलिए विनिर्माण क्षेत्र में हल्की वृद्धि से भी निजी क्षेत्र की उत्पादन वृद्धि आठ माह के शीर्ष पर पहुंच गयी. इस लिहाज से निक्केई इंडिया कंपाजिट पीएमआई आउटपुट जून में आठ माह के सर्वोच्च स्तर 52.7 अंक पर पहुंच गया. मई में यह 52.5 अंक रहा था.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें