16.1 C
Ranchi
Friday, February 23, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeऑटोNirbhaya को मिला न्याय, तो Social Media पर लोगों ने कुछ यूं किया React

Nirbhaya को मिला न्याय, तो Social Media पर लोगों ने कुछ यूं किया React

Social Media Reacts on Nirbhaya Justice: निर्भया सामूहिक दुष्‍कर्म और हत्‍याकांड मामले के दोषियों को शुक्रवार की सुबह दिल्‍ली के तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई. दरिंदों को फांसी की सजा दिये जाने पर ट्विटर यूजर्स तरह-तरह के कमेंट्स कर रहे हैं. लोग एक-दूसरे को बधाई दे रहे हैं.

Social Media Reacts on Nirbhaya Justice: निर्भया सामूहिक दुष्‍कर्म और हत्‍याकांड मामले के दोषियों को शुक्रवार की सुबह दिल्‍ली के तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई. इसके साथ ही यह मामला एक बार फिर सुर्खियों में है. भारत में ट्विटर के टॉप ट्रेंड्स में निर्भया मामला ही छाया हुआ है. दरिंदों को फांसी की सजा दिये जाने पर यूजर्स तरह-तरह के कमेंट्स कर रहे हैं. लोग एक-दूसरे को बधाई दे रहे हैं.

निर्भया को न्‍याय मिलने को लेकर सोशल मीडिया में यूजर्स ने तरह-तरह के कमेंट्स किये हैं.किसी ने लिखा है- भारत की बेटी निर्भया को आज न्‍याय मिला. सात साल पहले की काली रात आज उजाले में तब्‍दील हुई. तो किसी यूजर ने इस न्‍याय को पाने में निर्भया की मां की तारीफ की.

किसी यूजर ने लिखा है- दुष्‍कर्म की घटनाएं रुकनी चाहिए, न कि दुष्‍कर्म और हत्‍या की ऐसी घटनाओं के बाद पीड़ित परिवार टूटे दिल से न्‍याय की जंग लड़े. हमें अपने बेटों और भाइयों को महिलाओं का सम्‍मान करना सिखाना पड़ेगा.

निर्भया के गुनाहगारों की फांसी के बाद यह मामला ट्विटर पर टॉप ट्रेंड में है. #NirbhayaVerdict, #NirbhayaJustice, #NirbhayaCase, #NirbhayaNyayDivas, #nirbhayaconvicts, #Four Nirbhaya, #2012 Delhi, #JusticeForNirbhaya एवं #nirbhayabetrayed हैशटैग ट्विटर पर टॉप 10 में ट्रेंड कर रहे हैं.

गौरतलब है कि 16 दिसंबर 2012 की रात दिल्‍ली में एक फिजियोथेरैपिस्‍ट लड़की निर्भया (काल्‍पनिक नाम) के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म किया गया था. दरिंदों ने इस दौरान उसे घातक शारीरिक यातना दी, जिससे बाद में उसकी मौत हो गई. इस मामले के एक दोषी नाबालिग निकला, जिसे कुछ साल जेल की सजा के बाद रिहा कर दिया गया. अन्य पांच में एक आरोपी राम सिंह ने ट्रायल के दौरान ही तिहाड़ जेल में आत्‍महत्‍या कर ली. अन्‍य चार विनय शर्मा, अक्षय ठाकुर, पवन गुप्ता और मुकेश को दोषी करार दिया गया. शुक्रवार 20 मार्च की सुबह उन्‍हें फांसी दे दी गई.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें