26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Google vs ChatGPT: सर्च इंजन को AI से जोड़कर चैटजीपीटी को टक्कर दे पाएगा गूगल?

माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) समर्थित ओपन एआई (OpenAI) के चैटबॉट (Chatbot) चैट जीपीटी से गूगल सर्च (Google Search vs ChatGPT) इंजन के वर्चस्व पर खतरा मंडराने लगा है. इससे मुकाबले के लिए गूगल ने तगड़ी तैयारी कर ली है.

Google Search vs ChatGPT: दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन गूगल (Google) इन दिनों चैटजीपीटी (ChatGPT) से डर गया है. बीते दो दशकों से हर छोटी-बड़ी जानकारी हासिल करने के लिए गूगल सर्च (Google Search) का इस्तेमाल किया जा रहा है. लेकिन माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) समर्थित ओपन एआई (OpenAI) के चैटबॉट (Chatbot) चैट जीपीटी से गूगल सर्च (Google Search vs ChatGPT) इंजन के वर्चस्व पर खतरा मंडराने लगा है. इससे मुकाबले के लिए गूगल ने तगड़ी तैयारी कर ली है. वॉल स्ट्रीट जर्नल (WSJ) की एक रिपोर्ट के अनुसार, गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई (Google CEO Sundar Pichai) ने घोषणा की है कि उन्होंने सर्च इंजन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) को एकीकृत करने का फैसला लिया है. इस फैसले के बाद लोगों को गूगल सर्च में लिखने के बाद Chat Gpt जैसा जवाब मिलेगा.

चैटजीपीटी प्रतिस्पर्धा में आगे न निकल जाए

सु्ंदर पिचाई के अनुसार, एआई में अपडेट होने से गूगल तरह-तरह की खोज का जवाब देने में सक्षम होगा. पिचाई ने कहा है कि अवसर और स्थान का जितना जल्दी हो सके फायदा उठाना चाहिए. गूगल ने यह फैसला चैट जीपीटी से टक्कर मिलने के बाद लिया है. गूगल को डर है कि चैटजीपीटी प्रतिस्पर्धा में आगे न निकल जाए. आपको बता दें कि अमेरिकी टेक फर्म गूगल का मेन बिजनेस ‘सर्च इंजन’ है और पैरेंट कंपनी अल्फाबेट (Alphabet) के रेवन्यू में इसकी आधी हिस्सेदारी है. दो दशक से सर्च इंजन की दुनिया पर राज करनेवाली कंपनी के लिए चैटीजीपीटी के आने से एक नयी चुनौती खड़ी हो गई है. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) बेस्ड चैटबॉट्स गूगल के सर्च इंजन बिजनेस का खेल बिगाड़ सकते हैं.

Also Read: ChatGPT से सीखा पैसे कमाने का तरीका, लखपत‍ि बनकर शेयर की सक्सेस स्टोरी
समय रहते गूगल ने भांप लिया खतरा

माइक्रोसॉफ्ट के सपोर्ट के साथ एआई रिसर्च फर्म OpenAI ने पिछले साल ChatGPT को लॉन्च किया. इसके बाद माइक्रोसॉफ्ट ने बिंग का नया अवतार Bing AI भी पेश कर दिया जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम करता है. इससे गूगल सर्च इंजन के बिजनेस के लिए खतरा पैदा हो गया. इनके जवाब में ही कंपनी Bard AI पेश किया है. गूगल के लिए बार्ड एक बड़ी चिंता है क्योंकि इसने अब तक अपनी बेस्ट परफाॅर्मेंस नहीं दी है. चैटजीपीटी की तुलना में बार्ड उतनी सनसनी पैदा नहीं कर पाया है. ChatGPT की वजह से उपजे खतरे को गूगल ने समय रहते भांप लिया है. अल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई गूगल सर्च इंजन में कंपनी के AI चैटबॉट को जोड़ने की प्लानिंग कर रहे हैं. गूगल ने हाल ही में Bard AI चैटबॉट पेश किया था. अब कंपनी इसे गूगल सर्च इंजन में जोड़ने की तैयारी कर रही है.

Also Read: ChatGPT की लोकप्रियता का फायदा उठा मालवेयर फैला रहे साइबर अपराधी, पढ़ें पूरी खबर

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें