36.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

महाराष्ट्र के इस Hill Station पर कार ले जाने की मनाही है, जानें क्यों?

Car Prohibited on Hill Station: महाराष्ट्र का माथेरान हिल स्टेशन किसी स्वर्ग से कम नहीं है. माथेरान की गिनती भारत के सबसे छोटे हिल स्टेशनों में की जाती है.

Car Prohibited on Hill Station: गर्मी की छुट्टियां बिताने के लिए आम तौर पर लोग हिल स्टेशनों का रुख करते हैं. जिनके पास अपनी कार है, वे कार से लॉन्ग ड्राइव करके हिल स्टेशनों पर जाना पसंद करते हैं. लेकिन, महाराष्ट्र में एक ऐसा भी हिल स्टेशन है, जहां पर कार, ऑटो या फिर किसी भी प्रकार के वाहनों को ले जाने पर रोक लगी हुई है. हालांकि, पूरी दुनिया में इटली का वेनिस शहर भी ऐसी जगह है, जहां कार चलाने पर रोक लगी हुई है. महाराष्ट्र के जिस हिल स्टेशन पर कार चलाने या किसी भी गाड़ी को ले जाने पर रोक लगी है, उस हिल स्टेशन का नाम माथेरान है.

भारत का सबसे छोटा हिल स्टेशन है माथेरान

माथेरान की गिनती भारत के सबसे छोटे हिल स्टेशनों में की जाती है. यह महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में स्थित है. यह हिल स्टेशन समुद्रतल से करीब 2600 फीट की ऊंचाई पर स्थित है. मुंबई से इसकी दूरी करीब 100 किलोमीटर के आसपास है. यह जानकर हैरानी होगी कि पूरे एशिया महादेश में माथेरान ही एक ऐसी जगह है, जो ऑटोमोबाइल फ्री हिल स्टेशन है.

माथेरान पर क्यों नहीं ले जा सकते कार

महाराष्ट्र का माथेरान हिल स्टेशन किसी स्वर्ग से कम नहीं है. इसके चारो ओर हरियाली फैली हुई है. पर्यावरण के दृष्टिकोण से इस छोटे से हिल स्टेशन पर कार, ऑटो रिक्शा या किसी भी प्रकार के वाहनों को ले जाने पर रोक लगी हुई है. सरकार ने इसे पर्यावरण के दृष्टिकोण से अतिसंवेदनशील क्षेत्र घोषित कर रखा है. यही वजह है कि यहां पर कार ले जाने पर रोक है. इतना ही नहीं, इस इलाके में किसी भी गाड़ी के हॉर्न सुनाई दे जाने के बाद वन और परिवहन विभाग की ओर से कार्रवाई की जाती है. इसके अलावा, यहां पर तेज आवाज निकालने पर भी मनाही है.

Also Read: Car Care: फुल स्पीड रनिंग कार में टायर की हवा कैसे करेंगे चेक? पढ़ें रिपोर्ट

माथेरान में घोड़ों से होती है सवारी

महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में स्थित स्वर्ग जैसे इस हिल स्टेशन तक पहुंचने के लिए घोड़ों का इस्तेमाल किया जाता है. मुंबई के रास्ते लोग माथेरान पहुंचने के लिए सबसे पहले लुइसा प्वाइंट तक जाते हैं. इसके बाद लुइसा प्वाइंट से ट्रैकिंग करते हुए घुड़सवारी कराते हुए लोगों को करीब 1.5 किलोमीटर तक का सफर तय कराया जाता है. चार्लोट झील इस इलाके का सबसे बेहतरी आकर्षण का केंद्र है.

Also Read: Tesla ने 60 लाख कार बनाकर रच दिया इतिहास, जश्न में डूबी एलन मस्क की कंपनी

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें