17.1 C
Ranchi
Monday, February 26, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeएजेंसी47 दिन की जंग के बाद चार दिनों का युद्धविराम, क्या 14 हजार लोगों की मौत के बाद टूट...

47 दिन की जंग के बाद चार दिनों का युद्धविराम, क्या 14 हजार लोगों की मौत के बाद टूट चुकी है हमास की कमर!

इजराइल ने कहा कि संघर्ष विराम के प्रभाव में आने के कुछ ही देर बाद ईंधन के चार टैंकरों और रसोई गैस सिलेंडर के चार टैंकरों ने मिस्र से गाजा पट्टी में प्रवेश किया. इजराइल ने संघर्ष विराम के दौरान प्रति दिन 1,30,000 लीटर ईंधन की आपूर्ति की सहमति जताई है.

Israel Hamas War: इजराइल और हमास के बीच समझौते के तहत चार दिवसीय युद्ध विराम शुक्रवार को सुबह प्रभावी हो गया और इसी के साथ इजराइल में कैद फलस्तीनियों और गाजा में उग्रवादियों द्वारा बंधक बनाए गए दर्जनों लोगों की अदला-बदली का मंच तैयार हो गया है. युद्ध विराम के कुछ घंटे बाद संघर्ष की कोई खबर नहीं है. इस कूटनीतिक सफलता से गाजा में 23 लाख लोगों के लिए कुछ राहत दिखाई दे रही है, जिन्होंने हफ्तों तक इजराइली बमबारी को सहा है. यह इजराइल में उन परिवारों के लिए भी राहत भरी खबर है जो सात अक्टूबर के हमास के हमले के दौरान बंदी बनाए गए अपने प्रियजनों को लेकर चिंतित हैं. संघर्ष विराम ने अंततः युद्ध समाप्त होने की उम्मीदें जगा दी है जिसने गाजा के विशाल हिस्से को नष्ट कर दिया, जिसके कारण कब्जे वाले वेस्ट बैंक क्षेत्र में हिंसा में वृद्धि हुई और पूरे पश्चिम एशिया में व्यापक संघर्ष की आशंका पैदा हो गई. हालांकि, इजराइल ने कहा है कि संघर्ष विराम समाप्त होने के बाद वह बड़े पैमाने पर हमले फिर से शुरू करने के लिए प्रतिबद्ध है.

ईंधनों की शुरू हुई सप्लाई

इजराइल ने कहा कि संघर्ष विराम के प्रभाव में आने के कुछ ही देर बाद ईंधन के चार टैंकरों और रसोई गैस सिलेंडर के चार टैंकरों ने मिस्र से गाजा पट्टी में प्रवेश किया. इजराइल ने संघर्ष विराम के दौरान प्रति दिन 1,30,000 लीटर ईंधन की आपूर्ति की सहमति जताई है. हालांकि गाजा की 10 लाख लीटर से अधिक की दैनिक जरूरत की तुलना में यह छोटा हिस्सा है. इजराइल ने पिछले सात सप्ताह में युद्ध के दौरान गाजा में ईंधन की आपूर्ति रोक रखी थी. उसका दावा था कि हमास सैन्य मकसद से इसका इस्तेमाल कर सकता है. संयुक्त राष्ट्र की सहायता एजेंसियों ने हालांकि इसके विपरीत रुख अख्तियार करते हुए कहा कि ईंधन आपूर्ति पर करीब से निगरानी रखी जाती है और गाजा में जल शोधन संयंत्रों, अस्पतालों आदि को बिजली देने के लिए जेनरेटर चलाने के लिए ईंधन की जरूरत है और इस मानवीय विपदा को टालना होगा.

इजराइली सेना ने दक्षिणी गाजा पर पर्चे गिराए, जिनमें वहां शरण लेने वाले हजारों विस्थापित फलस्तीनियों को चेतावनी दी गई कि वे क्षेत्र के उत्तर में अपने घरों में वापस न लौटें. इजराइल की चेतावनी के बावजूद शुक्रवार को सैकड़ों फलस्तीनियों को उत्तर की ओर जाते हुए देखा जा सकता था. ऐसे दो लोग इजराइली सैनिकों की गोलीबारी में मारे गए और 11 अन्य को पैर में गोली लगी. एसोसिएटिड प्रेस के एक पत्रकार ने दो शव देखे और अस्पताल में भर्ती कराए गए घायलों को देखा. गाजा में शासन कर रहे हमास समूह ने इजराइल पर सात अक्टूबर को अप्रत्याशित हमला किया था और इस दौरान करीब 240 लोगों को बंधक बना लिया गया था. हमास ने इस युद्ध विराम के दौरान कम से कम 50 बंधकों को रिहा करने का वादा किया है. हमास ने कहा कि इजराइल 150 फलस्तीनी कैदियों को रिहा करेगा.दोनों पक्ष पहले महिलाओं एवं बच्चों को रिहा करेंगे. इजराइल ने कहा कि प्रत्येक अतिरिक्त 10 बंधकों की रिहाई पर युद्धविराम को एक अतिरिक्त दिन बढ़ाया जाएगा.

कतर, अमेरिका और मिस्र की मध्यस्थता से हुआ समझोता

कतर, अमेरिका और मिस्र की मध्यस्थता में कई सप्ताह की गहन अप्रत्यक्ष बातचीत के बाद यह समझौता हुआ. यदि यह समझौता सफलतापूर्वक लागू होता है, तो यह इजराइल और हमास के बीच जारी युद्ध में महत्वपूर्ण विराम होगा. हमास द्वारा इजराइल पर सात अक्टूबर को किए गए हमले में करीब 1,200 लोगों की मौत हो गई थी. इसके जवाब में इजराइल ने गाजा पर बड़े पैमाने पर हवाई और जमीनी हमले किए, जिसमें कम से कम 13,300 फलस्तीनी मारे गए. इजराइल एवं हमास के बीच समझौते से युद्ध थमने की उम्मीदें पैदा हुई हैं. सात सप्ताह से जारी इस युद्ध से इजराइल और गाजा दोनों में भारी तबाही हुई है और बड़ी संख्या में लोग मारे गए हैं. इस युद्ध से पूरे पश्चिम एशिया में तनाव फैलने की आशंका है. इजराइली रक्षा मंत्री योव गैलेंट ने बृहस्पतिवार को सैनिकों से कहा कि युद्ध में यह राहत अल्पकालिक होगी और युद्ध कम से कम दो और महीनों के लिए जोरदार तरीके से फिर से शुरू होगा.

Also Read: ‘दो गुजराती नहीं एक राजस्थानी के लिए करें मतदान’, सीएम अशोक गहलोत ने की अपील, बीजेपी पर साधा निशाना

एक इजराइली बंधक के बदले तीन फलस्तीनी होंगे रिहा

कतर के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता माजिद अल-अंसारी ने गुरुवार को बताया कि दोनों पक्षों ने रिहा किए जाने वाले बंधकों की सूची जारी है. उन्होंने बताया कि हमास द्वारा बंधक बनाए गए 13 महिलाओं एवं बच्चों का पहला समूह शुक्रवार दोपहर को आजाद किया जाएगा. हर एक इजराइली बंधक को छोड़े जाने के बदले तीन फलस्तीनियों को रिहा किया जाएगा. इजराइल के न्याय मंत्रालय ने रिहाई के योग्य 300 कैदियों की एक सूची प्रकाशित की, जिनमें मुख्य रूप से पत्थर फेंकने और अन्य छोटे अपराधों के लिए पिछले साल हिरासत में लिए गए किशोर शामिल है. अंसारी ने कहा कि गाजा में फलस्तीनियों के लिए ‘‘जल्द से जल्द’’ मदद को बढ़ाया जाएगा. हवाना से मिली खबर के अनुसार, क्यूबा के राष्ट्रपति मिगुएल डियाज-कैनेल के नेतृत्व में हजारों लोगों ने फलस्तीनी लोगों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए तथा इजराइल और हमास के बीच युद्ध को समाप्त करने की मांग को लेकर बृहस्पतिवार को हवाना के प्रतिष्ठित बोर्डवॉक तक मार्च किया.

14 हजार से अधिक लोगों की मौत

हमास शासित गाजा में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि उसने इजराइल-हमास की जंग में मारे गए फलस्तीनियों की विस्तृत जानकारी के साथ गणना करना फिर शुरू कर दिया है और मौत के 14 हजार से अधिक मामले दर्ज किए हैं. इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने युद्ध को लेकर अपने विशेष मंत्रिमंडल के दो मंत्रियों के साथ संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि युद्ध विराम की समयसीमा समाप्त होने के बाद युद्ध फिर प्रारंभ होगा. उन्होंने कहा कि इजराइल का लक्ष्य हमास के सभी सैन्य प्रतिष्ठानों को नष्ट करना और ग़ाज़ा में बंधक बनाए गए उसके सभी 240 लोगों को रिहा कराना है. उन्होंने कहा कि मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि युद्ध जारी है. सभी लक्ष्य हासिल होने तक हमारे प्रयास जारी रहेंगे. नेतन्याहू ने कहा कि उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन को फोन करके यही जानकारी दी है. प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने देश की खुफिया एजेंसी मोसाद को हमास के निर्वासित नेतृत्व का सफाया करने का निर्देश दिया है कि फिर वे चाहे कहीं भी हों.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें