1. home Hindi News
  2. world
  3. un secretary general will go to moscow to stop russia attacks on ukraine guterres will meet putin and lavrov vwt

यूक्रेन पर रूस के हमलों को रोकने के लिए मॉस्को जाएंगे यूएन महासचिव, पुतिन और लावरोव से करेंगे मुलाकात

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतारेस के अगले हफ्ते आमने-सामने बैठकर तत्काल शांति की अपील करने के लिए रूस और यूक्रेन के राष्ट्रपतियों से अलग-अलग मुलाकात करने का कार्यक्रम है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतारेस
संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतारेस
फोटो : ट्विटर

नई दिल्ली : रूस-यूक्रेन युद्ध 58 दिन से लगातार जारी है. यूक्रेन के राष्ट्रपति अब भी अमेरिका और पश्चिमी देशों समेत पूरी दुनिया से मदद मांग रहे हैं. वहीं, रूसी सैनिक यूक्रेन के प्रमुख शहरों पर लगातार घातक हमले कर रहे हैं. यूक्रेन के मारियुपोल समेत कई शहर पूरी तरह से बर्बाद हो चुके हैं. हालात ऐसे बने हैं कि यूक्रेन में रूसी सैनिकों के हमलों में मारे गए आम नागरिकों को दफनाने के लिए ढंग से कब्र भी मयस्सर नहीं है. इस बीच, खबर यह भी है कि रूस-यूक्रेन के बीच हो रहे युद्ध को रोकने के लिए संयुक्त राष्ट्र (यूएन) महासचिव एंटोनियो गुतारेस 26 अप्रैल को रूस जाएंगे. वे वहां रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से मुलाकात करेंगे.

पुतिन करेंगे गुतारेस की मेजबानी

मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतारेस के अगले हफ्ते आमने-सामने बैठकर तत्काल शांति की अपील करने के लिए रूस और यूक्रेन के राष्ट्रपतियों से अलग-अलग मुलाकात करने का कार्यक्रम है. क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने पुष्टि की कि गुतारेस मंगलवार को रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से मुलाकात करेंगे और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भी संयुक्त राष्ट्र प्रमुख की मेजबानी करेंगे.

28 अप्रैल को यूक्रेन भी जाएंगे गुतारेस

संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि यूएन महासचिव एंटोनियो गुतारेस यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की और विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा से मुलाकात करने गुरुवार 26 अप्रैल को यूक्रेन जाएंगे. संयुक्त राष्ट्र की प्रवक्ता एरी कानेको ने कहा कि दोनों देशों यात्राओं पर गुतारेस का उद्देश्य उन कदमों पर चर्चा करने का है, जो लड़ाई को खत्म करने और लोगों की मदद करने के लिए अभी उठाए जा सकते हैं.

मारियुपोल में मिली एक और सामूहिक कब्र

उधर, यूक्रेन के ध्वस्त हो चुके शहर मारियुपोल के बाहर एक और सामूहिक कब्र मिली है. शहर के मेयर के सलाहकार ने यह जानकारी दी है. शहर की परिषद ने 'प्लेनेट लैब्स' द्वारा उपग्रह से ली गई एक तस्वीर पोस्ट की है, जिसे सामूहिक कब्र बताया जा रहा है. बताया जा रहा है कि 45 मीटर लंबे और 25 मीटर चौड़ी इस कब्र में मारियुपोल के कम से कम 1,000 निवासियों के शव हो सकते हैं. उन्होंने यह भी बताया कि सामूहिक कब्र व्यनोरादने गांव के बाहर देखी गई है, जो मारियुपोल के पूर्व में पड़ता है. इससे पहले, उपग्रह तस्वीरें उपलब्ध कराने वाली कंपनी मैक्सार टेक्नोलॉजीज द्वारा दी गई तस्वीरों में मारियुपोल के पश्चिम में स्थित मनहुस शहर में सामूहिक रूप से 200 से अधिक कब्रें दिखाई दी थीं.

यूक्रेन ने भारत से मांगी मदद

वहीं, यूक्रेन के एक मंत्री ने भारत से युद्धग्रस्त उनके देश को अधिक सक्रिय रूप से समर्थन देने का आग्रह किया. उन्होंने पश्चिमी देशों से रूसी तेल और गैस के निर्यात पर वास्तविक प्रतिबंध लगाने का भी आह्वान किया. यूक्रेन के संस्कृति एवं सूचना मंत्री ऑलेक्जेंडर त्काचेंको ने कहा कि यूक्रेन के खिलाफ रूस की कार्रवाई कई दशक पहले यूरोप में एडोल्फ हिटलर की तुलना में अलग नहीं है और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का लक्ष्य उनके देश पर पूरी तरह से कब्जा करना और इसकी पहचान को मिटाना है. उन्होंने कहा कि भारत और यूक्रेन लोकतांत्रिक मूल्यों को साझा करते हैं.

रूस ने वार्ता रुकने के लिए यूक्रेन को ठहराया जिम्मेदार

रूस के एक शीर्ष राजनयिक ने कहा है कि यूक्रेन में युद्ध की समाप्ति के लिए होने वाली वार्ता 'थम' गई है, क्योंकि मॉस्को को उसके सबसे नवीनतम प्रस्तावों पर कीव की ओर से कोई जवाब नहीं मिला है. रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने शुक्रवार को मीडिया से कहा कि अभी ये (बातचीत) थमी हुई है, क्योंकि हमने पांच दिन पहले यूक्रेन के वार्ताकारों के समक्ष अन्य प्रस्ताव भेजा है, जिस पर अभी तक कोई जवाब नहीं आया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें