1. home Home
  2. world
  3. iskcon temple violently attacked by mob in bangladesh durga puja pandal attack prt

नहीं थम रहा बांग्लादेश में हिन्दू मंदिरों पर हमला, दुर्गा मंदिर के बाद अब इस्कॉन टेंपल पर तोड़फोड़, कई घायल

नोआखाली इलाके में भीड़ ने इस्कॉन मंदिर पर अचानक से हमला बोल दिया, इस दौरान मंदिर परिसर में जमकर तोड़फोड़ की गई. लेकिन इतने पर भी हमलावर नहीं रुके उन्होंने मारपीट करनी शुरू कर दी और मंदिर परिसर में आग लगा दी.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
नहीं थम रहा बांग्लादेश में हिन्दू मंदिरों पर हमला
नहीं थम रहा बांग्लादेश में हिन्दू मंदिरों पर हमला
Twitter

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडाल में हमले के बाद कट्टरपंथियों ने इस्कॉन टेंपल पर हमला किया है, उपद्रवियों ने मंदिर में तोड़फोड़ की है. वहीं श्रद्धालुओं के साथ मारपीट भी की है. इस हमले में कई लोग घायल हुए हैं. जाहिर है बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदुओं लगातार हमले हो रहे हैं. नवरात्री के दौरान दुर्गा पूजा पांडालों पर हमले और तोड़फोड़ का सिलसिला शुरू हुआ था वो बदस्तूर जारी है.

वहीं, बांग्लादेश में रह रहे अल्पसंख्यक हिन्दुओं की सुरक्षा के लिए प्रशासन ने सरकार से गुहार लगाई है.जानकारी के अनुसार, नोआखाली इलाके में भीड़ ने इस्कॉन मंदिर पर अचानक से हमला बोल दिया, इस दौरान मंदिर परिसर में जमकर तोड़फोड़ की गई. लेकिन इतने पर भी हमलावर नहीं रुके उन्होंने मारपीट करनी शुरू कर दी और मंदिर परिसर में आग लगा दी.

इस्कॉन मंदिर प्रशासन ने दी जानकारी: मंदिर में हमले, तोड़फोड़ और मारपीट की जानकारी स्कॉन मंदिर प्रशासन ने ट्वीट कर दी है. मंदिर प्रशानस ने बताया कि हमले में मंदिर को काफी नुक्सान हुआ है. कट्टरपंती मुसलमानों की भीड़ के हमले में एक भक्त को काफी चोट लगी हैं. उसकी हालत गंभीर बनी हुई है. इधर हमले के बाद एक बार बांग्लादेस की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने घटना चिंता जताई है. उन्होंने कहा है कि हिंदु मंदिरों और दुर्गा पंडालों में महले करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा.

पहले पूजा पंडाल में हुआ था हमला: गौरतलब है कि इस्कॉन टेंपल पर हमले के पहले उपद्रवियों ने कई दुर्गा पूजा पांडालों पर हमला किया था, और वहां तोड़फोड़ की थी. इस दौरान की भक्तों के साथ मारपीट भी की गई. जिसमें कई लोग घायल हो गये थे. वहीं, प्रधानमंत्री शेख हसीना ने हमले के बाद भारत को नसीहत देते हुए कहा थी कि भारत में ऐसा कोई काम न हो जिसकी कीमत यहां रह रह अल्पसंख्यक हिन्दुओं को उटाना पड़े.

Posted by: pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें