1. home Home
  2. world
  3. government formation in afghanistan controversy erupts after isi chief faiz hameeds visit to kabul ksl

Government formation in Afghanistan : आईएसआई प्रमुख फैज हमीद की काबुल यात्रा से उपजे विवाद

पाकिस्तान के आईएसआई प्रमुख फैज हमीद की अफगानिस्तान यात्रा के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विवाद शुरू हो गया है. मालूम हो कि फैज हमीद की अफगानिस्तान यात्रा पर जिस दिन काबुल पहुंचे, उसी दिन तालिबान ने एक सप्ताह के लिए सरकार गठन को टाल दिया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
फैज हमीद, प्रमुख, आईएसआई, पाकिस्तान
फैज हमीद, प्रमुख, आईएसआई, पाकिस्तान
सोशल मीडिया

पाकिस्तान के आईएसआई प्रमुख फैज हमीद की अफगानिस्तान यात्रा के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विवाद शुरू हो गया है. मालूम हो कि फैज हमीद की अफगानिस्तान यात्रा पर जिस दिन काबुल पहुंचे, उसी दिन तालिबान ने एक सप्ताह के लिए सरकार गठन को टाल दिया.

पेंटागन के पूर्व अधिकारी माइकल रुबिन ने कहा है कि अफगानिस्तान की स्थिति पर चर्चा करने के लिए यह 'आपातकालीन' यात्रा थी. इससे साबित होता है कि तालिबान सरकार आईएसआई की कठपुतली मात्र है.'' माना जा रहा है कि मुल्ला बरादर और हक्कानी नेटवर्क के बीच शांति को लेकर फैज हमीद काबुल पहुंचे थे.

वहीं, पाकिस्तानी मीडिया में कहा गया है कि तालिबान सरकार गठन को लेकर चर्चा के लिए तालिबान नेतृत्व ने आमंत्रित किया था. साथ ही कहा गया है कि तालिबान के साथ पाक-अफगान सुरक्षा, अर्थव्यवस्था समेत कई मामलों को तालिबान नेतृत्व के समक्ष उठाया जायेगा.

वहीं, अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि तालिबान सरकार के गठन में हक्कानी नेटवर्क को आगे बढ़ाने के लिए यह दौरा किया गया था. मालूम हो कि सरकार गठन में हक्कानी नेटवर्क और तालिबान नेतृत्व के बीच बातचीत चल रही है.

माइकल रुबिन के मुताबिक, ''अफगानी सूत्रों के अनुसार बरादर और हक्कानी समर्थित समूहों के बीच संघर्ष के बाद फैज हमीद काबुल पहुंचे हैं. हक्कानी के साथ-साथ कई तालिबान गुट हैबतुल्लाह को अपना नेता स्वीकार नहीं करते हैं.''

सोशल मीडिया पर फैज हमीद की तस्वीरें काफी वायरल हुई हैं. इससे स्पष्ट है कि यह गुप्त यात्रा नहीं थी. पाकिस्तान के ट्रिब्यून ने भी कहा है कि आईएसआई के महानिदेशक की यात्राओं को सामान्यत: गुप्त रखा जाता है. हलांकि, काबुल यात्रा को गुप्त नहीं रखा गया था.''

फैज हमीद ने एक चैनल से बात करते हुए कहा है कि ''हम अफगानिस्तान में शांति स्थिरता के लिए काम कर रहे हैं. चिंता ना करें, सब ठीक हो जायेगा.'' मालूम हो कि अफगान राजनेता मरियम सोलेमानखिल ने ट्वीट कर रहा था कि ''मैं जो सुन रहा हूं, उसके मुताबिक आईएसआई के महानिदेशक काबुल आये हैं, ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि बरादर सरकार का नेतृत्व नहीं करे और हक्कानी को कमान सौंपी जाये.''

कौन हैं फैज हमीद?

पाकिस्तानी सेना में लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद थ्री-स्टार रैंकिंग जनरल हैं. साल 2019 में उन्हें आईएसआई का महानिदेशक नियुक्त किया गया था. बलूच रेजिमेंट से आनेवाले फैज हमीद आईएसआई महानिदेशक बनने से पहले आईएसआई में ही आंतरिक सुरक्षा विंग के प्रभारी थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें