1. home Hindi News
  2. world
  3. formers us president barack obama shares his personal life experiences said broke his friend nose for racial slur over him america world news hindi pwn

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने शेयर की मन की बात, कहा-नस्लीय टिप्पणी के चलते दोस्त की नाक तोड़ी थी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने शेयर की मन की बात
पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने शेयर की मन की बात
Twitter
  • पहली बार बराक ओबामा ने शेयर किए अपने जीवन के अनछुए पहलू

  • बताया क्यों अपने दोस्ती की नाक तोड़ी थी

  • नस्लवाद एक गंभीर समस्या है खत्म करना होगा

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने जीवन का एक बात शेयर की है. उन्होंने कहा कि एक बार उन्होंने लॉकर रूम की लड़ाई में अपने दोस्त की नाक तोड़ दी थी क्योंकि उनकते दोस्त ने उनके खिलाफ नस्लीय टिप्पणी की थी.

द हिल (The Hill) के अनुसार अमेरिका के 44वें राष्ट्रपति बराक ओबामा ने स्पॉटिफाई (Spotyfy) पॉडकास्ट रेनीगेड्टस (Podcasts Renegedes): बॉर्न इन यूएसए' (Born In USA) में ब्रूस स्प्रिंगस्टीन के साथ अपने अनुभव साझा किया है. यह सोमवार को रिलीज किया गया था. कार्यक्रम के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि सुनो जब मैं स्कूल में था, मेरा एक दोस्त था. हम बास्केटबॉल साथ में खेलते थे. फिर एक बार हमदोनों दोस्तों के बीच झगड़ा हुआ क्योंकि उसनें मुझे नस्लीय टिप्पणी की.

द हिल के अनुसार इस दौरान 13 मिनट तक ओबामा ने इन बातों को साझा किया उसके बाद उन्होनें अलोहा स्टेट के बारे में स्प्रिंगस्टीन से कहा कि अब हवाई में ऐसा नहीं होता है. बराक ओबामा ने कहा यह कुछ ऐसी बातें है जिनके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं. क्योंकि कौन क्या कर सकता है, किस बात से किसे तकलीफ पहुंच सकती है यह कम लोग ही जानते हैं.

इसके बाद बराक ओबामा ने हंसते हुए कहा कि मुझे याद है कि किस प्रकार मैंने अपने दोस्त के चेहरे पर दे मारा था. इससे उसकी नाक टूट गयी थी और हमदोनों लॉकर रूम में थे. कार्यक्रम के दौरान इस बात के लिए स्प्रिंगस्टीन ने ओबामा से कहा कि आपने बहुत बढ़िया किया.

इसके आगे अमेरिका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति ओझबामा ने बताया कि उन्होंने अपने दोस्त से कहा कि अब मुझसे इस तरह की बात नहीं करना. द हिल के अनुसार बराक ओबामा ने पहली बार अपने जीवन के इस पहलू को सार्वजनिक तौर पर साझा किया है.

नस्लीय मतभेदों के खिलाफ बोलते हुए ओबामा ने कहा कि मैं गरीब हो सकता हूं. मैं अज्ञानी हो सकता हूं. मेरा मतलब हो सकता है. मैं बदसूरत हो सकता हूं. मैं खुद को पसंद नहीं कर सकता. मैं दुखी हो सकता हूं. लेकिन आप जानते हैं कि मैं क्या नहीं हूं? साथ ही ओबामा ने स्प्रिंगस्टीन से कहा "मैं आपके जैसा नहीं हूँ."

ओबामा ने कहा की यह एक बेसिक साइकोलॉजी है जिसे तब संस्थागत रूप दिया जाता है, जब इसका उपयोग किसी को अमानवीय बनाने के लिए किया जाता है, जिसका फायदा उठाते हुए लोग गलत कार्य भी कर जाते हैं.

ओबामा ने कहा कि "जो भी हो बुराई का अंत होता है और कुछ मामलों में यह उतना ही सरल है, जितना कि आप जानते हैं, 'मुझे डर है कि मैं महत्वहीन हूं और महत्वपूर्ण नहीं हूं. और यह बात यही है. मुझे कुछ महत्व दिया जाएगा, ”

ओबामा ने अमेरिकी समाज से नस्लवाद के प्रभाव को लेकर, व्हाइट हाउस छोड़ने के बाद से कई बार चर्चा की है. उन्होंने 2015 के एक साक्षात्कार में एक नस्लीय मतभेदों कहा था कि अमेरिका नस्लवाद का "ठीक" नहीं है. उन्होंने कहा, "यह इस बात का पैमाना नहीं है कि नस्लवाद अभी भी मौजूद है या नहीं. यह सिर्फ भेदभाव का मामला नहीं है. क्योंकि समाज रातोंरात 200-300 साल से चली आ रही हर चीज को नहीं मिटा सकता है.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें