1. home Hindi News
  2. world
  3. big achievement scientists developed this special technique to stop covid 19

बड़ी उपलब्धि : कोविड- 19 को रोकने के लिए वैज्ञानिकों ने विकसित की ये खास तकनीक

By Agency
Updated Date
अनुसंधानकर्ताओं ने एक ऐसी तकनीक को विकसित की है जिससे कोरोना के रफ्तार को रोकने में मदद मिलेगी, ये एक ऐसी तकनीक होगी जो ये पता लगाएगी कि कौन से जगह पर कोरोना का संक्रमण तेजी फैल रहा है
अनुसंधानकर्ताओं ने एक ऐसी तकनीक को विकसित की है जिससे कोरोना के रफ्तार को रोकने में मदद मिलेगी, ये एक ऐसी तकनीक होगी जो ये पता लगाएगी कि कौन से जगह पर कोरोना का संक्रमण तेजी फैल रहा है
Twitter

अनुसंधानकर्ताओं ने उन स्थानों का पता लगाने के लिए एक नयी, गैर आक्रामक रणनीति विकसित की है जो उन संभावित क्षेत्रों को इंगित करेंगे जहां से कोविड-19 के प्रसार का जोखिम अधिक होगा. इसके लिए वे मौजूदा सेलुलर (मोबाइल) वायरलैस नेटवर्कों से डेटा का प्रयोग करेंगे.

यह ऐसी उपलब्धि है जो वैश्विक महामारी की रोकथाम में मददगार साबित हो सकती है. अमेरिका की कोलोराडो स्टेट यूनिवर्सिटी के एडविन चोंग समेत अन्य वैज्ञानिकों के मुताबिक यह नयी तकनीक सबसे अधिक भीड़-भाड़ वाले स्थानों की पहचान में मदद करेगा जहां वायरस के ऐसे वाहकों के कई स्वस्थ लोगों से करीब से संपर्क में आने की आशंका बहुत ज्यादा होगी जिनमें रोग के लक्षण नजर नहीं आते हैं.

इस तकनीक से उन क्षेत्रों को ऐसे परिदृश्यों से बचने में मदद मिलेगी जहां वायरस किसी देश के घनी आबादी वाले इलाकों में विनाशकारी प्रभाव डालता है. वैज्ञानिकों का कहना है कि इस रणनीति का इस्तेमाल कर वे यह समझने की उम्मीद करते हैं कि मोबाइल उपयोगकर्ता किसी क्षेत्र में कैसे आवागमन करते हैं और जुटते हैं.

इसके लिए वे हैंडओवर और सेल (पुन:) चयन प्रोटोकॉल का उपयोग करते हैं. इस तकनीक का संपूर्ण ब्योरा ‘आईईईई ओपन जर्नल ऑफ इंजीनियरिंग इन मेडिसिन एंड बायोलॉजी' में दिया गया है. बता दें कि अभी तक कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कोई भी वैक्सीन नहीं बन पाई है, लेकिन 13 तरह की वैक्सीन अभी भिन्न भिन्न स्टेज पर हैं. ऑक्‍सफर्ड के AstraZeneca Plc. वैक्सीन अभी ट्रायल पर है जो कि आखिरी स्टेज में पहुँच चुका है. वो दुनिया कि ऐसी पहली वैक्सीन है जो कि आखिरी स्टेज है. भारत की तरफ से सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया ने भी इसकी कवायद शुरू कर दी है. और इसके लिए 100 मिलियन डॉलर इनवेस्‍ट किए गए हैं. ChAdOx1 nCov-19 शुरूआत में 10 हजार 260 लोगों पर ट्रायल की जाएगी.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें