1. home Hindi News
  2. world
  3. 60 percent of the worldwide vaccine is manufactured in india russia will help in making corona vaccine aml

दुनिया भर के 60 फीसदी वैक्सीन का निर्माण भारत में होता है, कोरोना वैक्सीन बनाने में रूस करेगा मदद

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Corona Vaccine
Corona Vaccine
File

मॉस्को : रूस ने कोरोनावायरस वैक्सीन (Corona Vaccine) स्पुतनिक-5 के भारत में उत्पादन पर बड़ा बयान दिया है. रूस (Russia) ने कहा कि भारत में वैक्सीन तैयार करने में रूस मदद करेगा, इस पर बात चल रही है. रसियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड के सीईओ किरील दिमित्रीव ने कहा कि भारत की क्षमता को हम पहचानते हैं. भारत में ना केवल अपने देश के लिए बल्कि दूसरे देशों के लिए भी वैक्सीन बनाने की क्षमता है.

उन्होंने कहा कि दुनियाभर की 60 फीसदी वैक्सीन का निर्माण भारत में होता है. कोरोना की स्पुतनिक-5 वैक्सीन के लोकलाइजेशन के लिए संबंधित मंत्रालयों, भारत सरकार और बड़े निर्माताओं के बीच चर्चा जारी है. बता दें कि रूस ने पिछले महीने ही वैक्सीन बना लेने का दावा किया है. लेकिन दुनिया के कई विशेषज्ञों ने अभी वैक्सीन के और परीक्षण की जरूरत बतायी है.

राजनाथ सिंह ने वैक्सीन के लिए रूसी वैज्ञानिकों की सराहना की

भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने में सफलता पाने के लिए रूस की सरकार और वहां की जनता को बधाई दी, साथ ही संक्रमण का टीका विकसित करने के लिए देश के वैज्ञानिकों की सराहना की. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पिछले माह घोषणा की थी कि रूस के वैज्ञानिकों ने कोविड-19 का दुनिया का पहला टीका ‘स्पुतनिक-5' विकसित कर लिया है.

उन्होंने कहा था कि उनकी एक बेटी को टीका लग चुका है और यह ‘काफी प्रभावी' है तथा ‘स्थाई प्रतिरोधक क्षमता' विकसित करता है. सिंह ने यहां शुक्रवार को शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में अपने संबोधन में कहा, ‘मैं रूस की सरकार और जनता को कोविड-19 महामारी पर सफलतापूर्वक नियंत्रण पाने के लिए बधाई देता हूं.'

उन्होंने कहा, ‘हम रूस के वैज्ञानिकों और स्वास्थ्यकर्मियों को स्पुतनिक-5 टीका तैयार करने के लिए बधाई देते हैं. मैं महामारी के वक्त आप सब की अच्छी सेहत और सफलता की कामना करता हूं.' रूस की सरकार ने कोविड-19 के टीके ‘स्पुतनिक 5' का, साथ मिल कर उत्पादन करने और देश में इसके तीन चरण में नैदानिक परीक्षण करने के लिए भारत से बात की है. हालांकि रूस के टीके के प्रभावी होने के संबंध में सीमित आंकडे उपलब्ध होने के कारण, इसे ले कर कुछ लोगों में संशय है.

जॉन हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार, रूस में संक्रमण से 17,598 लोगों की मौत हो चुकी है और संक्रमण के 10 लाख से अधिक मामले हैं. गौरतलब है कि सिंह आठ सदस्यीय एससीओ के रक्षा मंत्रियों की बैठक में भाग लेने के लिए तीन दिन की रूस यात्रा पर हैं.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें