29.5 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Shubh Muhurat: दिसंबर में भूमि पूजन और घर खरीदने के लिए ये तिथियां शुभ, जानें ज्योतिषाचार्य से जरूरी बातें

Shubh Muhurat 2023: भूमि पूजन के दौरान धरती माता और वास्तु पुरुष की पूजा की जाती है. गृह प्रवेश करते समय पंचांग में देख लेना चाहिए कि उस दिन सूर्य उत्तरायण हो और शुक्र व बृहस्पति अस्त न हों. मंगलवार और रविवार को नए घर में प्रवेश न करें.

Shubh Muhurat 2023: किसी भी प्रकार के नए निर्माण कार्य शुरू करने से पहले भूमि पूजन किया जाता है. भूमि पूजन के दौरान धरती माता और वास्तु पुरुष की पूजा की जाती है. पृथ्वी की पूजा दिव्य ऊर्जा का आह्वान करने, निर्माण के दौरान बाधाओं को दूर करने और उनका आशीर्वाद लेने के लिए की जाती है. वहीं वास्तु पुरुष को वास्तु संरचनाओं का देवता माना जाता है. हरेक निर्माण योग्य भूमि को एक वास्तु पुरुष मंडल माना जाता है, जो ब्रह्मांडीय हलचलों के अनुसार संरचना की आध्यात्मिक प्लान को दर्शाता है. बिल्डिंग में रहने वालों की जिंदगी में सद्भाव लाने के लिए इनकी पूजा की जाती है. निर्माण कार्य शुरू करने से पहले भगवान गणेश की भी पूजा की जाती है और लोग निर्माण शुरू करने से पहले इनका आशीर्वाद लेते हैं. वहीं भूमि पूजन और गृह निर्माण के हिस्से के तौर पर नाग देवता की मूर्ति और कलश की भी पूजा की जाती है. भूमि पूजन के दौरान लोग सकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करने के लिए प्रकृति के पांच तत्वों की पूजा करते हैं.

भूमिपूजन के लिए शुभ समय

भूमि पूजन के लिए दिसंबर में शुभ तिथियां 2, 3, 5, 7, 10, 11 और पूर्णिमा हैं. इस काम के लिए सोमवार, बुधवार और शुक्रवार शुभ दिन है. वहीं, नक्षत्र अश्विनी, रोहिणी, मृगशिरा, पुष्य, उत्तरा, हस्त और रेवती है. अगर आप घर में कोई काम शुरू करना चाहते हैं तो सूर्य, चंद्रमा, बृहस्पति और शुक्र ग्रह नीच के नहीं होने चाहिए. शुक्ल पक्ष में गृह निर्माण करना शुभ व कृष्ण पक्ष में अशुभ होता है. शनिवार के दिन नींव या मकान की शुरुआत करना बेहतर होता है. मंगलवार और रविवार को निर्माण कार्य आरंभ न करें.

गृह प्रवेश के लिए शुभ समय

गृह प्रवेश करते समय पंचांग में देख लेना चाहिए कि उस दिन सूर्य उत्तरायण हो और शुक्र व बृहस्पति अस्त न हों. मंगलवार और रविवार को नए घर में प्रवेश न करें. इस कार्य के लिए सोमवार, बुधवार और शुक्रवार शुभ दिन है. अश्विनी, रोहिणी, पुष्य, हस्त, चित्रा, स्वाति, अनुराधा, श्रवण, धनिष्ठा और रेवती नक्षत्र शुभ हैं. दिसंबर 2023 में नवनिर्मित मकान में प्रवेश के लिए शुभ तिथियां 2, 3, 5, 7, 10, 11 और 13 है.

Also Read: दिसंबर में विवाह के हैं बस इतने ही मुहूर्त, 15 से शुरू होगा खरमास, फिर शादी के लिए करना होगा 2024 का इंतजार
नया व्यापार शुरू करने के लिए शुभ तिथियां

  • पंचांग के अनुसार, दिसंबर 2023 में वाहन खरीदने करने के लिए 1, 7, 8, 10, 17, 18, 21, 24 और 29 दिसंबर की तिथियां शुभ होंगी.

  • पंचांग के अनुसार, दिसंबर 2023 में नया व्यापार शुरू करने के लिए 14, 15 और 24 दिसंबर की तिथियां शुभ होंगी.

  • पंचांग के अनुसार, दिसंबर 2023 में प्रॉपर्टी खरीदने करने के लिए 1, 14, 21, 28 और 29 दिसंबर की तिथियां शुभ होंगी.

  • पंचांग के अनुसार, दिसंबर 2023 में नामकरण समारोह करने के लिए 1, 7, 11, 15, 17, 20, 24 और 27 दिसंबर की तिथियां शुभ होंगी.

भूमि पूजन के लिए शुभ तिथियां

घर निर्माण को लेकर शुभ मुहूर्त की जब भी बात आती है तो विभिन्न राय सामने आती हैं. मान्यता है कि घर का निर्माण आषाढ़ शुक्ल से कार्तिक शुक्ल के दौरान शुरू नहीं कराना चाहिए. क्योंकि इस दौरान भगवान विष्णु सोते हैं. आषाढ़ शुक्ल एकादशी से लेकर कार्तिक शुक्ल एकादशी तक किसी भी प्रकार के शुभ कार्य नहीं करना चाहिए. इन दिनों न तो विवाह, मुंडन, जनेऊ करते है, न ही घर बनवाते हैं और न ही नया बिजनेस शुरू करते हैं. ज्योतिषाचार्य के अनुसार शनिवार, रविवार और मंगलवार को भूमि पूजन नहीं करना चाहिए. भूमि पूजन के लिए सोमवार और गुरुवार सर्वश्रेष्ठ दिन हैं. भूमि पूजन के लिए शुभ तिथियां द्वितीया, तृतीया, पंचमी, सप्तमी, दशमी, एकादशी, त्रयोदशी और पूर्णिमा है.

भूमि पूजन के लिए सामग्री लिस्ट

भूमि पूजा और पुजारी द्वारा मंत्र जाप के दौरान, फूल, अगरबत्ती, कलावा, कच्चे चावल, चंदन, हल्दी, सिंदूर (रोली), सुपारी, फल और मिठाई सहित वस्तुओं का भोग लगाना चाहिए. पूजन सामग्री में चावल, नारियल, सुपारी, फूल गुच्छा, फल, प्रसाद, कपूर, अगरबत्ती, आरती के लिए कपास, तेल या घी, दीप या दीया, पानी, हल्दी पाउडर, कुमकुम, पेपर टॉवल, कुल्हाड़ी, क्वार्टर सिक्के, नवरत्न, पंचधातु शामिल करें.

Also Read: Astrology: इन ग्रहों के अशुभ प्रभाव से जीवन में झेलनी पड़ती हैं तकलीफें, जानें लक्षण और ज्योतिषीय उपाय
नए घर में मुख्य दरवाजे की चौखट के नीचे रखें ये चीज

नए घर में मुख्य दरवाजे की चौखट लगाने से पहले इन चीजों को कंक्रीट स्लैब पर रखा जाता है, इन वस्तुओं को रखने से पृथ्वी की ऊर्जा को नए घर में ट्रासंफर करने में मदद मिलती है.

  • मूल नवरत्न जिसमें मूल रत्न शामिल हैं.

  • शुद्ध धातुओं से बनाया गया मूल पंचलोहा

  • पीतल से बना वास्तु विग्रह

  • पीतल से बना वास्तु यंत्र

  • मरकरी बीड

  • तांबे का सिक्का

  • तांबे की कील

ज्योतिष संबंधित चुनिंदा सवालों के जवाब प्रकाशित किए जाएंगे

ज्योतिष शास्त्र में कई ऐसे उपाय बताए गए हैं, जिन्हें करने से जीवन की हर परेशानी दूर की जा सकती है. ये उपाय करियर, नौकरी, व्यापार, पारिवारिक कलह, शुभ मुहूर्त सहित कई अन्य कार्यों में भी सफलता दिलाते हैं. नीचे दिए गए विभिन्न समस्याओं के निवारण के लिए आप एक बार ज्योतिषीय सलाह जरूर ले सकते है. यदि आपकी कोई ज्योतिषीय, आध्यात्मिक या गूढ़ जिज्ञासा हो, तो अपनी जन्म तिथि, जन्म समय व जन्म स्थान के साथ कम शब्दों में अपना प्रश्न radheshyam.kushwaha@prabhatkhabar.in या WhatsApp No- 8109683217 पर भेजें. सब्जेक्ट लाइन में ‘प्रभात खबर डिजीटल’ जरूर लिखें. चुनिंदा सवालों के जवाब प्रभात खबर डिजीटल के धर्म सेक्शन में प्रकाशित किये जाएंगे.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें