21.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

UP News: नोएडा में चलती कार में लगी आग, पार्टी से लौट रहे दो इंजीनियर दोस्त जिंदा जले

नोएडा में एक चलती कार में आग लग गई, जिसमें सवार दो लोगों की जिंदा जलकर दर्दनाक तरीके से मौत हो गई है. मृतकों की पहचान सोसाइटी के विजय चौधरी और सेक्टर-53 निवासी अनस के रूप में हुई है.

नोएडा सेक्टर 119 में स्थित आम्रपाली प्लैटिनम सोसाइटी के सामने शनिवार की सुबह 6 बजे चलती सफेद रंग की स्विफ्ट कार में आग लग गई. जिसमें सवार दो दोस्तों की जिंदा जलकर मौत हो गई. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची. जिसके बाद आग पर काबू पाया गया. यह दर्दनाक घटना वहां मौजूद सीसीटीवी में भी कैद हुई हैं, जिसमें देखा जा सकता है कि चलती कार में अचानक आग लग जाती है. देखते ही देखते कार आग का गोला बन गई और धूं-धूं कर जलने लगी. पुलिस ने गाड़ी में से दो लोगों के शव बरामद किए हैं. दरअसल कार सवार सोसाइटी निवासी विजय चौधरी (27) और सेक्टर-53 निवासी अनस (27) बचपन के दोस्त थे, दोनों पेशे से इंजीनियर हैं. फिलहाल अनस अपने पिता का फर्नीचर का कारोबार संभाल रहा था. इन दिनों वर्क फ्रॉम होम कर रहा था. शुक्रवार की रात दोनों साथ में दोस्त के बर्थडे पार्टी में शामिल होने गए थे. वहां से लौटने के दौरान शनिवार सुबह 6.08 बजे कार सोसाइटी के बाहर आकर रुकी थी. कुछ देर में कार में आग लग गई. हादसे के बाद जब अनस और विजय के घर मौत की खबर पहुंची, तो परिवार के लोगों में कोहराम मच गया.

परिजनों ने जताई दोनों की हत्या की आशंका

फायर डिपार्टमेंट की तरफ से बताया गया कि कार के एयर कंडिशनर में शार्ट सर्किट की वजह से आग भड़की थी. 6.25 बजे कार में आग की सूचना फायर डिपार्टमेंट को दी गई थी. हालांकि, रेस्क्यू करने के लिए ज्यादा वक्त नहीं मिला. आग भड़कने के बाद कार के डोर ऑटोमैटिक लॉक हो गए थे. कुछ ही मिनटों में तेज धमाका हुआ, जिसके बाद दोनों दोस्त कार के अंदर ही जल गए. उनके शव बुरी तरह से जल चुका था. शिनाख्त होना भी मुश्किल था. बता दें कि पुलिस को दोनों के परिवार तक पहुंचने में खासी मशक्कत करनी पड़ी. कार जली तो नंबर प्लेट तक नहीं बची. सिर्फ यूपी-14 लिखा मिला. गाजियाबाद से रजिस्टर्ड इस गाड़ी को लेकर सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल की गईं. फिर सामने आया कि ये कार विजय की है. जोकि सेक्टर 119 में रहता था. यहां पहुंचने के बाद सेक्टर 53 में रहने वाले अनस का सुराग मिला. क्योंकि दोनों शनिवार को साथ ही निकले थे. परिजनों ने दोनों की हत्या करने की भी आशंका जताई है. परिवार वालों का कहना है कि ऐसा कैसे हो सकता है कि कार में आग लग जाए और उसके अंदर बैठा व्यक्ति बाहर ही न निकल सके. फिलहाल पुलिस भी सभी एंगल से मामले की जांच कर रही है.

बेटे की मौत की खबर सुनकर मां हुईं बेहोश

अनस और विजय, दोनों के घर वाले अब उनकी शादी के लिए रिश्ते तलाश रहे थे. दोनों का करियर भी ठीक चल रहा था. ऐसे में परिवार वाले जल्द से जल्द शादी करने के बारे में सोच रहे थे. शनिवार सुबह घटना की जानकारी होने के बाद जैसे ही अनस की मां सोसाइटी पहुंची तो बेहोश हो गईं. पुलिस कर्मियों ने किसी तरह मृतक की मां और परिवार के लोगों को संभाला. परिजन बार-बार कहते रहे कि अगर उन्हें पता होता कि ऐसा हो जाएगा तो वह अनस को रात में बाहर जाने ही नहीं देते. विजय कार चलाकर सोसाइटी के बाहर आया था. तब क्या पता था कि ऐसा होगा.

आखिरी बार शुक्रवार रात 3.00 बजे परिवार से हुई थी बात

पुलिस के मुताबिक अनस और विजय जब सुबह तीन बजे तक घर नहीं पहुंचे तो उनके परिजनों ने कॉल की. दोनों ने कुछ देर में आने की बात कही. जिस समय कार सोसाइटी के पास पहुंची कोई दुकान नहीं खुली थी. सोसाइटी के गार्ड की शिफ्ट कुछ मिनट पहले ही बदली थी. पुलिस ने घटनास्थल के पास स्थित मेडिकल स्टोर में लगे सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर को भी अपने कब्जे में लिया है. वहीं एडीसीपी ने कहा कि यह स्पष्ट नहीं हो सका कि दोनों दोस्तों ने स्विफ्ट को सोसायटी के बाहर क्यों रोका था. फोरेंसिक की टीम ने घटनास्थल से नमूने इकट्ठा किए हैं. हम जांच कर रहे हैं कि कार में आग कैसे लगी. फिलहाल अभी तक परिजनों के तरफ से कोई शिकायत नहीं आई है.

Also Read: UP: हमीरपुर में तिहरा हत्याकांड से सनसनी, युवक ने की पत्नी और ससुर की बेरहमी से हत्या, खुद को गोली से उड़ाया

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें