1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. petrol diesel price update jharkhand youth invents bike which does not need petrol diesel fuel or electric energy no tension gogo bike learn details here rjv

OMG! इस बाइक में न पेट्रोल की जरूरत और न चार्जिंग का झमेला, खूबियां जानकर खुश हो जाएंगे आप

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
no petrol gogo bike made in jharkhand
no petrol gogo bike made in jharkhand
social media

देशभर में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आग लगी हुई है. लोग आवागमन के लिए वैकल्पिक तरीके तलाश रहे हैं. इसी कोशिश के तहत, झारखंड के युवा वैज्ञानिक कामदेव पान ने एक अनोखी बाइक तैयार की है, जिसे चलाने के लिए न पेट्रोल-डीजल जरूरत है, न ही बिजली की. इस बाइक में साइकिल की तरह पैडल लगे हुए हैं. बनानेवाले ने इसका नाम गोगो बाइक दिया है. इस खास बाइक की बैट्री पैडल मारने से चार्ज होती है, जिसके बाद इससे घूमने का मजा लिया जा सकता है.

न पेट्रोल भरने का झंझट, न मेंटेनेंस का खर्चा

सरायकेला-खरसावां के बासुरदा गांव के रहनेवाले कामदेव पान बताते है कि उन्होंने लगातार बढ़ते पेट्रोल-डीजल की कीमतों को देखते हुए यह गोगो बाइक तैयार की है, जो आपके जेब पर बिलकुल बोझ नहीं डालेगी. कामदेव पान की गोगो बाइक की सबसे बड़ी खूबी यही है कि इसमें न पेट्रोल भरने का झंझट है और न ही मेंटेनेंस का खर्चा.

gogo bike made in jharkhand
gogo bike made in jharkhand
fb

...और ऐसे बना ली बाइक

12वीं तक पढ़े कामदेव पान बताते हैं कि उन्हें बचपन से ही विज्ञान में रुचि रही है और यह बाइक उनकी एक एक्सपेरिमेंट का ही नतीजा है. उन्होंने अपनी एक्सपेरिमेंट की शुरुआत अपने साइकिल में मोटर लगा कर की थी और इसके बाद उनकी जिज्ञासा बढ़ती गयी और आज उन्होंने एक ऐसी बाइक बना ली है, जो सबसे अलग है.

पैडल से भी चलेगी यह बाइक

कामदेव पान बताते हैं कि उनकी इस बाइक की बैटरी फुल चार्ज रहे, तो यह 50-60 किमी तक का माइलेज आराम से दे देती है. यह एक ईको-फ्रेंडली बाइक है, जो न तो धुआं निकालती और न ही आवाज. इसकी टॉप स्पीड 35 kmph तक जाती है. बैटरी खत्म होने के बाद इस बाइक को पैडल की भी मदद से चलाया जा सकता है और यह आपको थकाएगा भी नहीं, क्योंकि इसमें गियर्स लगे हुए हैं.

सिक्योरिटी सिस्टम दमदार

यह साइकि‍ल बाइक अपने अंदर कई खासियत समेटे है. इसका सिक्योरिटी सिस्टम दमदार है. यह बाइक कार की तरह रिमोट की (चाबी) से लॉक, अनलॉक और स्टार्ट होती है. इसमें किसी ने हाथ लगाने की कोशिश की, तो अलार्म बजने लगता है. लॉक होने के बाद पैडल और चक्के जाम हो जाते है. बाइक के आगे प्रोजेक्टर लाइट भी लगी है.

राज्‍य सरकार ने प्रयोग को सराहा

कामदेव पान ने हाल ही में अपनी गोगो बाइक का डेमो झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के सामने दिया. सीएम हेमंत सोरेन इससे इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने खुद इसका ट्रायल लिया. इस बाइक को चलाकर उन्होंने संतोष जताते हुए कहा कि झारखंड के युवाओं में टैलेंट की कमी नहीं है. मुख्यमंत्री ने कामदेव पान उत्कृष्ट प्रयोग की सराहना की. कामदेव पान ने अपनी बाइक की कीमत लगभग 34000 रुपये रखी है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें