1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. indo china border tension and chinese products boycott may lead to reestablish micromax karbonn lava jio lyf indian mobile makers and replace xiaomi vivo oppo

India China Face-Off: चाइनीज प्रोडक्ट्स के बॉयकॉट से Xiaomi, Vivo, OPPO को लगेगा झटका, Micromax, Lava, Intex, Karbonn के लौटेंगे अच्छे दिन

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
india vs china smartphone battle
india vs china smartphone battle
symbolic file photo

India China StandOff, Clash, News, Trade War, Smartphone Battle : भारत के मोबाइल बाजार में Micromax, Lava, Intex, Karbonn जैसे ब्रांड्स की साल 2014 तक धूम थी. आलम यह था कि लोग Samsung, Nokia, Apple के साथ , Lava, Intex, Karbonn के स्मार्टफोन्स भी खरीद रहे थे.

लेकिन इसके बाद स्मार्टफोन बनानेवाली चीनी कंपनियों ने भारतीय बाजार में एंट्री की. Xiaomi, Vivo, OPPO जैसी कंपनियों ने भारतीय बाजार में सस्ते स्मार्टफोन्स लॉन्च करके Micromax, Lava, Intex, Karbonn जैसी भारतीय कंपनियों के लिए चुनौती खड़ी कर दी.

धीरे-धीरे भारतीय स्मार्टफोन कंपनियों का बाजार चौपट हो गया. इन कंपनियों का भारतीय बाजार में मार्केट शेयर लगातार गिरता रहा और इनमें से कई कंपनियां बंद होने के कगार पर पहुंच गयीं. लेकिन अब एक बार फिर से Micromax, Lava और Karbonn ने वापसी की उम्मीद जगायी है.

प्रधामनमंत्री नरेंद्र मोदी PM Modi की Vocal for Local और आत्मनिर्भर भारत की अपील, कोरोना वायरस और मौजूदा भारत-चीन सीमा विवाद (india china tension, india china border dispute, india china border conflict) को लेकर भारत में चीन और चीनी उत्पादों को लेकर उमड़े जनाक्रोश से स्मार्टफोन बनानेवाली भारतीय कंपनियों को फायदा हो सकता है.

दरअसल, Micromax ने पिछले दिनों अपने ट्विटर हैंडल से वापसी करने की बात कही है. इसके अलावा, Karbonn और Lava के बजट स्मार्टफोन्स की भारत में जल्द होनेवाली लॉन्चिंग को लेकर भी खबरें सामने आ रहीं हैं.

पिछले कई महीनों से चीनी प्रोडक्ट्स के बहिष्कार की बात चल रही है. सोशल मीडिया पर चीनी प्रोडक्ट्स के बहिष्कार की बातें सामने आ रहीं हैं. इसका नतीजा यह हुआ कि TikTok जैसे ऐप्स की रेटिंग में भी भारी गिरावट दर्ज की गई.

ऐसे में Micromax, Lava और Karbonn सरीखी भारतीय स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों के पास Xiaomi, Vivo, OPPO आदि से टक्कर लेने और बाजार में दोबारा अपनी जगह बनाने का सुनहरा मौका है.

पहले यह जानने की जरूरत होगी कि चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां भारतीय बाजारों में तीन तरह से अपने स्मार्टफोन्स पहुंचा रहीं हैं.

  • चीनी कंपनियां चीन में स्मार्टफोन्स असेंबल कर उसे भारतीय बाजार में एक्सपोर्ट करके बेच रहीं हैं.

  • चीन से पार्ट्स मंगवाकर कुछ चीनी कंपनियां उसे भारत के असेंबलिंग प्लांट में असेंबल करके मेक फॉर इंडिया के तहत बाजार में उपलब्ध करा रहीं हैं.

  • इसके अलावा, कुछ चीनी कंपनियां भारत में ही R&D (रिसर्च एंड डेवलपमेंट) सेंटर के जरिये अपने प्रोडक्ट्स डिजाइन करती हैं, पार्ट्स बनवातीं हैं और फिर उन्हें भारत में भी बेचने के साथ ही एक्सपोर्ट भी करतीं हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि OPPO, OnePlus जैसी कंपनियों ने भारत में ही अपने R&D सेंटर बना लिये हैं और अपने स्मार्टफोन्स को भारत में ही डिजाइन करती और बेचती हैं.

​हालांकि, भारतीय स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां को भी ज्यादातर रॉ मैटेरियल्स के लिए चीन पर निर्भर रहना होगा. लेकिन, इन कंपनियों के स्मार्टफोन्स पूरी तरह से भारत में ही डिजाइन और असेंबल किये जाएंगे. इन कंपनियों में Micromax, Karbonn Mobile और Lava के अलावा, Videocon, Spice Mobile, Onida Mobile, iBall, Intex, Xolo, Celkon Mobiles और Jio LYF जैसी भारतीय स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां हैं, जिनके पास भारत और चीन के मौजूदा तनाव के बाद भड़के जनाक्रोश के बीच एक बार फिर से वापसी करने का सुनहरा मौका है.

Posted By - Rajeev Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें