27.9 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Mamata Banerjee : करीब ढाई महीने बाद ममता बनर्जी पहुंची नबन्ना

Mamata Banerjee : भारत निर्वाचन आयोग ने चुनाव के दौरान आचार संहिता के बाद राज्य के कई स्थानों पर पुलिस प्रशासन को हस्तांतरित कर दिया. विशेष रूप से संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस अधीक्षकों, पुलिस स्टेशन आईसी, ओसी को स्थानांतरित कर दिया गया था.

Mamata Banerjee : लोकसभा चुनाव खत्म हो चुके हैं. अब तक,ममता बनर्जी (Mamata Banerjee ) उम्मीदवारों के लिए प्रचार करने के लिए एक जिले से दूसरे जिले का दौरा कर रही थी. कलकत्ता में आखिरी दौर का मतदान 1 जून को था. इससे पहले ममता बनर्जी कोलकाता लौट आईं और 4 जून को चुनाव नतीजे आने के बाद वह प्रशासनिक काम पर लगी है. करीब ढाई महीने बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी गुरुवार को नबन्ना पहुंची. सूत्रों के मुताबिक, चुनाव के चलते लंबे समय से आचार संहिता लागू होने के कारण पुलिस और प्रशासनिक स्तर पर कई फेरबदल किया है. ऐसे में इन मुद्दों पर पर चर्चा हा सकती है.

प्रशासनिक स्तर पर अधिकारियों को वापस उनकी जगह पर लाने की कोशिशें शुरु

भारत निर्वाचन आयोग ने चुनाव के दौरान आचार संहिता के बाद राज्य के कई स्थानों पर पुलिस प्रशासन को हस्तांतरित कर दिया. विशेष रूप से संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस अधीक्षकों, पुलिस स्टेशन आईसी, ओसी को स्थानांतरित कर दिया गया था. कुछ लोगों को मतदान से पूरी तरह दूर रखा जाता है. खुद ममता बनर्जी ने कई सार्वजनिक सभाओं से इसका विरोध किया था. अब जब आदर्श आचार संहिता (एमसीसी) हट गई है तो प्रशासनिक स्तर पर उन अधिकारियों को वापस उनकी जगह पर लाने की कोशिशें शुरू हो गई हैं. मुख्यमंत्री ने संभवत: इस दिन उन पर चर्चा की.

Narendra Modi : नरेन्द्र मोदी ने कहा, बंगाल की दुर्दशा के लिए कांग्रेस-वाम-तृणमूल जिम्मेदार

नवनिर्वाचित सांसदों के साथ शनिवार को बैठक करेंगी ममता

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल से तृणमूल कांग्रेस के नवनिर्वाचित 29 सांसदों को लेकर शनिवार को कालीघाट स्थित अपने आवास पर बैठक करेंगी. इस मौके पर पार्टी महासचिव अभिषेक बनर्जी भी मौजूद रहेंगे. उन्होंने डायमंड हार्बर सीट से भारी मतों से जीत हासिल की है. तृणमूल सूत्रों के मुताबिक, शनिवार की शाम यह बैठक होगी. पार्टी के सभी नवनिर्वाचित सांसदों को बैठक में शामिल होने के लिए कहा गया है. नवनिर्वाचित सांसदों में पार्थ भौमिक मंत्री हैं. कई विधायक भी सांसद बने हैं. उन्हें विधायक पद से इस्तीफा देना पड़ेगा. इसके बाद पार्टी क्या कदम उठायेगी, इस पर खास तौर पर चर्चा की जायेगी.

संदेशखाली में हिंसा रोकने को राज्य सरकार तत्काल उठाये कदम : राज्यपाल

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें