25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

लॉकेट चटर्जी की धमकी : नहीं होने दी जायेगी मतगणना

हुगली लोकसभा सीट : मतगणना के कार्य में संविदा कर्मियों की मदद लेने पर बवाल

हुगली लोकसभा सीट : मतगणना के कार्य में संविदा कर्मियों की मदद लेने पर बवाल

हुगली. हुगली लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की प्रत्याशी लॉकेट चटर्जी ने चुनाव आयोग के अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि संविदा सरकारी कर्मचारियों को मतगणना कार्य में लगाया गया है, जो सक्रिय रूप से तृणमूल कांग्रेस के विभिन्न पदों पर हैं. वे सभी बलागढ़ विधानसभा क्षेत्र के लिए इवीएम ले जाने और ले आने के साथ-साथ अन्य तरह की ड्यूटी तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को दी गयी है. यह निर्वाचन नियमों के खिलाफ है. शुक्रवार को लॉकेट चटर्जी ने हुगली के अतिरिक्त जिलाधिकारी तरुण भट्टाचार्य से मुलाकात कर ऐसे लोगों की सूची जमा की. लॉकेट ने कहा कि यह तो सिर्फ एक बलागढ़ विधानसभा की सूची है और अन्य विधानसभा में क्या हुआ होगा? सोचने की बात है. एडीएम ने लॉकेट चटर्जी को आश्वस्त किया और कहा कि इस विषय की जानकारी उच्चस्तरीय अधिकारी को दी जायेगी. लॉकेट ने कहा कि इसे रोकने के लिए कुछ नहीं किया गया, तो काउंटिंग बंद करवा दी जायेगी. इवीएम खोलने की इजाजत नहीं दी जायेगी. इससे पहले हावड़ा के भाजपा प्रत्याशी रथिन चक्रवर्ती भी मतगणना कार्य में संविदा कर्मियों लगाने पर आपत्ति दर्ज की थी. लॉकेट पर कानूनी कार्रवाई हो : असित मजूमदार

हुगली. चुंचुड़ा के विधायक असित मजूमदार ने चुंचुड़ा में प्रेस काॅन्फ्रेंस करके भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी पर कानूनी कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने कहा कि लॉकेट ने एडीएम के पास काउंटिंग रुकवाने के लिए पत्र दिया है. साथ ही उन्होंने एक सरकारी कागजात पेश किया है और बताया है कि मतगणना के लिए कौन कर्मचारी नियुक्त किया गया है. यह कागजात उनके पास कैसे पहुंचा. इसकी जांच होनी चाहिए और उन्हें सरकारी कागजात चोरी करने के मामले में उन पर कार्रवाई होनी चाहिए, वह जिला अधिकारी मुक्ता आर्य से कार्रवाई करने की मांग करेंगे. अगर सरकारी विभाग का कोई कर्मचारी यह कागजात उन तक पहुंचाया है, तो उन पर भी कार्रवाई होनी चाहिए. लॉकेट के खिलाफ बोलते हुए उन्होंने यह भी कहा कि लॉकेट के माथे पर एक्स एमपी लिखा जा चुका है. आज जो कुछ भी कर रही हैं, वह नौटंकी है. इसके पहले एचआइटी कॉलेज के सामने प्रशासन को चार घंटे तक बिना किसी कारण के व्यस्त रखी थीं, ऐसा उनको नहीं करना चाहिए था. वह हर बात पर मतगणना बंद करने की बात कर रही हैं और कह रही हैं कि वह किसी अवस्था में काउंटिंग नहीं होने देंगी.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें