27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

WB News : उत्तर 24 परगना के बेलघरिया में व्यवसायी पर हुई अंधाधुंध फायरिंग, कांड के तार बिहार से जुड़े

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना के बेलघरिया में दिनदहाड़े कुछ बाइक सवारों ने एक व्यवसायी पर आठ राउंड फायरिंग की.

बैरकपुर, मनोरंजन सिंह : उत्तर 24 परगना के बेलघरिया थानांतर्गत रथतला मोड़ इलाके में बीटी रोड पर दिनदहाड़े बाइक सवार बदमाशों द्वारा कार से कोलकाता जा रहे एक व्यवसायी पर आठ राउंड फायरिंग के मामले में बिहार से लिंक जुड़ा पाया गया है.

क्या है मामला

जांच में पता चला है कि बिहार के बेउर जेल से बैठ कर कुख्यात गैंगस्टर सुबोध सिंह ने फोन कर पहले 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी, लेकिन रंगदारी नहीं देने पर फोन को नजरअंदाज करने पर फायरिंग की घटना हुई. जांच में पुलिस को पता चला है कि इस हमले के पीछे बिहार के बेउर जेल में बंद गैंगस्टर सुबोध सिंह के गैंग का हाथ है.

सुबोध सिंह ने 50 लाख की रंगदारी मांगी थी

गाड़ी का शोरूम, रेस्तरां, होटल व प्रमोटिंग के कारोबार से जुड़े व्यवसायी अजय मंडल को कुछ माह पहले सुबोध सिंह ने फोन कर 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी. इसके बाद कई बार फोन करने पर भी अजय मंडल ने उसे कोई महत्व नहीं देते हुए फोन का जवाब ही नहीं दिया. इसके बाद घटना से तीन दिन पहले भी सुबोध सिंह ने फोन किया था. उस समय भी वह फोन नहीं उठाये थे. हालांकि इस घटना में हमलावर स्थानीय बदमाश है. हालांकि घटना का मूल माफिया सुबोध सिंह ही है, ऐसा तब प्रमाण हो गया, जब घटना के एक घंटे के अंदर ही थाने में बैठे अजय मंडल को पुन: सुबोध सिंह का फोन आया. तब अजय थाने में बैठे थे. हालांकि उसने वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकाल (वीओइपी) के जरिये फोन किया था.

फोन कर दी थी धमकी

यहां तक की उसने अगली बार के लिए सतर्क रहने की धमकी दी. अजय मंडल ने बताया कि घटना के बाद सुबोध सिंह ने फोन कर कहा कि उसने इस बार बचा लिया है. अगर बात नहीं सुने तो कुछ भी हो सकता है. इस बार उसने बचा लिया. अगर मारना रहता तो शोरूम में ही घुसकर मार दिया होता. उसके साथ समझौता कर काम करे, नहीं तो कुछ भी हो सकता है. अजय मंडल ने दावा किया कि फोन पर उसने यह भी कहा कि उसके गैंग के लोग है, अगर उनकी बात नहीं सुना, तो वे लोग हर पल नजर रख रहे है. कुछ भी हो सकता है. अगर उनकी बात सुनता है, तो कोई कुछ नहीं करेगा.

क्या थी घटना

मालूम रहे कि बैरकपुर के नोनाचंदनपुर निवासी अजय मंडल शनिवार दोपहर अपने आगरपाड़ा स्थित गाड़ी के शोरूम से कार से निकल कर डोमजूर में एक निर्माणाधीन स्कूल देखने के लिए जा रहे थे, इसी दौरान बेलघरिया थानांतर्गत कमरहट्टी नगरपालिका के नजदीक रथतला मोड़ इलाके में बीटी रोड पर ही बाइक से हेलमेट पहने हुए उनका पीछा कर आ रहे दो बदमाशों में पीछे बैठा शख्स ने फिल्मी अंदाज में व्यवसायी को मारने के लिए गोलियां बरसायीं. सभी गोलियां कार में लगीं. अजय मंडल सामने वाली सीट पर ड्राइवर के पास में ही बैठे थे. बदमाशों ने गाड़ी पर आठ राउंड गोलियां चलाये और फरार हो गये. प्रत्यक्षदर्शियों ने दावा किया कि आठ राउंड गोलियां चली हैं. इधर, कार में पांच गोली लगी. व्यवसायी की बाल बाल जान बच गयी. वह तुरंत कार से ही बेलघरिया थाना पहुंचे.

टीटागढ़ से मिला हमला में इस्तेमाल बाइक

इधर, पुलिस ने फिलहाल तीन लोगों को हिरासत में लिया है. उनसे पूछताछ की जा रही है. पुलिस ने टीटागढ़ से एक बाइक जब्त किया है, जिसे हमलावर घटना के बाद टीटागढ़ में छोड़ कर भाग गये है. पुलिस उक्त बाइक के जरिये उन हमलावरों का पता लगा रही है.

घटना के बाद से सहमे है पीड़ित परिवार

फायरिंग की घटना के बाद से ही बैरकपुर के नोनाचंदनपुकुर बाजार इलाके के निवासी अजय मंडल समेत उनके परिवार वाले सहमे हुए है. घटना से अजय मंडल का परिवार पूरी तरह से आतंकित है. पीड़ित परिवार के लोगों का कहना है कि डर के मारे उनका व्यवसाय भी नहीं हो पा रहा और वे लोग चैन से रह भी नहीं पा रहे है. अजय मंडल की बेटी का कहना है कि ऐसा हाल हो गया है कि वे लोग डरे हुए है. बंगाल के बाहर ऐसा नहीं होता है. घटना के बाद से परिवार वालों ने खुद को घर में कैद कर लिये है.

जब से व्यवसाय कर रहे हैं तब से धमकी देकर वसूले जा रहे पैसे

रविवार को अजय मंडल ने मीडिया को बताया कि 2003 में जब से उन्होंने टीटागढ़ में प्रमोटिंग का काम शुरू किया, तब से ही शहजादा नाम के एक व्यक्ति ने उनसे कई बार पैसे की मांग की. यहां तक की उन्होंने उसे पैसे भी दिये. यहां तक की कई बार पैसे नहीं दे पाने पर टीटागढ़ के निर्माणाधीन इमारतों के सामने अथवा आगरपाड़ा में उनके बाइक के शोरूम के सामने बमबाजी किया जाता था. शनिवार की घटना से वह डरे हुए है. अजय मंडल ने दावा किया कि जब वह बेलघरिया थाने में थे, तब भी बिहार से एक धमकी भरा फोन आया था. डर से परिवार वाले सो भी नहीं पा रहे है. इधर, अजय मंडल के गाड़ी चालक निरंजन सिंह ने कहा कि शनिवार की घटना से आतंकित है. सो भी नहीं पाये है.

पूर्व सांसद पहुंचे पीड़ित के घर

इधर, पीड़ित परिवार से मिलने बैरकपुर के पूर्व सांसद अर्जुन सिंह पहुंचे. उन्होंने हर संभव मदद का आश्वासन दिया. श्री सिंह ने कहा कि क्रिमिनल सुबोध सिंह का यहां की पुलिस से बराबर बात होती रहती है. कई पुलिस वाले से अपराधी सुबोध सिंह की बात होती है. पुलिस की मदद से ही यहां गुंडाराज चल रहा है. पुलिस गुंडों को प्रोटेक्शन देती है.

क्या कहते है पुलिस अधिकारी

बैरकपुर के सीपी आलोक राजोरिया ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से व्यवसायी से रंगदारी मांगी जा रही थी. हालांकि उन्होंने इस बाबत शिकायत नहीं की थी. पुलिस का अनुमान है कि पैसे नहीं देने के कारण ही किसी ने हमला किया है. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. पुलिस हमलावरों का पता लगा रही है.

Also Read : WB News : भूतनाथ मंदिर के पास अचानक लुढ़ककर गंगा नदी में समायी कार, गाड़ी में बैठा था किशोर

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें