1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. doctor cheated rs 52 lakhs in name of getting admission in pg course mtj

West Bengal News: पीजी कोर्स में प्रवेश दिलाने के नाम पर डॉक्टर से 52 लाख की हुई ठगी

गुरुग्राम के सेक्टर-चार के निवासी शुभांशु वत्स ने शिकायत में बताया कि उनके मोबाइल फोन पर कोलकाता के जादवपुर में स्थित केपीसी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में प्रवेश दिलाने के लिए एक मैसेज आया था.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कोलकाता में डॉक्टर से हुई चीटिंग
कोलकाता में डॉक्टर से हुई चीटिंग
Image for Representation Only

गुरुग्राम/ कोलकाता: कोलकाता के जादवपुर इलाके में स्थित एक मेडिकल कॉलेज में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में प्रवेश दिलाने के बहाने एमबीबीएस स्नातक से कथित तौर पर 52 लाख रुपये की ठगी का मामला सामने आया है. ठगी का शिकार होने के बाद पीड़ित ने गुरुग्राम में स्थानीय थाने में इसकी शिकायत दर्ज करायी है. इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

क्या है मामला

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, गुरुग्राम के सेक्टर-चार के निवासी शुभांशु वत्स ने शिकायत में बताया कि उनके मोबाइल फोन पर कोलकाता के जादवपुर में स्थित केपीसी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में प्रवेश दिलाने के लिए एक मैसेज आया था. मैसेज में दिये गये नंबर पर फोन करने पर किसी सतीश मलिक नामक व्यक्ति ने उनसे उनके दस्तावेज व्हाट्सएप पर और बाद में ई-मेल पर भेजने को कहा.

पीड़ित का आरोप है कि 13 मार्च को मलिक ने उनसे मेडिकल कॉलेज में दाखिले के लिए 23 लाख रुपये का मांग ड्राफ्ट (डीडी) मांगा. हालांकि, उन्होंने सिर्फ आठ लाख रुपये का डीडी भेजा. इसके तीन दिन बाद जब वह कोलकाता स्थित उक्त कॉलेज में गये तो मलिक ने वहां उनका परिचय तीन लोगों से करवाया, जिन्होंने उनका डीडी वापस कर दिया और उन्हें प्रबंधन कोटे के तहत प्रवेश के लिए किसी डॉक्टर एनपी दत्ता को 50 लाख रुपये देने को कहा.

50 लाख लेकर थमाया फर्जी प्रवेश पत्र

पीड़ित ने शिकायत में आगे बताया कि दत्ता 19 मार्च को गुरुग्राम आये और उनसे मांगे गये 50 लाख रुपये लेकर एक प्रवेश पत्र की तरह दिखनेवाला कागज उन्हें दिया, जिसे उक्त मेडिकल कॉलेज ने जांच के बाद फर्जी बताया. इसके बाद उन्होंने बुध सिंह नामक एक व्यक्ति के बैंक खाते में रजिस्ट्रेशन शुल्क के रूप में दो लाख रुपये अलग से जमा कराये. जिसके बाद से सभी आरोपियों से अपने संपर्क का सारा साधन बंद कर दिया. जिसके बाद उन्हें ठगी का पता चला.

गुरुग्राम पुलिस ने बताया कि उनके विभाग के आर्थिक अपराध शाखा (इओडब्ल्यू) की टीम ने इसकी जांच शुरू कर दी है. सेक्टर-नौ थाने में पांच लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी और आपराधिक साजिश से जुड़े मामलों के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी है. प्राथमिक जांच में सभी आरोपियों के फोन बंद पाये गये हैं. सेक्टर-नौ थाने के एसएचओ मनोज कुमार ने कहा कि, आरोपियों को पकड़ने के लिए कोलकाता पुलिस से संपर्क किया गया है. जल्द इस मामले से जुड़े गिरोह के सभी आरोपियों को वह गिरफ्तार कर लेंगे.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें