25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

पार्षदों के कॉल रिसीव नहीं करने पर अफसरों व ठेकेदारों पर होगी कार्रवाई

कोलकाता में माॅनसून दस्तक दे चुका है. मौसम विभाग की ओर से इस वर्ष माॅनसून के दौरान महानगर में भारी बारिश की आंशका जतायी गयी है.

बैठक के लिए 54 पार्षदों को मिला था आमंत्रण, सिर्फ 17 ही हुए शामिल

संवाददाता, कोलकाता

कोलकाता में माॅनसून दस्तक दे चुका है. मौसम विभाग की ओर से इस वर्ष माॅनसून के दौरान महानगर में भारी बारिश की आंशका जतायी गयी है. ऐसे में भारी बारिश से कोलकाता की सड़कों पर बारिश का पानी जम सकता है. इस आशंका के मद्देनजर सप्ताह के पहले ही दिन सोमवार को कोलकाता नगर निगम में सीवरेज व ड्रेनेज विभाग की महत्वपूर्ण पंपिंग स्टेशनों और अस्थायी पंपों को लेकर एक आपातकालीन बैठक हुई. विभाग के मेयर परिषद के सदस्य तारक सिंह के नेतृत्व में यह बैठक हुई. ड्रेनेज विभाग के डायरेक्टर जनरल (डीजी), सिविल इंजीनियरिंग विभाग के डीजी समेत अन्य अधिकारियों के साथ 17 पार्षद भी इस बैठक में शामिल थे. खास बात यह रही की बैठक में 54 पार्षदों को आमंत्रित किया गया था, पर मात्र 17 ही पहुंचे थे.

ऐसे वार्ड जहां बारिश में सड़कों पर पानी भर जाता है और जल निकासी के लिए पंप लगायी जाती है, इसके बावजूद बैठक में पार्षदों की उपस्थिति कम होने पर तारक सिंह ने नाराजगी जतायी. बैठक समाप्त होने पर श्री सिंह ने कहा कि कुल 579 पोर्टेबल पंप हैं. इन पंपों की सप्लाई ठेकेदार निगम को करते हैं. जबकि पंपों को चलाने के लिए तेल और ऑपरेटर की सप्लाई निगम करता है, पर बैठक में कई पार्षदों की शिकायत थी कि बारिश के दौरान पंप ठेकेदार उनके फोन रिसीव नहीं करते. निगम के ड्रेनेज विभाग के कुछ इंजीनियरों के खिलाफ भी इसी तरह के आरोप पार्षदों ने लगाये.

इन शिकायतों को सुनने पर तारक सिंह ने बताया कि ड्रेनेज विभाग के इंजीनियर यदि पार्षदों के फोन रिसीव नहीं करते हैं तो उन्हें शोकॉज किया जायेगा. साथ ही कहा कि कई ऐसे ठेकेदार हैं, जो पंप चलाने में आनाकानी करते हैं. उन्होंने बताया कि ऐसे ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. जरूरत पड़ने पर 15 दिन का पैसा काट लिया जायेगा. उन्होंने बताया कि आज भी एक ठेकेदार का पैसा काटा गया है. अस्थायी पंपों के ठेकेदारों पर जुर्माना लगाया जायेगा और उन्हें ब्लैक लिस्टेड कर दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि बारिश के दौरान शहर को जल-जमाव मुक्त रखने के लिए कुछ कदम उठाये गये हैं.

एक जुलाई को निगम में सिंचाई विभाग के साथ बैठक: तारक सिंह ने निगम में संवाददाताओं को बताया कि एक जुलाई को कोलकाता नगर निगम में सिंचाई मंत्री और मेयर की अहम बैठक होगी. बैठक में माॅनसून के दौरान शहर से बारिश की पानी निकालने सहित अन्य विषयों पर विस्तार से चर्चा होगी.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें