21.1 C
Ranchi
Sunday, February 25, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeराज्यउत्तर प्रदेशUP : समाधान पोर्टल से हो रहा है छात्रों की समस्या का निस्तारण, 1 महीने में अपलोड कुल 1847...

UP : समाधान पोर्टल से हो रहा है छात्रों की समस्या का निस्तारण, 1 महीने में अपलोड कुल 1847 मामलों में 153 लंबित

यूपी बोर्ड की स्टूडेंट्स की सुविधा के लिए शुरू किया गया 'समाधान' पोर्टल एक महीने पहले ही शुरू हुआ था. इस पोर्टल पर कुल 1847 शिकायत अपलोड कराए गए हैं, जिनमें से 1694 शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है.

यूपी बोर्ड की परीक्षाओं में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स की सुविधा के लिए शुरू किया गया ‘समाधान’ पोर्टल उनकी हर समस्या का समाधान कर रहा है. एक महीने पहले ही शुरू हुए इस पोर्टल पर कुल 1847 शिकायत अपलोड कराए गए हैं, जिनमें से परिषद के सभी क्षेत्रीय कार्यालयों के माध्यम से 1694 शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है. मात्र 153 शिकायत ऐसे है जो स्टूडेंट्स द्वारा प्रपत्रों को पोर्टल पर अपलोड न करने के कारण लंबित हैं. बता दें कि 6 जनवरी 2024 को स्टूडेंट्स के प्रमाण पत्रों की त्रुटियों में सुधार करने, प्रमाण-पत्र, अंकपत्र की दूसरी प्रतिलिपि जारी करने, परीक्षाफल त्रुटियों का सुधार करने एवं उनकी अलग-अलग प्रकार की शिकायतों का कम समय में निस्तारण सहित कुल 13 प्रकार की सुविधाएं प्रदान करने के लिए माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा अभिनव पोर्टल लांच किया गया था. माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव दिव्यकांत शुक्ल के अनुसार छात्रहित से जुड़े इस पोर्टल पर प्रकरणों के निस्तारण की प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है. इसके साथ ही परिषद के समस्त क्षेत्रीय कार्यालयों के क्षेत्रीय सचिवों द्वारा इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए इसके लिए उनसे समय-समय पर स्पष्टीकरण भी मांगा गया है. इसका प्रतिफल यह रहा कि इतने कम समय में इतने अधिक प्रकरण प्राप्त हुए एवं उनका समयबद्ध निस्तारण हुआ. इससे स्पष्ट है कि इस पोर्टल से अधिकाधिक स्टूडेंट्स एवं अभिभावक लाभान्वित हो रहे हैं. उन्होंने बताया कि इन सभी 13 सेवाओं में 4 को छोड़कर मात्र 15 दिन में समस्याओं का समाधान किया जा रहा है. वहीं शेष 4 सेवाओं को 30 दिन में निस्तारित किया जा रहा है. इनमें मूल प्रमाण पत्र जारी करना, प्रमाण पत्र की द्वितीय प्रतिलिपि जारी करना, संशोधित प्रमाण पत्र/जन्म तिथि में संशोधन करना एवं संसोधित अंक पत्र/जन्मतिथि में संशोधन करना शामिल है.

Also Read: Global Investors Summit 2023 : भूमि पूजन समारोह 19 फरवरी को, पीएम मोदी हो सकते हैं शामिल, धरातल पर उतरेंगे MOU
वाराणसी से अपलोड हुए सबसे अधिक शिकायत

बता दें कि क्षेत्रीय कार्यालयवार प्राप्त प्रकरणों पर गौर करें तो मेरठ से कुल 363 शिकायत अपलोड किए गए, जिनमें से 338 का निस्तारण किया गया है जबकि मात्र 25 लंबित हैं. इसी तरह बरेली से 124 शिकायत दर्ज हुए, जिनमें से 115 का निस्तारण किया गया और सिर्फ 9 लंबित हैं. प्रयागराज से 500 शिकायत मिले जिनमें 453 का निस्तारण हुआ और सिर्फ 47 लंबित हैं. वहीं वाराणसी से सबसे अधिक 750 शिकायत अपलोड किए गए, जिनमें 691 का निस्तारण किया जा चुका है और मात्र 59 शेष हैं. वहीं गोरखपुर से 110 शिकायत प्राप्त हुए, जिनमें से 97 का समाधान हो चुका है तो वहीं मात्र 13 लंबित हैं.

Also Read: UP Board Exam: यूपी बोर्ड के संवेदनशील परीक्षा केंद्रों की निगरानी करेगी एलआईयू, धारा 144 लगेगी
2 दिन में केंद्र व्यवस्थापक और स्टेटिक मजिस्ट्रेट की नियुक्ति के निर्देश

बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों को लेकर सोमवार को संपन्न हुई समीक्षा बैठक में माध्यमिक शिक्षा निदेशक महेंद्र देव एवं माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने सभी जनपदों में अनिवार्य रूप से 2 दिन के अंदर केंद्र व्यवस्थापक, स्टेटिक मजिस्ट्रेट तथा सेक्टर मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट की नियुक्ति करने के निर्देश दिए हैं. बैठक में 24 जनपदों के जिला विद्यालय निरीक्षकों ने बताया था कि उनके जनपद में दो दिन में जिलाधिकारी के माध्यम से स्टेटिक मजिस्ट्रेट की नियुक्ति कर ली जाएग. इसके अलावा बैठक में सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने सभी क्षेत्रीय सचिवों को निर्देश दिया है कि परीक्षा केंद्रों पर की जाने वाली सभी व्यवस्थाओं की नियमित समीक्षा कर प्रतिदिन की स्थिति से अवगत कराया जाए.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें