24.1 C
Ranchi
Saturday, March 2, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

UP ATS के ASP राहुल श्रीवास्तव दुष्कर्म के मामले में सस्पेंड, अबॉर्शन कराने का भी आरोप, विभागीय जांच के आदेश

यूपी एटीएस में तैनात एडिशनल एसपी राहुल श्रीवास्तव को दुष्कर्म के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया है. साथ ही विभागीय जांच के भी आदेश दिए गए हैं. गोमतीनगर थाने में इनके खिलाफ एक छात्रा ने दुष्कर्म व अबॉर्शन कराने की धारा में एफआईआर दर्ज कराई थी.

यूपी एटीएस में तैनात एडिशनल एसपी राहुल श्रीवास्तव को दुष्कर्म के आरोप में पूर्व डीजीपी की संस्तुति पर शासन की तरफ से सस्पेंड कर दिया गया है. साथ ही विभागीय जांच के भी आदेश दिए गए हैं. दूसरी तरफ पीड़िता ने अपने मजिस्ट्रेट के सामने बयान (164) में सभी आरोपों को दोहराया है. यूपी पुलिस के सोशल मीडिया प्रभारी एएसपी राहुल श्रीवास्तव पर एक छात्रा ने गोमतीनगर थाने में पांच जनवरी की रात दुष्कर्म व जबरन अबॉर्शन कराने की धारा में एफआईआर दर्ज कराई थी. लखनऊ पुलिस इस मामले में कभी भी गिरफ्तारी कर सकती है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक पीड़िता ने अपने मजिस्ट्रेट के सामने दिए बयान में एफआईआर में दर्ज शिकायत को आधार बनाते हुए बयान दर्ज कराए हैं. जिसमें कहा है कि लखनऊ के चार बड़े होटल में उसके साथ ब्लैकमेल कर दुष्कर्म किया गया. वाराणसी और दिल्ली में भी एक एक होटल में ले जाया गया. जिसके सबूत भी दिए हैं. वहीं पुलिस भी विवेचना के दौरान उन्हें इकट्ठा कर रही है. पीड़िता ने मुख्यमंत्री से लेकर पुलिस अधिकारियों तक आरोपी राहुल श्रीवास्तव के पद और पहुंच का उपयोग कर जांच को प्रभावित करने की शिकायत की थी. जिसके बाद मामला तूल पकड़ने पर गुपचुप तरीके से राहुल श्रीवास्तव को सस्पेंड कर दिया गया है. हालांकि, मुकदमा दर्ज होते ही उनको पुलिस मुख्यालय आने से रोक दिया गया था. जिसके बाद वह लंबी छुट्टी पर चले गए और खुद की बेहगुनाही साबित करने के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. दूसरी तरफ राहुल के सस्पेंड होने और विभागीय जांच के आदेश के बाद उनकी गिरफ्तारी होना तय माना जा रहा है.

Also Read: Kanpur News : शादी में शामिल होने आये युवक की पड़ोस में बंधी बकरियां आईं पसंद, अगले दिन हो गईं गायब
इस क्लीनिक में हुआ था अबॉर्शन

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पीड़िता ने विवेचना के दौरान बताया है कि पीड़िता का राहुल ने विनय खंड स्थित एक क्लीनिक में अबॉर्शन कराया है. जहां एक डायग्नोस्टिक सेंटर भी है. इस पूरे प्रकरण में दो पुलिस वालों और कुछ अन्य लोगों ने भी इसका फायदा उठाया. पुलिस पीड़िता के बयान के आधार पर अन्य आरोपियों और क्लीनिक की भूमिका की जांच कर रही है. गौरतलब है कि पीडिता ने पांच जनवरी की रात यूपी पुलिस के सोशल मीडिया प्रभारी एएसपी राहुल श्रीवास्तव पर दुष्कर्म और जबरन अबॉर्शन और धमकी देने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था. छात्रा का आरोप था कि सिविल सर्विसेज की तैयारी के दौरान राहुल श्रीवास्तव ने पढ़ाई की मदद के नाम पर नजदीकी बढ़ाई. उसके बाद नोट्स उपलब्ध कराने के नाम पर होटल बुलाया. जहां नशीला पदार्थ खिलाकर उसके के साथ दुष्कर्म कर अश्लील वीडियो बनाया. जिससे ब्लैकमेल कर शारीरिक शोषण करता रहा. वहीं प्रेग्नेंट होने पर अबॉर्शन भी करवाया. जिसमें उसकी पत्नी से लेकर साथियों तक ने साथ दिया है.

Also Read: एएसपी राहुल श्रीवास्तव को दुष्कर्म मामले में हाईकोर्ट से मिली राहत, गिरफ्तारी पर 17 जनवरी तक रोक, जानें मामला
Also Read: UP News: एएसपी राहुल श्रीवास्तव पर दुष्कर्म और अबॉर्शन का FIR दर्ज, पुलिस ने कही यह बात

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें