25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

UP News : बेसिक स्कूलों में स्टूडेंट्स का 15 फरवरी से होगा डिजिटल पंजीकरण, अब ऑनलाइन दर्ज होगी अटेंडेंस

उत्तर प्रदेश महानिदेशक स्कूल शिक्षा कंचन वर्मा ने सभी बीएसए, बीईओ, डीसीटी, डीसी को निर्देश दिया है कि 15 फ़रवरी से सभी जिलों के परिषदीय प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, कम्पोजिट विद्यालयों व कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में स्टूडेंट की उपस्थिति और दोपहर का भोजन पंजिका का डिजिटल रूप ही मान्य होगा.

उत्तर प्रदेश में बेसिक के परिषदीय प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, कंपोजिट व कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में स्टूडेंट्स की रियल टाइम अटेंडेंस 15 फरवरी से अपडेट करनी होगी. इसी के साथ दोपहर का भोजन की भी डिजिटल हाजिरी के माध्यम से ही मान्य होगी. इसे लेकर बेसिक शिक्षा विभाग ने सूबे के सभी बीएसए को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं. इसमें कहा गया है कि शिक्षक 1 अप्रैल से सितंबर तक स्कूल दिनों में बच्चों की उपस्थिति सुबह 8.00 से 9.00 बजे के बीच और एक अक्टूबर से 31 मार्च तक सुबह 9.00 से 10.00 बजे तक टैबलेट/ स्मार्टफोन से दर्ज करेंगे. वहीं एमडीएम के लाभार्थी, मेन्यू, खाद्यान्न आदि का विवरण भी प्रतिदिन भोजन के बाद अनिवार्य रूप से अपडेट करेंगे. इसके लिए एक अप्रैल से 31 सितंबर तक दोपहर 12.00 बजे और 1 अक्टूबर से 31 मार्च तक 1.30 बजे का समय तय किया गया है. प्रदेश में शिक्षकों की रियल टाइम अटेंडेंस समेत विद्यालय में प्रयोग होने वाले लगभग एक दर्जन रजिस्टर को डिजिटल करने के प्रक्रिया पिछले कुछ महीने से चल रही है.

Also Read: Bharat Ratna : जयंत सिंह ने कहा-दिल जीत लिया, किसानों के नेता थे चौधरी चरण सिंह,जानें कैसे बने थे प्रधानमंत्री
बेसिक विद्यालयों में दो-दो टैबलेट उपलब्ध

विभाग ने पायलट प्रोजेक्ट के रूप में राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के सात जिलों में यह व्यवस्था प्रभावी करने के निर्देश दिए. इसमें शिक्षकों की उपस्थिति दर्ज कराए जाने का विरोध शुरू हुआ. इसकी वजह से अन्य चीजें भी ठंडे बस्ते में चली गईं. इसी बीच शासन ने प्रदेश के सभी बेसिक विद्यालयों में दो-दो टैबलेट उपलब्ध करा दिए हैं. इसी क्रम में महानिदेशक स्कूल शिक्षा कंचन वर्मा ने सभी बीएसए, बीईओ, डीसीटी, डीसी को निर्देश दिया है कि 15 फ़रवरी से सभी जिलों के परिषदीय प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, कम्पोजिट विद्यालयों व कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में स्टूडेंट की उपस्थिति और दोपहर का भोजन पंजिका का डिजिटल रूप ही मान्य होगा. उन्होंने कहा है कि पूर्व में इसके लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण भी दिया गया है.

Also Read: Mauni Amavasya 2024: मौनी अमावस्या आज, ब्रह्म मुहूर्त में लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई गंगा, सरयू, संगम में डुबकी
हज यात्रा की पहली किस्त जमा करने के लिए 15 फरवरी तक का समय

हज कमेटी ऑफ इंडिया ने हज यात्रा पर जाने के लिए चयनित लोगों को अब 15 फरवरी तक पहली किस्त जमा करने का मौका दिया है. पहले 9 फरवरी तक ही यह किस्त जमा करनी थी. आवेदक को साल 2024 के लिए पहली किस्त के रूप में 81,800 रुपये जमा कराने हैं. तिथि बढ़ने से हज पर जाने वालों को काफी सहूलियत मिलेगी. पहली किस्त 81,800 जमा करने की पे-इन-स्लिप/ऑनलाइन रसीद, मूल अंतरराष्ट्रीय पासपोर्ट, मेडिकल एंड फिटनेस सर्टिफिकेट, हज आवेदन फार्म व घोषणा पत्र राज्य हज समिति में जमा करानी होगी. इसकी तारीख भी बढ़ाकर 19 फरवरी कर दी गई है. राज्य हज समिति के सचिव एसपी तिवारी ने बताया कि चयनित आवेदक अपनी लॉग इन आईडी से क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग, यूपीआई के जरिए किस्त के रुपये जमा कर सकते हैं. धनराशि हज कमेटी ऑफ इंडिया के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया व यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के खाते में जमा की जा सकती है. इसमें बैंक रिफरेंस नंबर भी अंकित करना होगा. वहीं राज्य हज समिति के सचिव ने बताया कि पे-इन-स्लिप और मेडिकल एंड फिटनेस सर्टिफिकेट हज कमेटी की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है. मेडिकल एण्ड फिटनेस सर्टिफिकेट एलोपैथिक पद्धति के चिकित्सक का मान्य होगा. हज यात्रियों को अपने सभी दस्तावेज राज्य हज समिति के कार्यालय मौलाना अली मियां मेमोरियल हज हाउस, सरोजनी नगर पर भेजना या जमा करना होगा. हज यात्रा के लिए यूपी से करीब 19000 लोगों ने आवेदन किया है.

Also Read: आजम खां, पत्नी, बेटों सहित 14 लोगों पर शत्रु संपत्ति कब्जा करने के मामले में आरोप तय, 23 फरवरी को सुनवाई

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें