27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Akhilesh Yadav Ghazipur Visit: मुख्तार को श्रद्धांजलि देने के बाद बोले अखिलेश यादव, कहा SC का सिटिंग जज करे जांच

मुख्तार अंसारी की मौत के बाद उनको श्रद्धांजलि देने के लिए नेता गाजीपुर पहुंच रहे हैं. रविवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) गाजीपुर में थे.

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को श्रद्धांजलि देने रविवार को गाजीपुर (Ghazipur News) पहुंचे. पहले वो मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी से उनके आवास पर मिले और श्रद्धांजलि अपिर्त की. इसके बाद वो कालीबाग स्थित कब्रिस्तान पहुंचे और मुख्तार की कब्र पर जाकर फूल अर्पित किए. अखिलेश यादव के गाजीपुर कार्यक्रम को देखते हुए मुख्तार अंसारी के आवास पर और कब्रिस्तान के आसपास कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के इंतजार किए गए थे.

कार्यकर्ताओं की भीड़ जुटी
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के गाजीपुर पहुंचने से पहले मुख्तार के घर पर विशेष इंतजाम किए गए थे. पुलिस भी अखिलेश यादव के पहुंचने को लेकर अलर्ट थी. जब अखिलेश मुख्तार अंसारी के आवास पहुंचे तो वहां कार्यकर्ताओं की भीड़ उमड़ पड़ी, हालांकि पुलिस ने सपा कार्यकर्ताओं और मीडिया को अंदर जाने से रोक लिया. अफजाल अंसारी व उमर अंसारी ने अखिलेश यादव का फाटक पर स्वागत किया. अखिलेश यादव हेलीकॉप्टर से गाजीपुर पहुंचे थे. इसके बाद वो सफारी गाड़ी से मुख्तार अंसारी के घर तक गए.

धर्मेंद्र यादव भी जा चुके हैं श्रद्धांजलि देने
इससे पहले बिहार के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन का बेटा ओसामा शहाब भी मुख्तार अंसारी के जनाजे में शामिल होने के लिए गाजीपुर पहुंचा. सपा नेता अंबिका चौधरी भी जनाजे में शामिल हुए थे. उन्होंने इस मौके पर कहा कि आज की तारीख में जो लोग भी इसमें राजनीति की बात कर रहे हैं, इससे घटिया बात कुछ नहीं हो सकती. आज गरीबों का एक मसीहा इस गली से जा रहा है. सपा नेता धर्मेंद्र यादव, ओम प्रकाश सिंह सहित दर्जनों नेता मुख्तार अंसारी को श्रद्धांजलि देने पहुंच चुके हैं.

अफजाल अंसारी हैं सपा से लोकसभा प्रत्याशी
गौरतलब है कि मुख्तार अंसारी के बड़े भाई अफजाल अंसारी समाजवादी पार्टी के गाजीपुर लोकसभा सीट से प्रत्याशी हैं. वो बसपा छोड़कर सपा के साथ जुड़े हैं. मुख्तार अंसारी के जिंदा रहते अखिलेश यादव भले ही उनसे दूरी बनाकर रखे थे. लेकिन मौत के बाद उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे हैं. इसके अलावा मुख्तार के सबसे बड़े भाई सिबगतउल्लाह अंसारी का बेटा शोएब अंसारी भी समाजवादी पार्टी से विधायक है.

अंसारी परिवार ने जनता के बीच रहकर दु:ख दर्द बांटा: अखिलेश
अखिलेश यादव ने मीडिया से बातचीत में कहा कि जो व्यक्ति इतने वर्षोँ जेल रहा हो, इसके बावजूद जनता जिता रही है. इसका मतलब है कि परिवार और व्यक्ति ने जनता के बीच में रहकर उसका दु:ख दर्द बांटा है. सोशल मीडिया का जमाना है. आज तमाम स्टोरी वहां हैं, किस तरह परिवार ने लोगों के बीच काम किया है. लोकतंत्र में जो जनता का दु:ख दर्द नहीं बांटता वो उसके साथ जनता भी नहीं खड़ी होती है. जिस दिन खबर लोगों ने सुनी, आज तक जिस तरह से परिवार से लोग जुड़ रहे हैं, ये बताता है कि परिवार के लोग जनता के बीच रहकर के उनके दु:ख दर्द को समझते हैं.

सुप्रीम कोर्ट का सिटिंग जज करे जांच तो मिलेगा न्याय
अखिलेश यादव ने इस सरकार ने भरोसे और सच्चाई को मारा है. यदि सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में अगर जांच होगी तो न्याय मिलेगा. न्यायिक जांच पर पूछे सवाल पर अखिलेश ने कहा कि मुझे सरकार पर भरोसा नहीं है कि सच्चाई सामने आ पाएगी. लोग जानते हैं कि सच्चाई क्या है. जो व्यक्ति वर्षों से जेल में था, आखिरकार उसे कैसे लगा कि जान को खतरा है. सरकार क्या दिखाना चाहती है. सरकार को न्याय दिलाना चाहिए. देश की जनता सच जाने, उस दिशा में सरकार को काम करना चाहिए.

जनता को नहीं मिल रहा न्याय
मेरी जान ले ली जाएगी, जहर दिया जा रहा है, उसके बाद सरकार ने क्या कि इससे पहले भी जिन जिन लोगों ने कहा कि मुझे खतरा है जान का, मुझे सुरक्षा दे सरकार. सरकार का पहला काम है नागरिक को सुरक्षा देने का. जो सरकार न्याय नहीं दे सकती सुरक्षा नहीं दे सकती है. वो सरकार जनता की नहीं हो सकती है. कहा मीडिया पर काफी दबाव है. डेमोक्रेसी में न्याय मांगना न्याय दिलाना सरकार की जिम्मेदारी है. इंस्टीट्यूशन खत्म हो रही है. हम किस पर भरोसा करें. पुलिस, अधिकारी जनता को न्याय नहीं दे रहे हैं. उन्होंने जम्मू कश्मीर के पूर्व गवर्नर सत्यपाल मलिक का हवाला देते हुए कहा कि क्या हमने पढ़ा नहीं कि उन्होंने कहा था ये आखिरी चुनाव है डेमोक्रेसी का. अपने वोट से बचा लो. वोट से डेमोक्रेसी नहीं बची तो हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी. हम किस पर भरोसा करें. इस सरकार ने भरोसे और सच्चाई को मारा है.

Also Read: खजुराहो सीट से सपा प्रत्याशी का पर्चा खारिज

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें