26.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

UP News : गोरखपुर विकास प्राधिकरण दिसंबर में 12 कालोनियां को नगर निगम के हैंडोवर कर देगा, प्रस्ताव तैयार

जीडीए की तारामंडल क्षेत्र की 12 कालोनियां और पथ प्रकाश से जुड़ी कमियों को नगर निगम दुरुस्त कराएगा गोरखपुर विकास प्राधिकरण इसके लिए धनराशि देने के लिए तैयार है. इसी सप्ताह प्राधिकरण और नगर निगम के मुख्य अभियंता फाइनली कॉलोनीयों का निरीक्षण करेंगे.

गोरखपुर : गोरखपुर विकास प्राधिकरण की तारामंडल क्षेत्र स्थित 12 कॉलोनीयों को हैंडओवर करने की प्रक्रिया अंतिम चरण में चल रही है. नगर निगम इन कॉलोनी और पथ प्रकाश से जुड़ी कमियों को दुरुस्त कराएगा. इसके लिए नगर निगम की ओर से करीब 30 करोड़ रुपए का प्रस्ताव तैयार किया गया है . गोरखपुर विकास प्राधिकरण यह धनराशि देने के लिए तैयार है. कुछ कॉलोनी में सड़क, नाली आदि कामों के लिए जीडीए ने टेंडर निकाल दिया है. इन कार्यों की राशियों को काटकर बाकी राशि नगर निगम को प्राधिकरण सौंप देगा. कालोनियों में चिहि्नत कमियों को दुरुस्त करने के साथ ही गाइडलाइन के मुताबिक एक माह तक उसकी देखरेख का खर्च गोरखपुर विकास प्राधिकरण से लिया जाएगा. इसके लिए करीब 30 करोड़ का प्रस्ताव तैयार किया गया है. जीडीए ने धनराशि देने के लिए स्वीकृत भी दे दी है. जल्द ही कॉलोनीयों के हैंड ओवर की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. जीडीए के उपाध्यक्ष आनंद वर्धन सिंह का कहना है कि 10 से 15 दिन में कॉलोनी को हैंडोवर करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.

कॉलोनी के हस्तांतरण के लिए सत्यापन का काम पूरा

जीडीए की कॉलोनी को जल्द नगर निगम को हस्तांतरित किए जाने की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद करीब ढाई महीने से इस दिशा में प्रयास चल रहा है. जो अब आखरी चरण में है. प्राधिकरण और नगर निगम की संयुक्त टीम सत्यापन भी कर चुकी है.जीडीए उपाध्यक्ष आनंद वर्धन सिंह ने बताया कि कॉलोनी के हस्तांतरण के लिए सत्यापन का काम तकरीबन पूरा हो गया है. नगर निगम ने कुछ कमियों को दुरुस्त करने के लिए मौखिक तौर पर धनराशि की मांग की है.संबंधित कॉलोनी में जिन कामों का टेंडर प्राधिकरण ने निकाल दिया है. उसकी रकम घटाकर बाकी की धनराशि जल्द ही सौंप दी जाएगी. और 10 से 15 दिन में इसे हैंडोवर कर दिया जाएगा. इसी सप्ताह गोरखपुर विकास प्राधिकरण और नगर निगम के मुख्य अभियंता एक आखरी बार इस कॉलोनी का निरीक्षण करेंगे.प्राधिकरण ने कॉलोनी के हस्तांतरण का प्रयास जून 2020 में भी शुरू किया था.मगर नगर निगम ने बुद्ध विहार पार्ट ए,बी और सी ,अम्रपाली योजना ,अमरावती योजना को सीमा से बाहर होने का हवाला देकर मना कर दिया था. अब यह कालोनियां भी निगम की सीमा में है. इनको भी हस्तांतरित होने की राह खुल गई है.

Also Read: Employment Opportunities : गीडा में खुलेगा स्किल डेवलपमेंट सेंटर, हजारों युवाओं को मिलेगी नौकरी
इन कालोनियों को किया जाएगा हस्तांतरित

कॉलोनी का नाम  –  आवंटित भवन/भूखंड

1–वसुंधरा एंक्लेव प्रथम आवासीय योजना–241

2–वसुंधरा एंक्लेव द्वितीय आवासीय योजना– 241

3–वसुंधरा एंक्लेव तृतीय आवासीय योजना –49

4–लोहिया एनक्लेव आवासीय योजना फेज 1 –492

5–लोहिया एनक्लेव आवासीय योजना फेज 2 –404

6–वैशाली आवासीय योजना –152

7–यशोधरा कुंज आवासीय योजना –252 

8–अमरावती निकुंज आवासीय योजना– 57 

9–कार्बोनेट पार्क योजना –41 

10–बुध विहार आवासीय योजना पार्ट ए –410

11–बुद्ध विहार आवासीय योजना पार्ट बी –351 12–बुद्ध विहार आवासीय योजना पार्ट सी –356 13–अमरावती आवासीय योजना– 21 

14–सिद्धार्थ पुरम विस्तार आवासीय योजना –263 15–गोलघर व्यावसायिक परिसर –199 

16–लकव्यू अपार्टमेंट आवासीय योजना –192 17–गौतम विहार विस्तार आवासीय योजना– 210

रिपोर्ट : कुमार प्रदीप

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें