21.1 C
Ranchi
Sunday, March 3, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

बाबरी विध्वंस की बरसी पर मथुरा में अलर्ट, श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर दीपदान से पहले हिंदूवादी नेता हिरासत में

दीपदान का ऐलान करने वाले श्रीकृष्ण जन्मभूमि संघर्ष न्यास के अध्यक्ष दिनेश शर्मा को हिरासत में ले लिया गया है. उन्होंने खून से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हनुमानजी का अवतार हैं. हमको श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर में 6 दिसंबर को दीपदान की अनुमति प्रदान करें.

Mathura News: अयोध्या में विवादित ढांचा विध्वंस की बरसी पर मथुरा में खास सतर्कता बरती जा रही है. श्रीकृष्ण जन्मभूमि व शाही ईदगाह मस्जिद के पास पुलिस की टीमें तैनात की गई है. 6 दिसंबर को कुछ हिंदूवादी नेताओं ने श्रीकृष्ण जन्म स्थान और शाही ईदगाह मस्जिद मुख्य स्थान गर्भगृह पर दीपदान और जलाभिषेक करने का ऐलान किया है. इसे लेकर जिला और पुलिस प्रशासन पहले से ही अलर्ट के और निगरानी की जा रही है. दीपदान से पहले दिनेश शर्मा को हिरासत में ले लिया गया. अधिकारियों ने बैठक कर सुरक्षा व्यवस्था का खाका तैयार किया है और बुधवार सुबह से ही श्रीकृष्ण जन्मभूमि व शाही ईदगाह मस्जिद के पास पुलिस व्यवस्था चाक चौबंद कर दी गई. मथुरा में शहर की फिजा खराब न हो. इसके लिए खुफिया एजेंसी को सक्रिय किया गया है. आईबी और एलआईयू होटल, गेस्ट हाउस के अलावा मथुरा रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर हर आने जाने वालों पर नजर रख रहे हैं. उधर, श्रीकृष्ण जन्मस्थान शाही ईदगाह की तरफ जाने वाले सभी रास्तों पर ट्रैफिक बंद कर दिया गया है. हिंदूवादी संगठनों ने मूल गर्भगृह, जिसे वह शाही ईदगाह के अंदर बताते हैं, वहां पर दीपदान और जलाभिषेक की घोषणा की है. इसको देखते हुए पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं. श्रीकृष्ण जन्मस्थान शाही ईदगाह के आसपास 1450 से ज्यादा पुलिस कर्मी तैनात किए गए हैं, जिसमें 1350 पुलिस कर्मी और 168 पुलिस अधिकारी हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खून से लिखी चिट्ठी

वहीं मूल गर्भ गृह पर दीपदान का ऐलान करने वाले श्रीकृष्ण जन्मभूमि संघर्ष न्यास के अध्यक्ष दिनेश शर्मा को हिरासत में ले लिया गया है. इससे पहले उन्होंने खून से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हनुमानजी का अवतार हैं. हमको श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर में 6 दिसंबर को दीपदान की अनुमति प्रदान करें. उन्होंने कहा कि मथुरा प्रशासन कार्यकर्ताओं को परेशान किया जा रहा है. पदाधिकारियों को नजरबंद किया जा रहा है. अगर योगी राज में कान्हा के दरबार में पूजा अर्चना नहीं कर सकते तो सपा, बसपा, कांग्रेस के राज में तो सोच भी नहीं सकते.

Also Read: अयोध्या राम मंदिर: एक सप्ताह में तैयार हो जाएंगी रामलला की तीनों मूर्तियां, ट्रस्ट एक पर लगाएगा अपनी मुहर
आगरा जोन से बुलाया गई पुलिस फोर्स

मथुरा शहर को पांच जोन में बांटा गया है. जोन के प्रभारी अपर पुलिस अधीक्षक बनाए गए हैं. इसके अलावा 15 सीओ, 45 इंस्पेक्टर, 150 सब इंस्पेक्टर, 700 सिपाही के अलावा 2 कंपनी PAC और 1 कंपनी आरएएफ तैनात की गई है. आगरा जोन से पुलिस फोर्स पहुंच गया है. हिंदूवादी संगठनों की घोषणा के बाद शहर की फिजा खराब न हो. इसके लिए डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह और एसएसपी शैलेश पांडेय ने खुफिया एजेंसी को सक्रिय कर दिया गया है. आईबी और एलआईयू होटल, गेस्ट हाउस के अलावा मथुरा रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर हर आने जाने वालों पर नजर रख रहे हैं.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें