1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. yogi cabinet vistar up bjp radha mohan singh meet governor anandi ben patel up vidhansabha chunav 2022 band lifafa cm yogi amh

Yogi Cabinet Vistar : बंद लिफाफे से गरमाई यूपी की राजनीति! राज्यपाल से मिलकर भाजपा नेता राधा मोहन सिंह ने कही ये बात

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Yogi Cabinet Vistar
Yogi Cabinet Vistar
TWITTER
  • उत्तर प्रदेश में सरकार और संगठन में फेरबदल की अटकल

  • भाजपा के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात की

  • राधा मोहन सिंह ने राज्यपाल से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत की

Yogi Cabinet Vistar : उत्तर प्रदेश में सरकार और संगठन में फेरबदल की अटकलों के बीच भाजपा के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात की है. खबरों की मानें तो राधा मोहन सिंह ने पटेल को एक बंद लिफाफा सौंपा है. प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार और नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा के बीच भाजपा उपाध्यक्ष और पार्टी के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने रविवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात की जिसपर सबकी निगाहें टिकी हुई थी. अब देखना है कि आगे क्या होता है.

श्री सिंह ने राज्यपाल से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत की. बातचीत के दौरान नेतृत्व परिवर्तन की संभावना संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है…. प्रदेश की योगी सरकार और संगठन बहुत मजबूती के साथ चल रहे हैं. देश के अंदर सबसे मजबूत संगठन और सबसे लोकप्रिय सरकार उत्तर प्रदेश में ही काम कर रही है.

जब उनसे राज्यपाल से मुलाकात की वजह के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि पार्टी का उत्तर प्रदेश प्रभारी बनने के बाद अभी तक राज्यपाल से मुलाकात नहीं कर पाया था. इसीलिए मुलाकात करने चला आया…जब उनसे सवाल किया गया कि यह मुलाकात कहीं प्रदेश मंत्रिमंडल के विस्तार को लेकर तो नहीं हुई, तो उन्होंने कहा कि यह एक औपचारिक और व्यक्तिगत भेंट थी.

यहां चर्चा कर दें कि उत्तर प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन और मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें लगाई जा रही है. इस बीच भाजपा उपाध्यक्ष राधा मोहन सिंह और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव संगठन बीएल संतोष ने पिछले हफ्ते राजधानी लखनऊ पहुंचकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और डॉक्टर दिनेश शर्मा तथा प्रदेश के तमाम मंत्रियों और वरिष्ठ पदाधिकारियों से अलग-अलग बैठक करने का काम किया था.

ऐसी अटकलें लग रही थी कि विधानसभा चुनाव से बमुश्किल आठ महीने पहले कोरोना महामारी प्रबंधन को लेकर राज्य सरकार के प्रति अदालतों के कड़े रुख से उत्पन्न असहज स्थितियों तथा कुछ अन्य कारणों से सरकार और पार्टी में नेतृत्व परिवर्तन नजर आ सकता है. हालांकि राधा मोहन सिंह ने इसे पूरी तरह नकार दिया और इसे केवल कल्पना करार दिया था.

इन कयासों के बीच, सिंह शनिवार को अचानक दोबारा लखनऊ पहुंचे. उनके यहां पहुंचने से कयासों का दौर फिर से शुरू हो चुका है.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें