1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. uttar pradesh weather forecast temperature crossed 42 degrees in varanasi sht

Varanasi News: चिलचिलाती गर्मी से लोगों का हाल बेहाल, वाराणसी में 42 डिग्री के पार पहुंचा पारा

वाराणसी में गर्मी का आलम ये है कि यहां पारा 42 डिग्री के पार जा पहुंचा है. सदाबहार और हमेशा गुलजार रहने वाले काशी के गंगा घाटों की रौनक वक्त से पहले ही गर्मी ने छीन ली है. घाटों के पत्थरों से उठने वाली तपिश और आसमान से बरसते अंगारों के चलते वाराणसी का तापमान 42.4 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुंचा है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Varanasi
Updated Date
चिलचिलाती गर्मी से खुद को बचाता नवविवाहित जोड़ा
चिलचिलाती गर्मी से खुद को बचाता नवविवाहित जोड़ा
Prabhat khabar

UP Weather Update: उत्तर भारत मे तापमान लगातार बढ़ रहा है. इस बीच वाराणसी में गर्मी का आलम ये है कि यहां पारा 42 डिग्री के पार जा पहुंचा है. सदाबहार और हमेशा गुलजार रहने वाले काशी के गंगा घाटों की रौनक वक्त से पहले ही गर्मी ने छीन ली है. जो पक्के घाट कभी गंगा किनारे की खूबसूरती में चार चांद लगाया करते थे, वो इस वक्त आग उगल रहे हैं. घाटों के पत्थरों से उठने वाली तपिश और आसमान से बरसते अंगारों के चलते वाराणसी का तापमान 42.4 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुंचा है.

गर्मी शुरू होते ही घाटों पर रौनक कम होने लगी है, फिर भी यहां से आसपास रहने वाले लोगों के लिए आवागमन करना मजबूरी है. भले ही घाटों के तपते पत्थरों पर से ही चलकर क्यों न गुजरना पड़े, क्योंकि और कोई रास्ता नहीं बचता. ऐसे में स्कूल जाने वाले बच्चों को भी घाटों की तपिश से होकर ही गुजरना पड़ रहा है. वहीं नवविवाहित युगल भी शादी के रस्म के बाद पहली बार गंगा पूजा करने के लिए घाटों पर आ रहे हैं, जिनकी खुशी गर्मी के सामने फिकी पड़ जा रही है.

ऐसे में सर पर पल्लू रखी दुल्हन गर्मी की तपिश से बचकर निकलने की कोशिश कर रही है, तो वहीं दूल्हे राजा अपने सर पर रखे सेहरे से धूप की तल्खी को कम करने के प्रयास में जुटे दिख रहे हैं. छोटे -छोटे बच्चे गर्मियां आते ही घाटों पर तैराकी सीखने के लिए इकठ्ठा हो जाते हैं. मगर इस बार गर्मी की वजह से इनकी संख्या घाटों पर कम देखने को मिल रही है. एक या दो ही बच्चे तैराकी सीखते दिखाई दे रहे हैं.

यहां से गुजर रहे लोग गर्मी से बचने के लिए मुंह और हाथ पैरों को ढककर निकल रहे हैं. ताकि झुलसती हुई गर्मी से खुद को बचा सकें. घाटों पर न तो छांव की न ही पेयजल की कोई व्यवस्था है. जिससे अवागमन कर रहे लोगो को मुश्किलों का भी सामना करना पड़ रहा है.

रिपोर्ट- विपिन सिंह

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें