1. home Home
  2. state
  3. up
  4. up vidhan sabha chunav 2022 shivpal singh yadav psp bjp sp akhilesh yadav cm yogi farm laws uttar pradesh news acy

UP Vidhan Sabha Chunav 2022 : शिवपाल सिंह यादव का दावा, 2022 में जिस दल में PSP होगी, उसी की सरकार बनेगी

प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ा दावा किया है. उन्होंने कहा है कि जिस दल में उनकी पार्टी (PSP) होगी, उसी की 2022 में सरकार बनेगी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
शिवपाल सिंह यादव
शिवपाल सिंह यादव
फाइल फोटो

UP Vidhan Sabha Chunav 2022: प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने बड़ा दावा किया है. उनका कहना है कि 2022 में हमारी पार्टी प्रसपा (PSP) जिस दल में होगी, उसी की 2022 में सरकार बनेगी. यह बात उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र जसंवतनगर में स्वतंत्रता दिवस पर लोहिया संदेश यात्रा का शुभारंभ करने के अवसर पर कही.

किसानों और मुसलमानों को मिलेगा पूरा सम्मान

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि अगर यूपी में 2022 में हमारी सरकारी बनती है तो किसानों और मुसलमानों को पूरा सम्मान मिलेगा. किसी के साथ जाति और धर्म के नाम पर भेदभाव नहीं किया जाएगा. उन्होंने आरोप लगाया कि किसान काले कृषि कानून का विरोध कर रहे हैं, लेकिन सरकार उनकी समस्याओं को नहीं सुन रही है. किसान महीनों से धरने पर बैठा हुआ है.

सरकार को किसानों की बात सुननी चाहिए

प्रसपा प्रमुख ने कहा कि सरकार को किसानों की बात सुननी चाहिए. किसान ही अन्नदाता है. उन्होंने कहा कि जब से भाजपा सत्ता में आई है, तब से जनता काफी परेशान हैं. पेट्रोल, डीजल और बिजली के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. इस ओर सरकार कोई ध्यान नहीं दे रही है.

केवल दो पूंजीपतियों को हुआ फायदा

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि भाजपा सरकार में केवल दो ही पूंजीपतियों को बहुता फायदा हुआ. बहुत से लोगों को भिखारी बनाया गया है. उन्होंने कहा कि जिस तरह से प्रदेश सरकार ने पिछले 5 साल में उत्तर प्रदेश को सबसे पीछे 25वें स्थान पर लाकर खड़ा कर दिया है., अब इसके बाद केवल बिहार ही है. वहीं जसवंत नगर सीट पर प्रत्याशी के ऐलान को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि समय आने पर इसकी घोषणा कर दी जाएगी.

प्रसपा प्रमुख ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में अधिकारी केवल देख कर चले जाते हैं. पीड़ितों को किसी तरह की सुविधाएं और राहत नहीं पहुंचाई जाती. ऐसे अधिकारियों को दंडित करना चाहिए.

Posted by : Achyut Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें