1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. up news today another campaign in prayagraj to stop power theft now meter readers will be exposed skt

बिजली चोरी रोकने को प्रयागराज में एक और अभियान, अब मीटर रीडर होंगे बेनकाब...

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो
Social media

प्रयागराज: बिजली चोरी रोकने के लिए विभाग ने एक और अभियान शुरू किया है. अब उन घरों की जांच होगी, जहां मैकेनिकल मीटर (इलेक्ट्रानिक) लगे हैं और रीडर रीडिंग करते हैं. इन मीटरों की जांच विभाग की टीम करेगी. इसमें यूनिट स्टोर मिलने पर मीटर रीडरों के खिलाफ कार्रवाई होगी. साथ ही जिनके यहां रीडर जरूरत से ज्यादा स्टोर पाई जायेगी तत्काल बिल बनाया जायेगा. इसमें किसी प्रकार की कोई रियायत नहीं मिलेगी.

शहर में कई जगह मैकेनिकल मीटर भी लगे हैं

स्मार्ट मीटरों में तो सभी व्यवस्था ऑनलाइन है, लेकिन बड़ी संख्या में अभी भी शहर में मैकेनिकल मीटर लगे हैं. इन मीटरों की रीडर आज भी रीडर लेने जाते हैं. पिछले दिनों मेजा में एक घर में बिजली विभाग के अधिकारियों ने जांच की थी तो यहां कई हजार रीिडंग मिली थी. पता चला था कि रीडर से उपभोक्ता की सांठगांठ थी और वह हर माह सामान्य बिल बनाकर दे देता था. मामला पकड़ में आने के बाद मीटर रीडर और बििंलंग एजेंसी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था. इसी के बाद अधिकारियों ने अब शहर में ऐसे मीटरों की जांच को लेकर अभियान चलाया है.

टीम मीटरों की जांच करेगी

सभी सातों डिवीजन में उन लोगों की सूची बनायी गयी है, जिनके यहां रीडिंग काफी समय से नहीं हो रही है. साथ ही उन लोगों की भी सूची बनी है, जिनके यहां प्रत्येक माह सामान्य बिल आ रहा है. इनके यहां बिजली विभाग की टीम मीटरों की जांच करेगी. इस दौरान अगर रीडिंग में गड़बड़ी पाई गयी तो मीटर रीडर के खिलाफ कार्रवाई होगी. उपभोक्ता को भी स्टोर यूनिट का भूरा बिल भरना होगा. अनुमान से अधिक यूनिट स्टोर मिलने पर जुर्माना भी लग सकता है.

केबल की भी होगी चेकिंग

जांच के दौरान मैकेनिकल मीटर (इलेक्ट्रानिक) को बारीकी से देखा जायेगा. बिजली विभाग के अधिकारियों को संदेह है कि इसमें बाइपास कर स्विच के जरिये बिजली चोरी की जा रही है. जहां ऐसा मिलेगा, वहां की वीडियोग्राफी होगी और ऐसे मीटरों को तत्काल बदला जायेगा.

बोले, मुख्य अभियंता

बिजली विभाग के मुख्य अभियंता ओपी यादव कहते हैं कि जहां रीडरों द्वारा रीडिंग की जाती है, वहां बिजली विभाग के कर्मचारी जाकर जांच करेंगे. जहां भी यूनिट स्टोर मिलेगी, उस क्षेत्र के रीडर के खिलाफ कार्रवाई होगी.

Posted by : Thakur Shaktilochan Shandilya

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें