1. home Home
  2. state
  3. up
  4. bjp leader atmaram tomar dies in suspicious condition in bagpat of uttar pradesh suspicion of murder slt

UP : भाजपा नेता आत्माराम तोमर की संदिग्ध हालत में मौत, हत्या की आशंका

उत्तर प्रदेश के बागपत में उस वक्त सनसनी फैल गई, जब बड़ौत में स्थानीय बीजेपी नेता आत्माराम तोमर का शव घर में मिला. मामले का पता चलते ही स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर जांच पड़ताल में जुट गई.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
आत्माराम तोमर का मिला शव
आत्माराम तोमर का मिला शव
social media

Local BJP leader Atmaram Tomar News : अगले साल यूपी चुनाव होने है. जिसको लेकर भाजपा लगातार काम कर रही है. ऐसे में बागपत में भाजपा नेता आत्माराम तोमर की लाश संदिग्ध परिस्थितियों में उनके घर से मिली है. घटना के बाद से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. जिसके बाद सूचना पर एसपी, एएसपी सहित पुलिस के आला अधिकारी और डॉग स्क्वायड की टीम मौके पर पहुंची और जांच में जुट गई.

जानकारी के अनुसार आज सुबह जब भाजपा नेता आत्माराम तोमर का ड्राइवर उनके आवास पर पहुंचा, तो दरवाजा बंद था, उसने खटखटाया, लेकिन किसी ने दरवाजा नहीं खोला, जिसके बाद उसने दरवाजे को तोड़कर अंदर गया, जहां उसे आत्माराम तोमर की लाश पड़ी हुई मिली. आत्माराम तोमर की लाश बिस्तर पर पड़ी हुई थी. उनके चेहरे पर तौलिया पड़ा हुआ था. ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि तौलिए की मदद से उनकी हत्या हुई है.

हत्या की आंशका

ड्राइवर ने आनन-फानन में परिजनों और पुलिस को इसकी सूचना दी, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और मामले का पता लगाने में जुट गई है. पुलिस आत्माराम तोमर के परिजनों से भी जांच पड़ताल कर रही है, जिससे यह पता लगाया जा सके, कि अचानक यह कैसे हुआ. आशंका जताई जा रही है कि भाजपा नेता की हत्या तौलिए से गला दबाकर की गई. वहीं, मौके से उनकी गाड़ी भी गायब मिली है.

पुलिस की ओर से आसपास रहने वाले लोगों से पूछताछ की जा रही है. साथ ही आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं. उधर सूचना पर मृतक डॉ. आत्मराम तोमर के बेटे डॉ. प्रताप भी मौके पर पहुंचे हैं. फिलहाल मौत या फिर हत्या का कारण पता नहीं चल सका है. उधर घटना के बाद परिजनों में भी कोहराम मच गया.

मंत्री रह चुके हैं आत्माराम तोमर

भाजपा नेता, पूर्व दर्जाप्राप्त मंत्री और जनता वैदिक इंटर कालेज के पूर्व प्रधानाचार्य डॉ. आत्मराम तोमर पुत्र स्वर्गीय भरत सिंह तोमर मूलरूप से बिजरौल गांव के रहने वाले थे. आत्माराम तोमर जनता वैदिक कॉलिज के प्रधानाचार्य भी रह चुके हैं. उन्होंने 1993 में छपरौली विधानसभा से भाजपा के टिकट पर चुनाव भी लड़ा था और 1997 में वह भाजपा से दर्जा प्राप्त मंत्री भी रहे हैं.

Posted By Ashish Lata

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें