1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. ballia
  5. thousands people getting contaminated water gangapur water tank hindi news prabhat khabar

गंगापुर पानी टंकी से 25 हजार लोगों को मिल रहा दूषित जल

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date

रामगढ़ : बेलहरी ब्लॉक के ग्राम सभा गंगापुर में शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के नाम पर करोड़ों रुपये की लागत से बनी पानी टंकी शोपीस बनकर रह गयी है. हर समय कोई ने कोई परेशानी बनी रहती है, जिसके कारण लोगों को स्वच्छ पानी नहीं मिल पाता. हालात यह है कि अभी कई सप्ताह से पानी की सप्लाइ में कीड़े दिख रहे थे, शुक्रवार की शाम को पानी टंकी के चेंबर का पाइप फटने के कारण पानी टंकी की आपूर्ति बाधित हो गयी. इससे करीब 25000 की आबादी बाध्य होकर दूषित जल पीने को लाचार है. इसको लेकर के क्षेत्र में हाहाकार मचा हुआ है.

करीब तीन दशक से बेलहरी ब्लॉक का ग्राम सभा गंगापुर में आर्सेनिक की मात्रा मानक से कई गुना अधिक है. यहां लोगों के कई बार आंदोलन करने पर जल निगम ने करोड़ों रुपये की लागत से एक पानी टंकी बनायी. पानी टंकी की स्थिति यह है कि आज 4 साल बीत गये, न तो पानी टंकी की सफाई की गयी, न समय से कभी पानी की आपूर्ति ही सुनिश्चित हो सकी. पाइप लाइन दर्जनों जगह टूट गयी है. इसके चलते नाले का पानी पाइप के सहारे घरों तक पहुंच रहा है. ग्रामीणों की लाख शिकायत के बाद भी अधिकारियों के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रहा. अब लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि अपनी शिकायत किसके पास करें.

हालात यह है कि गंगापुर की आधे से अधिक आबादी आर्सेनिक की गिरफ्त में हैं. तत्कालीन जिलाधिकारी भवानी सिंह खंगारौत ने ग्रामीणों की शिकायत पर गंगापुर में पहुंचकर तत्काल यहां की पानी टंकी को चालू कराते हुए 1000 फुट की बोरिंग से पानी की सप्लाइ कराने का निर्देश दिया था. लोगों को शुद्ध जल भी मिलना शुरू हुआ, लेकिन मानक के विपरीत पाइप लाइन होने के कारण आये दिन जगह-जगह पाइप फट जा रही है.

पाइपलाइन बदलवाने की ग्रामीणों ने की मांग क्षेत्र के दीनानाथ सिंह, बसंत कुमार सिन्हा, प्रेम प्रकाश मिश्रा, गुप्तेश्वर मिश्रा, आदित्य नारायण यादव, विजय सिंह, वीरेंद्र मिश्रा, रिंकू गुप्ता, अवनींद्र कुमार ओझा, राजन गुप्ता, सोनू गुप्ता व सुशील गुप्ता आदि लोगों का कहना है कि जब तक पाइपलाइन बदला नहीं जायेगा, समस्या बनी रहेगी. अक्सर पाइप फटने के कारण घरों में नाले का पानी जाने लगता है.

पानी के साथ कीड़े गिरते हैं. पाइपलाइन बदलवाने के साथ ही चेंबर पाइप को भी ठीक कराना होगा. 25 हजार की आबादी है आश्रितगंगापुर पानी टंकी से रामगढ़, बलिहार, दुर्जनपुर, मीनापुर, तेलिया टोक, हुकुम छपरा, तिवारी टोला नयी बस्ती चौबे छपरा की करीब 25000 आबादी को पानी की आपूर्ति इस पानी टंकी से होती है. पानी की आपूर्ति बाधित होने के कारण लोगों को लाचार होकर दूषित पानी का सेवन करना पड़ रहा है. गांव में कुछ लोग पीने के लिए आरओ का पानी मंगा लेते हैं. लेकिन अधिकतर परिवारों के लिए टंकी की सप्लाइ का ही सहारा है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें