1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. 24 people died due to shamshan ghat roof collapsed pm modi expressed grief cm yogi ordered inquiry latest updates prt

गाजियाबाद श्मशान घाट हादसा: जेई समेत तीन लोग गिरफ्तार, फरार ठेकेदार की तलाश जारी, गुस्साये परिजनों ने किया रोड जाम

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
गुस्साये परिजनों ने किया रोड जाम
गुस्साये परिजनों ने किया रोड जाम
twitter

उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद के मुरादनगर में रविवार को एक बड़ा दर्दनाक हादसा हुआ. यहां श्मशान घाट की छत गिर गई. हादसे में 25 लोगों की मौत हो गयी है, जबकि 15 अन्य घायल हो गये. अब तक 38 लोगों को मलबे से निकाला गया हैं. देर शाम तक रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रहा. ये सभी लोग बारिश से बचने के लिए छत के नीचे खड़े थे. जिस शख्स का दाह संस्कार चल रहा था, हादसे में उनके एक बेटे की भी मौत हो गयी.

वहीं, हादसे को लेकर मृतकों के परिजनों में काफी गुस्सा है. परिजन गाजियाबाद-मेरठ रोड पर शव को रखकर हंगामा कर रहे हैं, वहीं परिजनों के हंगामें के कारण रोड पर 15 किलोमीटर लंबा जाम लग गया है. इधर घटना के बाद मुरादनगर नगर पालिका ईओ निहारिका सिंह, जेई चंद्रपाल, सुपरवाइजर आशीष को गिरफ्तार कर लिया है. लेकिन, ठेकेदार अजय त्यागी फरार हो गया है. जिसकी पुलिस तलाश कर रही है. इन सभी के खिलाफ धारा 304, 337, 338, 427, 409 के तहत मुरादनगर थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है. बता दें, श्मशान में 55 लाख की लागत से गलियारे का निर्माण हुआ था और करीब पंद्रह दिन पहले ही इसे जनता के लिए खोला गया था.

पुलिस ने बताया कि मृतकों में अधिकतर जयराम के रिश्तेदार थे, जिनका उस वक्त वहां अंतिम संस्कार हो रहा था. चश्मदीदों के मुताबिक, हादसे के बाद का मंजर बेहद भयावह था. मलबे में दबे लोगों के शरीर के अंग कट गये थे. घटनास्थल पर मौजूद देवेंद्र ने बताया कि उसके दादा का अंतिम संस्कार चल रहा था और बाकी लोग दूर खड़े होकर देख रहे थे. इसी दौरान जोर की आवाज आयी और जब वह उस तरफ दौड़ा, तो देखा लेंटर के नीचे कई लोग दबे हुए थे. इस हादसे में उनके चाचा की भी मौत हो गयी.

चीख-पुकार सुन कर लोग श्मशान की ओर भागे : श्मशान घाट के पास रहनेवाले एक चश्मदीद ने बताया कि बारिश हो रही थी. लोग अपने घरों में थे. अचानक तेज आवाज हुई और चीख-पुकार मच गयी. पहले कोई समझ नहीं पाया कि आखिर क्या हुआ है? चीख-पुकार जब तेज हुई, तो लोग घरों से बाहर निकले. उस समय कुछ लोग शोर मचाते हुए श्मशान से बाहर की तरफ भाग रहे थे. जब स्थानीय लोग वहां पहुंचे, तो उनकी सांसें थम गयी थी.

तीन माह पहले डाला गया था लेंटर, योगी ने मांगी रिपोर्ट : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर दुख प्रकट किया. मोदी ने ट्वीट किया कि उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में हुए दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की खबर से अत्यंत दुख पहुंचा है.

सीएम योगी ने मृतकों के परिवारों के लिए दो-दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का एलान किया है. साथ ही मुख्यमंत्री ने मेरठ के संभागीय आयुक्त और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (क्षेत्र) को इस घटना के बारे में रिपोर्ट देने का भी निर्देश दिया है. बताया जा रहा है कि तीन महीने पहले श्मशान घाट में लेंटर डाला गया था, जिसमें कच्ची रेत का इस्तेमाल किया गया.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें