एसआईटी प्रमुख ने कहा- चिन्मयानंद ने अपना अपराध कबूल किया

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

शाहजहांपुर (उप्र) : विधि की छात्रा से दुष्कर्म के आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद सहित चार लोगों को शुक्रवार को विशेष जांच दल (एसआईटी) ने गिरफ्तार किया है. एसआईटी प्रमुख और पुलिस महानिरीक्षक नवीन अरोड़ा ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि चिन्मयानंद को मसाज (मालिश) की वीडियो क्लिपिंग भी दिखायी गयीं, जिस पर पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, जब आपको सब पता ही चल गया है, तो मुझे कुछ नहीं कहना. मैं अपना अपराध स्वीकारता हूं और अपने कृत्य के लिए शर्मिंदा हूं.


अरोड़ा ने बताया कि चिन्मयानंद को जेल भेज दिया गया है. उन पर भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई की गयी है. अधिकारी ने बताया कि चिन्मयानंद को गिरफ्तार करने से पहले एक डाक्टर से सलाह ली गयी. उन्होंने बताया कि एसआईटी ने मोबाइल काल डिटेल के डिजिटल रिकॉर्ड और टोल टैक्स प्लाजा के फुटेज हासिल किये और इस तरह एसआईटी कड़ी से कड़ी जोड़ कर इस मामले में यहां तक पहुंची है. उन्होंने कहा, हमें पता लगा कि लड़की शाहजहांपुर से बरेली गयी और फिर शिमला जाकर दिल्ली चली गयी. इसके बाद लड़की की लोकेशन राजस्थान के दौसा में मिली.

एसआईटी प्रमुख ने बताया कि संजय सिंह, सचिन सेंगर, विक्रम उर्फ दुर्गेश और एक अनाम शख्स (मिस ए) के खिलाफ भी आईपीसी और आईटी एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. संजय, सचिन और विक्रम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. अरोड़ा ने बताया कि एक जनवरी 2019 से लड़की ने संजय से लगभग 4200 बार फोन पर बात की, जबकि उसने चिन्मयानंद से लगभग 200 बार बात की. पीड़िता और संजय के मैसेज भी देखे गये हैं जिनके जरिये ये संदेशों का आदान-प्रदान करते थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें