25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

राउरकेला : भुवनेश्वर से पहुंची तीन सदस्यीय टीम, आरजीएच में इलाज करा रहे लू के मरीजों से की बात, सुविधाओं का लिया जायजा

राउरकेला में लू की स्थिति का जायजा लेने के लिए भुवनेश्वर से तीन सदस्यी समिति सुंदरगढ़ पहुंची है. टीम के सदस्यों ने राउरकेला सरकारी अस्पताल में मरीजों से बात की और सुविधाओं का जायजा लिया.

राउरकेला. राउरकेला सरकारी अस्पताल सहित जिले में अचानक अस्वाभाविक मौत के मामलों में इजाफा होने के बाद हरकत में आये प्रशासनिक अधिकारियों का लगातार दौरा जारी है. इस बीच भुवनेश्वर से तीन सदस्यीय समिति भी आरजीएच पहुंची. समिति ने आरजीएच में इलाजरत मरीजों से बात की तथा उनका इलाज कर रहे चिकित्सकों से भी पूरी जानकारी ली. अस्पताल में मौजूद व्यवस्थाओं का भी अध्ययन किया. यह समिति आरजीएच के साथ-साथ सुंदरगढ़ जिले के अन्य स्वास्थ्य केंद्रों का भी दौरा करेगी. शनिवार को आरजीएच के सभी शीर्ष अधिकारियों ने समिति को ब्रीफिंग दी. पूरे सुंदरगढ़ जिले में दो दिनों के अंदर डेढ़ दर्जन से अधिक लोगों की मौत की बात सामने आयी है. हालांकि, मौत का सटीक कारण अभी पता नहीं चला है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही साफ होगा कि मौत लू से हुई है या फिर कुछ अन्य कारण हैं.

राज्य स्वास्थ्य विभाग की समिति में ये हैं शामिल

1, प्रो बुटुकेश्वर प्रधान, विमसार, बुर्ला, मेडिसिन डिपार्टमेंट2, डॉ अशोक कुमार पाइकराय, राज्य सर्विलेंस अधिकारी, आइडीएसपी

3, डॉ अर्घ्य प्रधान, संयुक्त निदेशक, एनटीइपी

जरूरी नहीं होने पर घर से बाहर न निकलें

जिलापाल डॉ पराग हर्षद गवली ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मरीजों का इलाज चल रहा है. चौबीस घंटे निगरानी की जा रही है. सुबह 10 से शाम 4 बजे तक जरूरी नहीं होने पर लोगों को बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जा रही है. इसके लिए अलग-अलग वाहनों से प्रचार भी कराया जा रहा है. जहां तक मौतों की बात है, तो पोस्टमार्टम के बाद ही साफ होगा कि मौत का कारण क्या है. आरजीएच के चिकित्सकों से बात हुई है. उन्होंने कुछ बिंदुओं पर सहयोग के बारे में कहा है. जिसे तत्काल उपलब्ध करा दिया जायेगा.

लू से मरने वालों के परिजनों को 10 लाख रुपये का मुआवजा दे सरकार : डीसीसी

राउरकेला जिला कांग्रेस कमेटी (डीसीसी) ने शहर में लू से हुई एक दर्जन से अधिक मौतों के लिए स्थानीय प्रशासन की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया है. इसे लेकर कमेटी के अध्यक्ष रवि राय की अगुवाई में कांग्रेसियों ने शनिवार को राउरकेला एडीएम से मिलकर अपनी नाराजगी का इजहार किया. इसके साथ ही लू से मरने वालों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा प्रदान करने की मांग रखी है. इस मुलाकात में कांग्रेसी नेताओं ने कहा कि लू से बचाव को लेकर जिस प्रकार की तैयारी प्रशासन की ओर से की जानी चाहिए थी, वह नहीं की गयी. इसके अलावा जिस तरह से इसे लेकर व्यापक जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए था, वह भी नहीं हुआ. राउरकेला महानगर निगम की ओर से गर्मी से राहत दिलाने के लिए जहां-जहां भी वाटर फ्रीजर लगाया गया है, वहां से ठंडा के स्थान पर गरम पानी निकल रहा है. जिससे राहगीरों को राहत नहीं मिल पा रही है. प्रशासन की ओर से लू से बचाव को लेकर ओआरएस का सेवन करने की सलाह दी जाती रही है, लेकिन जिस तरह से गरीब व मजदूर वर्ग के लोगों में इसका वितरण किया जाना चाहिए था, वैसा नहीं किया गया. इसका नतीजा लू से हुई मौतों के रूप में सामने आ रहा है. मौके पर बीएन पटनायक, साबिर हुसैन, रश्मि पाढ़ी, प्रबोध दास, ज्ञानेंद्र दास, मानो सामल, श्रीनायर, शिबू दीप मौजूद थे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें