1. home Hindi News
  2. state
  3. maharashtra
  4. uddhav thackeray disclosure godhra riots 2002 bal thackeray narendra modi amh

'2002 के गोधरा दंगों के बाद चली जाती नरेंद्र मोदी की कुर्सी', उद्धव ठाकरे ने याद किये वो दिन

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे ने इंटरव्यू के दौरान कहा कि मोदी को गुजरात के मुख्यमंत्री पद से हटाने की मांग उस समय उठी थी, जब भाजपा के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री के पद पर काबिज थे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
उद्धव ठाकरे
उद्धव ठाकरे
pti

महाराष्ट्र की राजनीति इन दिनों देश के पटल पर चर्चा बटोर रही है. भाजपा और शिवसेना एक दूसरे पर कटाक्ष करने का कोई मौका नहीं गंवा रही है. हनुमान चालीसा विवाद में तो दोनों ही पार्टियां लगातार एक दूसरे पर हमला करती नजर आई. जहां भाजपा नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने सरकार के कामकाज पर सवाल उठाए. वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने भी भाजपा पलटवार करने का कोई मौका नहीं छोड़ा. इन सबके बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे ने नरेंद्र मोदी को गोधरा दंगों की याद दिलायी.

उद्धव ठाकरे ने दिलायी गोधरा दंगों की याद

रविवार को उद्धव ठाकरे ने दावा किया कि उनके दिवंगत पिता और शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे ने उस समय नरेंद्र मोदी का समर्थन किया था, जब 2002 के गोधरा दंगों के बाद उन्हें (मोदी को) गुजरात के मुख्यमंत्री पद से हटाने की मांग तेजी से उठ रही थी. सीएम उद्धव ठाकरे ने मराठी दैनिक 'लोकसत्ता' को दिए एक इंटरव्यू में ये बात कही.

मोदी को गुजरात के मुख्यमंत्री पद से हटाने की मांग

उद्धव ठाकरे ने इंटरव्यू के दौरान कहा कि मोदी को गुजरात के मुख्यमंत्री पद से हटाने की मांग उस समय उठी थी, जब भाजपा के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री के पद पर काबिज थे. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा कि उस दौरान, भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी एक रैली में भाग लेने के लिए मुंबई पहुंचे थे. इा दौरान बाल ठाकरे के साथ इस मांग पर चर्चा हुई थी.

बालासाहेब के साथ आडवाणी की चर्चा

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे ने कहा कि हम (रैली के बाद) बातचीत कर रहे थे. उन्होंने (आडवाणी) कहा कि वह बालासाहेब के साथ कुछ चर्चा करना चाहते हैं. फिर मैं और (दिवंगत भाजपा नेता) प्रमोद महाजन जी चले गये. बाद में, आडवाणी जी ने मोदी के बारे में बात की और बालासाहेब से पूछा कि वह क्या सोचते हैं (मोदी को हटाने की मांग के बारे में). मोदी को तब प्रधानमंत्री पद का चेहरा नहीं बनाया गया था.

एक व्यक्ति के रूप में मोदी का सम्मान

शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे ने कहा कि बालासाहेब ने आडवाणी जी से कहा कि मोदी को छुआ नहीं जाना चाहिए. यदि मोदी को हटा दिया गया, तो (भाजपा) गुजरात हार जाएगी और इसकी वजह से हिंदुत्व को नुकसान होगा. उद्धव ठाकरे ने कहा कि वह एक व्यक्ति के रूप में मोदी का सम्मान करते हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें