1. home Hindi News
  2. state
  3. maharashtra
  4. religious places reopen temples reopens in maharashtra siddhi vinayak temple reopens devotees pay worship government guidelines to reopen temples know all detail here pwn

महाराष्ट्र में 8 महीने बाद खुले मंदिर के कपाट, दर्शन के लिए इन नियमों का करना होगा पालन, सिद्धिविनायक में उमड़े श्रद्धालु

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
सिद्धिविनायक में उमड़े श्रद्धालु
सिद्धिविनायक में उमड़े श्रद्धालु
Twitter

महाराष्ट्र में आज से श्रद्धालुओ के लिए धार्मिक स्थल खोल दिये हैं. सरकार के आदेश के बाद आज से सभी धार्मिक स्थल खुल गये हैं और काफी संख्या में यहां पर लोग दर्शन करने के लिए आ रहे हैं. बता दें कि कोरोना महामारी के कारण लागू किये गये लॉकडाउन के चलते 24 मार्च से सभी धार्मिक स्थल बंद थे और महाराष्ट्र में सभी धार्मिक स्थल पिछले आठ महीने से बंद थे. सरकार के आदेश के बाद सुबह चार बजे ही सिद्धिविनायक मंदिर को श्रद्धालुओं के लिए दर्शन के लिए खोल दिया गया था. इसके बाद सुबह से काफी संख्या में श्रद्धालु लाइन में लगे हुए थे.

प्रसाद चढ़ाने की है मनाही
मंदिर ट्रस्ट के एक अधिकारी ने बताया कि कोरोना प्रोटोकॉल के तहत एक घंट में सिर्फ 100 लोगों को ही गणपति बप्पा के दर्शन करने की इजाजत दी जा रही है. इसके अलावा प्रसाद चढ़ाने की मनाही है. श्रद्धालुओ ंसे सोशल डिस्टेंसिग का पूरा पालन कराया जा रहा है. सरकार के गाइडलाइन के मुताबिक प्रत्येक घंटे मंदिर परिसर में सैनिटाइजेशन किया जाएगा. एक दिन में सिर्फ एक हजार भक्त ही सिद्धी विनायक मंदिर में प्रवेश कर पायेंगे.

मास्क के बिना प्रवेश की इजाजत नहीं
सिद्धिविनायक मंदिर में बिना मास्क के प्रवेश की इजाजत नहीं है. सरकार ने अपने गाइडलाइन में कहा है कि बिना मास्क के मंदिर परिसर में कोई भी प्रवेश नहीं कर सकता है. इसके साथ ही जिस व्यक्ति के शरीर का तापमान सामान्य नहीं होगा उसे भी मंदिर में प्रवेश करने की परमिशन नहीं दी जायेगी.

दर्शन के लिए एप से होगी एडवांस बुकिंग
मंदिर ट्रस्ट के अधिकारियों के मुताबिक बप्पा के दर्शन करने के लिए एक मोबाइल एप डेवलप किया गया है. इसके माध्यम से श्रद्धालु गणपति के दर्शन करने लिए अपना समय पहले ही बुक कर सकते हैं. ऑनलाइन बुकिंग करने के लिए श्रद्धालुओं को श्री सिद्धिविनायक मंदिर एप इंस्टॉल करना होगा. इसमें उन्हें अपनी जानकारी भरनी होगी. फिर उन्हें एक समय दिया जायेगा. इसके बाद निर्धारित समय के लिए एक क्यूआर कोड दिया जायेगा. फिर श्रद्धालु जाकर दर्शन कर सकते हैं.

वहीं सिद्धिविनायक मंदिर में दर्शन करने पहुंचे एक श्रद्धालु ने कहा कि में बहुत भाग्यशाली हूं कि मुझे इस साल गणपति जी के दर्शन करने का मौका मिला. मैं बहुत खुश हूं. साथ ही उन्होंने बताया कि मंदिर में कोविड-19 से सुरक्षा के लिए तमाम तरह के उपाय किये गये हैं.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें