1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. relief for brick kiln workers amidst mini lockdown implemented in jharkhand laborers got ration in chanho at ranchi smj

झारखंड में लागू मिनी लॉकडाउन के बीच ईंंट भट्ठा मजदूरों को राहत, रांची के चान्हो में मजदूरों को मिला राशन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रांची के चान्हो में ईंट भट्ठा के मजदूरों को सूखा राशन देते स्वयंसेवी संस्था के सदस्य.
रांची के चान्हो में ईंट भट्ठा के मजदूरों को सूखा राशन देते स्वयंसेवी संस्था के सदस्य.
सोशल मीडिया.

Jharkhand News (चान्हो, रांची) : झारखंड में लागू मिनी लॉकडाउन के कारण ईंट भट्ठा में काम करने वाले मजदूरों के समक्ष खाने के लाले पड़ने लगे थे. इसी को ध्यान में रखते हुए कुछ स्वयंसेवी संस्थाओं ने रांची के चान्हो में ईंट भट्ठा में काम करने वाले मजदूरों के बीच सूखा राशन का वितरण किया, ताकि कुछ समय तक इन्हें भी भरपेट भोजन नसीब हो सके.

रोटरेक्ट क्लब ऑफ सोशल रिवेल्यूएशन एवं बाल कल्याण संघ के सहयोग से तरंगा और चोरेया पंचायत के नवाघर, नुंहु, मधुकम, घुघरी, हर्रा, सेमर टोली, तरंगा, नेवारटोली, लेपसर के ईंट भट्ठा में काम करने वाले मजदूरों, गरीब, असहाय, पीड़ित, वंचित परिवारों के बीच सूखा राशन का वितरण किया गया.

क्लब के नवनिर्वाचित अध्यक्ष प्रतीक सुमन ने बताया कि क्लब के माध्यम से लॉकडाउन के दौरान खतरे में रहने वाले परिवार और बच्चों को सूखा राशन के साथ बच्चों को शैक्षणिक सहयोग प्रदान करने की कोशिश की जा रही है. इसी दौरान ग्रामीण क्षेत्र के ईंट भट्ठा में कार्य करने वाले मजदूर भाई-बहनों, वृद्धजनों के बीच 35 पैकेट सूखा राशन उपलब्ध कराया गया है.

श्री सुमन ने कहा कि यह हमारा एक छोटा प्रयास है. मगर इसके माध्यम से हम राज्य के उन सभी भाई-बहनों तक पहुंचना चाहते हैं जो दो वक्त के भोजन जुटाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. साथ ही सभी क्लब के साथी मजदूर भाई-बहनों के बच्चों को शिक्षा देने में सहयोग करेंगे, ताकि इनके बच्चे भी पढ़-लिख कर एक अच्छे नागरिक बन सके और इनकी गरीबी दूर हो सके.कोरोना महामारी के कारण हुए लॉकडाउन में इन मजदूर भाई-बहनों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. खाने-पीने की परेशानियों को देखते हुए सहयोग करने के लिए हाथ बढ़ाये गये हैं.

वहीं, क्लब के सदस्य कुमार संकल्प ने बताया कि इस कार्य में बाल कल्याण संघ का बहुत ही सराहनीय योगदान रहा है. उनके मार्गदर्शन में हम सभी कार्य कर रहे हैं. हम गरीब, वंचित, पीड़ित, उपेक्षित प्रवासी मजदूरों तक पहुंचना चाहते हैं, ताकि इस लॉकडाउन में खाने-पीने में कोई परेशानी उत्पन्न ना हो.

पंचायत के मुखिया सोमरा उरांव ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण लागू मिनी लॉकडाउन में प्रवासी मजदूर और ईंट भट्ठा में कार्य करने वाले मजदूरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसी परिस्थिति में क्लब एवं संस्थान के द्वारा उपलब्ध कराये गये सूखा राशन इन गरीबों के लिए किसी उपहार से कम नहीं है.

कार्यक्रम को सफल बनाने में कृष्णा कुमार, विवेक राज साहू, राजीव रंजन, प्रफुल्ल टूडू, आनंद एस महंती एवं अक्षय कुमार पाठक के अलावा बाल कल्याण संघ के परियोजना प्रबंधक सुनील कुमार गुप्ता का बहुत ही सराहनीय योगदान रहा है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें