27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

प्रभात खबर ने जैक, सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के 2000 मेधावी स्टूडेंट्स को दिया प्रतिभा सम्मान

प्रभात खबर प्रतिभा सम्मान समारोह : राजधानी रांची के पीपी कंपाउंड स्थित गुरुनानक स्कूल सभागार में ‘प्रभात खबर प्रतिभा सम्मान’ समारोह का आयोजन किया गया. रविवार (16 जून) को सीबीएसई, आईसीएसई और जैक बोर्ड के मैट्रिक एवं इंटर यानी 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा के टॉपर्स को सम्मानित किया गया. सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड में 90 प्रतिशत या उससे अधिक अंक लाने वाले और झारखंड एकेडमिक काउंसिल (JAC Board) की मैट्रिक एवं इंटर परीक्षा में 80 फीसदी से अधिक अंक पाने वाले स्टूडेंट्स को सम्मान मिला.

लाइव अपडेट

करीब 2000 से अधिक प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को प्रभात खबर ने दिया प्रतिभा सम्मान

झारखंड की राजधानी रांची के करीब 2000 स्टूडेंट्स को प्रभात खबर ने रविवार (16 जून) को प्रतिभा सम्मान दिया. कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री संजय सेठ, झारखंड के वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव और कृषि मंत्री बादल पत्रलेख समेत कई अन्य गणमान्य लोग शामिल हुए. डॉ उरांव और बादल ने 80 फीसदी से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को सर्टिफिकेट और मेडल देकर सम्मानित किया.

करीब 2000 से अधिक प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को प्रभात खबर ने दिया प्रतिभा सम्मान

झारखंड की राजधानी रांची के करीब 2000 स्टूडेंट्स को प्रभात खबर ने रविवार (16 जून) को प्रतिभा सम्मान दिया. कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री संजय सेठ, झारखंड के वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव और कृषि मंत्री बादल पत्रलेख समेत कई अन्य गणमान्य लोग शामिल हुए. डॉ उरांव और बादल ने 80 फीसदी से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को सर्टिफिकेट और मेडल देकर सम्मानित किया.

जैक और सीबीएसई के बाद आईसीएसई बोर्ड के टॉपर्स हो रहे सम्मानित

झारखंड बोर्ड और सीबीएसई बोर्ड के बाद अब आईसीएसई बोर्ड के बच्चों को सम्मानित किया जा रहा है. कृषि मंत्री बादल पत्रलेख और अन्य अतिथि छात्र-छात्राओं को प्रभात खबर प्रतिभा सम्मान दे रहे हैं. बच्चों में जबर्दस्त उत्साह देखा जा रहा है.

जैक बोर्ड के बाद सीबीएसई बोर्ड के बच्चों का सम्मान

झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक बोर्ड) के टॉपर्स के बाद अब सीबीएसई बोर्ड में 90 फीसदी या उससे अधिक अंक हासिल करने वाले छात्र-छात्राओं को प्रभात खबर प्रतिभा सम्मान से सम्मानित किया जा रहा है.

प्रतिभा सम्मान समारोह में गुरुजनों का हो रहा सम्मान

स्टूडेंट्स को सम्मानित किए जाने के लिए आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह में अलग-अलग स्कूलों के प्रिंसिपल को सम्मानित किया जा रहा है.

प्रतिभा सम्मान समारोह में गुरुजनों का हो रहा सम्मान

स्टूडेंट्स को सम्मानित किए जाने के बाद अब अलग-अलग स्कूलों के प्रिंसिपल को सम्मानित किया जा रहा है.

प्रतिभा सम्मान समारोह में गुरुजनों का हो रहा सम्मान

स्टूडेंट्स को सम्मानित किए जाने के बाद अब अलग-अलग स्कूलों के प्रिंसिपल को सम्मानित किया जा रहा है.

प्रतिभा सम्मान समारोह में गुरुजनों का हो रहा सम्मान

स्टूडेंट्स को सम्मानित किए जाने के बाद अब अलग-अलग स्कूलों के प्रिंसिपल को सम्मानित किया जा रहा है.

प्रतिभा सम्मान समारोह में गुरुजनों का हो रहा सम्मान

स्टूडेंट्स को सम्मानित किए जाने के लिए आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह में अलग-अलग स्कूलों के प्रिंसिपल को सम्मानित किया जा रहा है.

औसत बच्चों को भी दें महत्व : वित्त मंत्री

झारखंड सरकार के वित्त मंत्री और पूर्व आईपीएस ऑफिसर डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि औसत बच्चों को भी तरजीह देना चाहिए. उनके महत्व को समझने की जरूरत है. बहुत से तेज बच्चे होते हैं, वे विदेश चले जाते हैं. लेकिन, एवरेज बच्चे आपके साथ रहते हैं.

सफलता के लिए सतत प्रयास जरूरी, बच्चों पर अभिभावक न डालें दबाव

मैं बच्चों से कहूंगा कि सतत प्रयास करें. सफलता के लिए प्रयास जरूरी है. उन्होंने अभिभावकों से कहा कि वे अपने बच्चों को समय दें. उनके साथ पढ़ाई में जबरदस्ती न करें. वह जो पढ़ना चाहता है, उसे पढ़ने दें. अगर वह साइंस पढ़ना चाहता है, तो उसे साइंस पढ़ने दें. आर्ट्स पढ़ना चाहे, तो उस पर साइंस या कॉमर्स पढ़ने का दबाव न बनाएं.

सफलता के लिए सतत प्रयास जरूरी, बच्चों पर अभिभावक न डालें दबाव

मैं बच्चों से कहूंगा कि सतत प्रयास करें. सफलता के लिए प्रयास जरूरी है. उन्होंने अभिभावकों से कहा कि वे अपने बच्चों को समय दें. उनके साथ पढ़ाई में जबरदस्ती न करें. वह जो पढ़ना चाहता है, उसे पढ़ने दें. अगर वह साइंस पढ़ना चाहता है, तो उसे साइंस पढ़ने दें. आर्ट्स पढ़ना चाहे, तो उस पर साइंस या कॉमर्स पढ़ने का दबाव न बनाएं.

आजकल के बच्चे माता-पिता से करते हैं गलत डिमांड, बोले डॉ रामेश्वर उरांव

झारखंड सरकार के वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि यहां 3 वर्ग के लोग बैठे हैं. एक छात्र, दूसरे छात्रों के अभिभावक और तीसरे आम लोग. अभी रिजल्ट आया है. जिन लोगों ने टॉप किया है, उन्हें बधाई. जो लोग टॉपर नहीं बन पाए, उनको भी बधाई. उन्होंने कहा कि आजकल बच्चे माता-पिता से गलत मांग करते हैं और उन्हें आत्महत्या की धमकी तक देने लगते हैं. यह गलत है. माता-पिता की हैसियत के अनुसार ही उनसे डिमांड कीजिए. मैं अभिभावकों से कहना चाहता हूं कि अधिक नंबर लाना सफलता की कुंजी नहीं है. बच्चों पर इसके लिए दबाव न बनाएं.

बेहतर जीवन के लिए प्रभात खबर पढ़ें, बोले बादल पत्रलेख

झारखंड सरकार के कृषि मंत्री बदल पत्रलेख ने मेधावी स्टूडेंट्स को प्रतिभा सम्मान मिलने पर बधाई दी. साथ ही बच्चों को सलाह दी कि बेहतर जीवन के लिए प्रभात खबर पढ़ें. उन्होंने कहा कि प्रभात खबर सामाजिक दायित्व निभा रहा है. मंत्री ने बच्चों को बुराई से बचने की सलाह दी.

बेहतर जीवन के लिए प्रभात खबर पढ़ें, बोले बादल पत्रलेख

झारखंड सरकार के कृषि मंत्री बदल पत्रलेख ने मेधावी स्टूडेंट्स को प्रतिभा सम्मान मिलने पर बधाई दी. साथ ही बच्चों को सलाह दी कि बेहतर जीवन के लिए प्रभात खबर पढ़ें. उन्होंने कहा कि प्रभात खबर सामाजिक दायित्व निभा रहा है. मंत्री ने बच्चों को बुराई से बचने की सलाह दी.

नशे से दूर रहें बच्चें, किताबें रद्दी में न बेचें, जरूरतमंद को दे दें : संजय सेठ

केंद्रीय मंत्री संजय सेठ ने भारत माता की जय के साथ अपना संबोधन शुरू किया. उन्होंने बच्चों से भी भारत माता की जय और वंदे मातरम् का जयघोष करने के लिए कहा. कहा कि यह बच्चों की प्रतिभा का सार्वजनिक सम्मान है. हमारे समय में 60 प्रतिशत मार्क्स आ जाने से उत्सव होता था. आज के बच्चे बहुत प्रतिभाशाली हैं. 98-99 प्रतिशत नंबर ला रहे हैं. मैं बच्चों को आशीर्वाद देना चाहता हूं. साथ ही मैं उन्हें सलाह देना चाहता हूं कि वे नशे का लत से दूर रहें. नशे के कारोबार को रोकने की जिम्मेदारी पूरे समाज की है. प्रभात खबर इस जिम्मेदारी को निभा रहा है. उन्होंने कहा कि पुरानी किताबें रद्दी में न बेचें. उसे दूसरे जरूरतमंद बच्चों को दें. हमने किताब बैंक शुरू की है. आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों की मदद के लिए. तीन लाख पुस्तकें हमने जमा की हैं. बहुत से बच्चे हमें नोट्स भी देते हैं.

लक्ष्य तय करें और उसी के अनुरूप अपना करियर चुनें : बिपिन सिंह

प्रभात खबर प्रतिभा सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए गोल के डायरेक्टर बिपिन सिंह ने कहा कि लक्ष्य का निर्धारण करें और उसके अनुरूप पढ़ाई करें. अपनी रुचि के अनुसार करियर चुनें, ताकि आपको सफलता मिले. दबाव में या अनमने ढंग से करियर न चुनें.

रमन कुमार झा और बिपिन सिंह ने दी शुभकामनाएं

इक्फाई यूनिवर्सिटी के रमन कुमार झा और गोल के डायरेक्टर बिपिन सिंह ने सम्मान समारोह में शामिल बच्चों को शुभकामनाएं दीं.

जिंदगी में मुकाम हासिल करने की कोशिश करें बच्चे : शैवाल चटर्जी

शारदा यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर शैवाल चटर्जी ने कहा कि बच्चे पूरी कोशिश करें कि आप अपनी जिंदगी में एक मुकाम हासिल करें. कोई भी मुकाम मुश्किल नहीं है. शारदा यूनिवर्सिटी में हम बच्चों को बेहतर करने के लिए प्रेरित करते हैं.

जिंदगी में मुकाम हासिल करने की कोशिश करें बच्चे : शैवाल चटर्जी

शारदा यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर शैवाल चटर्जी ने कहा कि बच्चे पूरी कोशिश करें कि आप अपनी जिंदगी में एक मुकाम हासिल करें. कोई भी मुकाम मुश्किल नहीं है. शारदा यूनिवर्सिटी में हम बच्चों को बेहतर करने के लिए प्रेरित करते हैं.

करियर के हैं कई विकल्प : आरके दत्ता

आरेक दत्ता ने कहा कि करियर के कई विकल्प हैं. केवल मेडिकल और इंजीनियरिंग में ही करियर बने ऐसा नहीं है. कई अन्य विकल्प हैं, उन्हें अपनाएं. जो लोग करियर में ऊंचाई पर जाएंगे, उनसे अनुरोध है कि जब आप सफल व्यक्ति बनें, तो अपने राज्य के लिए कुछ जरूर करें. अपने राज्य के मेधावी बच्चों को प्रोत्साहित करें. उन्होंने कहा कि प्रभात खबर अपने 40वें साल में प्रवेश कर गया है. हम समाज के हर वर्ग के लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए अपराजिता सम्मान, किसान सम्मान, गुरु सम्मान जैसे कार्यक्रम भी करते हैं.

झारखंड से शुरू हुआ प्रतिभा सम्मान : आरके दत्ता

प्रभात खबर के कार्यकारी निदेशक आरके दत्ता ने कहा कि प्रतिभा सम्मान सबसे पहले झारखंड से शुरू हुआ. हम हर साल 7,000 बच्चों को प्रतिभा सम्मान देते हैं, ताकि उन्हें प्रोत्साहन मिले.

टेक्नोलॉजी के नियंत्रित इस्तेमाल पर ध्यान देने की जरूरत : आशुतोष चतुर्वेदी

प्रधान संपादक आशुतोष चतुर्वेदी ने स्वागत भाषण में कहा कि टेक्नोलॉजी पर ज्यादा ध्यान की जरूरत है. मोबाइल फोन का बच्चे बहुत इस्तेमाल कर रहे हैं. वे इसके आदी हो गए हैं. टेक्नोलॉजी के नियंत्रित इस्तेमाल पर ध्यान देने की जरूरत है.

टेक्नोलॉजी के नियंत्रित इस्तेमाल पर ध्यान देने की जरूरत : आशुतोष चतुर्वेदी

प्रधान संपादक आशुतोष चतुर्वेदी ने स्वागत भाषण में कहा कि टेक्नोलॉजी पर ज्यादा ध्यान की जरूरत है. मोबाइल फोन का बच्चे बहुत इस्तेमाल कर रहे हैं. वे इसके आदी हो गए हैं. टेक्नोलॉजी के नियंत्रित इस्तेमाल पर ध्यान देने की जरूरत है.

झारखंड में उच्च शिक्षा के बेहतरीन संस्थान खुलें : आशुतोष चतुर्वेदी

प्रभात खबर के प्रधान संपादक आशुतोष चतुर्वेदी ने बच्चों एवं अभिभावकों को संबोधित करते हुए कहा कि 10वीं एवं 12वीं की परीक्षा किसी भी व्यक्ति के जीवन का अहम हिस्सा है. इसमें आप बच्चों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है. आपको भविष्य के लिए शुभकामनाएं. उन्होंने यह भी कहा कि प्रतिभा सम्मान आपके भविष्य‌ के लिए बहुत खास है. कहा कि हिंदी पट्टी में शिक्षा पर बहुत ध्यान नहीं दिया गया. जरूरत इस बात की है कि उच्च शिक्षा के लिए बेहतरीन संस्थान इस राज्य में हों. आज यहां तीन मंत्री मौजूद हैं, इसलिए मैं यह बात कह रहा हूं. उन्होंने कहा कि कई स्कूलों के प्रिसिंपल इस हॉल में मौजूद हैं. उन्हें भी इस पर ध्यान देना चाहिए.

रक्षा राज्यमंत्री संजय सेठ और झारखंड के 2 मंत्री पहुंचे

प्रभात खबर प्रतिभा सम्मान समारोह शुरू हो चुका है. रक्षा राज्यमंत्री संजय सेठ, झारखंड सरकार के वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव और कृषि मंत्री बादल पत्र लेख पहुंच गए हैं. बड़ी संख्या में अभिभावक और बच्चे भी पहुंचे हैं. प्रभात खबर के प्रधान संपादक ने अपने भाषण की शुरुआत जोहार से की. उन्होंने कहा कि डॉ रामेश्वर उरांव से हमें टाइम मैनेजमेंट सीखना चाहिए. बादल पत्रलेख की भी उन्होंने तारीफ की. साथ ही केंद्रीय मंत्री संजय सेठ का धन्यवाद किया कि वे अपन व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद बच्चों का हौसला बढ़ाने के लिए प्रतिभा सम्मान में शामिल होने पहुंचे.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें