1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. national health mission cm hemant soren helpline number 104 became lifeline in corona epidemic nearly three lakh people got help in jharkhand interactive voice response ivr sms video call for medical consultation grj

Coronavirus In Jharkhand : कोरोना महामारी में लाइफलाइन बना हेल्पलाइन नंबर, झारखंड में करीब तीन लाख लोगों को मिली मदद

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Coronavirus In Jharkhand : हेल्पलाइन नंबर से लोगों को मिली मदद
Coronavirus In Jharkhand : हेल्पलाइन नंबर से लोगों को मिली मदद
सोशल मीडिया

Coronavirus In Jharkhand,रांची न्यूज : कोरोना महामारी के मद्देनजर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के निर्देश पर शुरू किये गये हेल्पलाइन नंबर ने लोगों के लिए लाइफलाइन की तरह काम किया. इस दौरान हेल्पलाइन नंबर 104 के अलावा अन्य हेल्पलाइन सेवाएं मरीजों एवं उनके परिजनों तक पहुंचाने में सहायक बनीं. बड़ी संख्या में मरीजों ने इन नंबरों पर फोन कर सहायता मांगी और इन्हें सरकार की ओर से सकारात्मक सहयोग मिला. इसके अतिरिक्त होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को भी हेल्पलाइन नम्बरों से काफी मदद मिली.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से मिले आंकड़ों (25 मई तक) के अनुसार राज्य में 10 हजार से अधिक मरीज होम आइसोलेशन में हैं. 1151 से अधिक मरीज अस्पताल में थे. सरकार द्वारा जारी सभी हेल्पलाइन नम्बरों के पास कोरोना से संबंधित पूछताछ करनेवाले 1,06,408 लोगों की सूची उपलब्ध थी. इन लोगों तक चिकित्सा से संबंधित जरूरी सूचनाएं पहुंचाई गईं. सरकार की ओर से कई एजेंसियां मरीजों को फोन पर सूचनाएं पहुंचा रही थीं. उनमें 104 नंबर हेल्पलाइन से 14,493 तो अन्य हेल्पलाइन नम्बरों से लोगों को सूचना देने के लिए किए गए कुल कॉल की संख्या 2,86,726 से अधिक रही.

मरीजों की ओर से बड़ी संख्या में हेल्पलाइन नंबरों पर फोन कर जानकारी मांगी गई. उन्हें फोन पर जरूरी सूचनाएं और सहायता उपलब्ध कराई गई. सुरक्षा पोर्टल में कोरोना से संबंधित जानकारियों के लिए 45, 802 से अधिक एंट्री दर्ज हुई. सरकार के द्वारा होम आइसोलेशन में रहने वाले 1,77,665 से अधिक लोगों तक मेडिकल किट उपलब्ध कराने के लक्ष्य के खिलाफ 91,442 होम आइसोलेशन किट का वितरण लोगों के बीच किया जा चुका है.

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार द्वारा उपलब्ध सेवाओं के तहत लोगों को वीडियो कॉल करने की भी सुविधा दी गई. रांची मुख्यालय में 6646 से अधिक मरीजों ने वीडियो कॉल से जरूरी चिकित्सकीय जानकारी हासिल की. वहीं जिला स्तर पर भी 19,032 से अधिक लोगों ने वीडियो कॉल कर जरूरी जानकारी प्राप्त की. इसके लिए 35 चिकित्सकों ने वीडियो कॉल से लोगों को चिकित्सकीय परामर्श दिया. लोगों को जानकारी उपलब्ध कराने के लिए एसएमएस का भी सहारा लिया गया. 57,575 से अधिक एसएमएस लोगों के मोबाइल पर भेजे गए. साथ ही 3,14,943 इंटरएक्टिव वायस रिस्पांस (आईवीआर) का उपयोग कर लोगों को जानकारी दी गई.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें