1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. mla saryu rai wrote a letter to jharkhand cm hemant soren investigate the expenses incurred on jharkhand foundation day 2016 the troubles of former cm raghubar das will increase grj

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन को विधायक सरयू राय ने लिखा पत्र, झारखंड स्थापना दिवस पर हुए खर्च की कराएं जांच, पूर्व सीएम रघुवर दास की बढ़ेंगी मुश्किलें

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 Jharkhand News : सरयू राय ने सीएम हेमंत सोरेन को लिखा पत्र
Jharkhand News : सरयू राय ने सीएम हेमंत सोरेन को लिखा पत्र
फाइल फोटो

Jharkhand News, रांची न्यूज : झारखंड के पूर्व मंत्री व जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय विधायक सरयू राय ने कहा कि वर्ष 2016 के स्थापना दिवस के मौके पर हुए खर्च में भारी वित्तीय अनियमितता हुई है़ स्कूली बच्चों के बीच प्रभात फेरी में पांच करोड़ की टी-शर्ट और 35 लाख रुपये की टॉफी की खरीद हुई थी़ एक दिन के कार्यक्रम के लिए 15-20 करोड़ रुपये से अधिक की राशि खर्च करने और इसके लिए एजेंसियों का चयन मनोनयन के आधार पर करने के पीछे की साजिश की जांच जरूरी है़ आपको बता दें कि यह मामला झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास से जुड़ा हुआ है़ इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को उन्होंने पत्र लिखा है.

जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय विधायक सरयू राय ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है कि पूरे मामले की जांच भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो, विधान सभा की समिति अथवा किसी अन्य बाह्य एजेंसी से कराये जाने की आवश्यकता है़ उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र भेज कर कहा है कि विधानसभा में सरकार ने स्वीकार किया है कि स्थापना दिवस के मौके पर पांच करोड़ की टी-शर्ट और 35 लाख रुपये की टॉफी की खरीद हुई थी़ स्थापना दिवस 2016 के अवसर पर केवल टॉफी और टी-शर्ट की खरीद व आपूर्ति में ही भ्रष्टाचार नहीं हुआ है़ दूसरे मदों में भी घपला हुआ है़ सुनिधि चौहान नामक गायिका के सांस्कृतिक कार्यक्रम पर करीब 55 लाख रुपये से अधिक का व्यय सरकार द्वारा दिखाया गया है. श्री राय ने मुख्यमंत्री को स्थापना दिवस कार्यक्रम को लेकर सरकार की तैयारी का पूरा ब्योरा दिया है.

उन्होंने बताया कि 24 दिन पहले तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास की अध्यक्षता में हुई बैठक में राज्य के सभी मध्य विद्यालय के बच्चों को टी-शर्ट व मिठाई का पैकेट बांटने का फैसला लिया गया था. आपूर्तिकर्ता का चयन मनोनयन के आधार पर करने के लिए नियम शिथिल किये गये थे. इसके लिए 10 करोड़ अग्रिम राशि निकालने का फैसला लिया गया था और तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास ने हस्ताक्षर किये थे. विधायक श्री राय ने पूरे मामले में बरती गयी अनियमितता की पूरी जानकारी मुख्यमंत्री को पत्र में दी है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें