26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Jharkhand Weather: 45 मिनट की बारिश में रांची जलमग्न, सड़कों पर बहने लगा नाली का काला पानी, जानें मानसून कब पहुंचेगा झारखंड

Jharkhand Weather: महज 45 मिनट की बारिश में झारखंड की राजधानी रांची जलमग्न हो गई. सड़कों पर काला पानी बहने लगा. जानें झारखंड कब पहुंच रहा है मानसून.

Table of Contents

Jharkhand Weather: झारखंड की राजधानी रांची में 45 मिनट की झमाझम बारिश से मौसम तो सुहाना हो गया, लेकिन जाम नालियों के कारण शहर की सड़कें जलमग्न हो गयीं. बारिश का पानी सड़क से होते हुए नाले में तो गया, लेकिन थोड़ी ही देर में पानी नाले को ओवरफ्लो करते हुए वापस सड़क पर बहने लगा. इस बीच मौसम विभाग ने कहा है कि 13 से 18 जून के बीच मानसून झारखंड पहुंच सकता है.

Jharkhand Weather: पलामू प्रमंडल का डालटेनगंज सबसे गर्म

एक घंटा तक शहर की सड़कों पर नाली का काला पानी बहता रहा. हालांकि, जब बारिश कम हुई, तो सड़कों से जलजमाव खत्म हो गया. लेकिन नाली से निकली गंदगी सड़कों पर पसरी रही. बता दें कि झारखंड के कई हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ रही है. पलामू प्रमंडल का डालटेनगंज सबसे अधिक गर्म रहा. यहां का तापमान 43 डिग्री सेसि पार हो गया.

45 मिनट में रांची में हुई 25 मिलीमीटर वर्षा

राजधानी रांची में 25 मिमी के आसपास बारिश हुई. भारत मौसम विज्ञान केंद्र (आईएमडी) के रांची स्थित मौसम केंद्र का पूर्वानुमान है कि संताल परगना और पलामू प्रमंडल में अभी एक-दो दिनों तक भीषण गर्मी पड़ती रहेगी. वहीं, राजधानी और आसपास के लोगों को फिलहाल गर्मी से राहत मिलेगी.

21 मई तक इन 8 जिलों में HEAT WAVE का येलो अलर्ट

मौसम केंद्र की ओर से कहा गया है कि 20-21 मई को गढ़वा, पलामू, देवघर, जामताड़ा, दुमका, गोड्डा, पाकुड़ और साहिबगंज में हीट वेव (लू) चल सकता है. इसको लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है.

झारखंड के दक्षिणी तथा मध्य हिस्से में गरज के साथ होगी बारिश

झारखंड के पूर्वी, दक्षिणी तथा मध्य हिस्से में कहीं-कहीं गर्जन के साथ बारिश हो सकती है. इससे 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से कहीं-कहीं हवा चल सकती है. राजधानी में 25 मई तक आंशिक बादल छाये रहेंगे. मेघ गर्जन के साथ बारिश का भी अनुमान है.

कांटाटोली-बहू बाजार मार्ग में नदी सा नजारा

भारी बारिश के कारण कांटाटोली-बहू बाजार मार्ग में पेट्रोल पंप के समीप सड़क का नजारा नदी जैसा हो गया था. फ्लाइओवर निर्माण के कारण यहां एक साइड का नाला बंद है. इस कारण बारिश का पानी सड़क पर ही बह रहा था. पानी की रफ्तार यहां इतनी अधिक थी कि वाहन चालकों को यहां से वाहन लेकर गुजरने में परेशानी हो रही थी.

बकरी बाजार दुर्गा मंदिर में घुसा बारिश का पानी

बकरी बाजार दुर्गा मंदिर भी बारिश के पानी से सराबोर हो गया. निचले इलाके में बने होने व नाली जाम होने के कारण बारिश का पानी यहां जम गया था. मंदिर में घुसे इस पानी को निकालने के लिए स्थानीय लोग जुटे थे. लेकिन देर रात तक पानी निकाला नहीं जा सका था.

रातू रोड कब्रिस्तान के समीप धीरे-धीरे गुजर रहे थे वाहन

बारिश से रातू रोड कब्रिस्तान के समीप भारी जलजमाव हो गया था. इस जलजमाव के कारण वाहन चालक धीरे-धीरे वहां से गुजर रहे थे. यहां भी सड़क पर नाली का गंदा पानी बह रहा था.

क्लब रोड में सड़क पर आया कचरा

बारिश के कारण क्लब रोड में नाली का गंदा पानी आकर थम गया. एक घंटा तक बारिश का यह पानी सड़कों पर ही जमा रहा. हालांकि बारिश कम होने के बाद पानी नाले से निकल गया. लेकिन कचरा सड़क पर ही पसरा रहा.

सेवा सदन पथ हुआ जलमग्न, वाहनों के चक्के थमे

भारी बारिश से सेवा सदन पथ पूरी तरह जलमग्न हो गया था. यहां पता ही नहीं चल रहा था कि सड़क कहां है और नाली कहां है. नतीजतन दो पहिया वाहन चालक रुककर यहां बारिश के पानी का कम होने का इंतजार कर रहे थे. वहीं चार पहिया वाहन लेकर लोग इस काले पानी से होकर गुजर रहे थे.

निवारणपुर में कलकल करते हुए बह रहा था पानी

बारिश का पानी नाली से निकलकर ओवरब्रिज स्थित निवारणपुर की सड़कों पर भी कलकल करता बह रहा था. तेज बहाव के कारण कई दुकानदारों के प्लास्टिक के सामान बह गये.

वाहनों के चक्के डूबे

जलजमाव के कारण जयपाल सिंह स्टेडियम के समीप खड़े वाहनों के चक्के डूब गये थे. यहां इतना ज्यादा पानी जमा हो गया था कि दो पहिया वाहनों के साइलेंसर में पानी घुस जा रहा था. नतीजतन लोग अपने वाहन को यहां से धकेल कर पार कर रहे थे.

बारिश से एयरपोर्ट टर्मिनल के सामने जलजमाव

राजधानी रांची में रविवार दोपहर बाद हुई तेज बारिश के कारण एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग के बाहर जलजमाव हो गया. इस कारण यात्रियों को काफी परेशानी हुई. एयरपोर्ट पहुंचे यात्री टर्मिनल बिल्डिंग के बाहर जलजमाव के कारण भीग कर अंदर गये.

टर्मिनल बिल्डिंग से निकलने वाले यात्री भींगकर वाहन तक पहुंचे

वहीं टर्मिनल बिल्डिंग से बाहर निकलने वाले यात्री भी भीग कर अपने वाहन तक पहुंचे. यात्रियों का कहना था कि ड्रेनेज से पानी की निकासी समुचित ढंग से नहीं होने के कारण यात्रियों को पानी में चल कर अपने वाहन तक पहुंचना पड़ा. इससे उनके ट्रॉली बैग, जूते भीग गये.

लाइन टैंक रोड का भी हाल बेहाल

बारिश के कारण लाइन टैंक रोड भी तालाब बना हुआ था. सड़क पर अत्यधिक पानी जमा होने के कारण स्कूटी के साइलेंसर में बारिश का पानी चला जा रहा था. इससे लोग काफी परेशान रहे.

नाला रोड में तेज रफ्तार से बह रहा था पानी

नाली जाम रहने के कारण हिंदपीढ़ी नाला रोड में सड़क पर बारिश का पानी तेज रफ्तार में बह रहा था. इस कारण लोग अपने घरों के बच्चों को बाहर नहीं जाने दे रहे थे. मालूम हो कि तीन साल पहले इसी नाला रोड के नाले में पलक नामक बच्ची बह गयी थी. इसके बाद नाले को जगह-जगह लोहे की जाली से ढंक दिया गया था. लेकिन आज अधिकतर जाली सड़ गये हैं. जो बचे हुए हैं, उन्हें कूड़ा चुनने वाले समय-समय पर आकर उठाकर ले जाते हैं.

युद्ध स्तर पर सफाई कराये निगम : सिटीजन फोरम

आधे घंटे की इस बारिश से बदहाल हुए हालात पर सिटीजन फोरम के अध्यक्ष दीपेश निराला ने प्रशासक से मांग की है कि मानसून से पहले युद्ध स्तर पर नालियों की सफाई की जाये. अगर इस दिशा में निगम ने कदम नहीं उठाया, तो भारी बारिश होने पर शहर के लोग घरों में कैद हो जाने को विवश होंगे.

कई इलाकों में 3 से 4 घंटों तक कटी रही बिजली

रांची में हुई बारिश और थंडरिंग के कारण कई क्षेत्रों की बिजली आपूर्ति प्रभावित हो गयी. दोपहर दो बजे हुई तेज बारिश के कारण शहर के कई इलाकों में लोकल फॉल्ट के चलते शाम सात बजे तक कई इलाकों में बिजली गुल रही.

कई जगहों पर बिजली आपूर्ति व्यवस्था में खराबी आने की सूचना पर लोकल फॉल्ट दूर करने के लिए पेट्रोलिंग कर आपूर्ति सामान्य करने का प्रयास किया जा रहा था. इसके चलते सबस्टेशनों से डिमांड में काफी देर तक कमी बनी रही. कई इलाकों में आपूर्ति लाइन पर पेड़ और टहनियों के गिरने से बिजली आपूर्ति बाधित हो गयी.

हाई वोल्टेज लाइन में आयी खराबी

33 केवीए ब्रांबे और 33 केवीए सिरडो से काफी देर तक बिजली आपूर्ति बंद रही. बताया गया कि तेज बारिश से लोकल फॉल्ट आने के कारण आपूर्ति बाधित रही. इसके बाद बिजली बहाल होने पर कई क्षेत्रों में छोटे-छोटे फॉल्ट के कारण बिजली गुल रही.

सुरक्षा के लिए रांची के कई इलाकों में बंद की गई बिजली

मूसलाधार बारिश के कारण रांची के कई इलाकों में सुरक्षात्मक कारणों से बिजली बंद कर दी गयी. परंतु कई डिविजन में बारिश के दौरान बिजली के आने-जाने का सिलसिला जारी रहा. रांची सेंट्रल डिविजन में दो जगहों पर फ्यूज उड़ने की शिकायत आयी और ब्रांबे में एक जगह जंफर कटने की शिकायत आयी.

इन इलाकों में काफी देर तक कटी रही बिजली

कोकर रूलर से जुड़े सकुर्लर रोड का इलाका, डंगराटोली, लालपुर, वर्धमान कंपाउंड, कडरू, मणिटोला डोरंडा, फिरदौस नगर, हिंदपीढ़ी, पुंदाग, जोहारनगर, बहुबाजार, चुटिया, कृष्णापुरी, सेक्टर टू, धुर्वा, रिंग रोड का क्षेत्र, ओरमांझी, ब्रांबे सहित रिंग रोड से सटे कांके क्षेत्र के अन्य इलाके.

इसे भी पढ़ें

Jharkhand Weather: बदला मौसम, रांची को गर्मी से मिली राहत, झारखंड में 24 तक बारिश के आसार

आने वाले 4 दिनों तक कैसा रहेगा झारखंड का मौसम, कहां होगी बारिश, कितना बढ़ेगा तापमान, पढ़ें IMD अपडेट

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें