1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand weather forecast temperature may go below 5 degrees in 10 districts imd has given special advice srn

झारखंड के 10 जिलों में 5 डिग्री से नीचे जा सकता है पारा, मौसम विभाग ने दी है इन जिलों को विशेष सलाह

पिछले कई दिनों से झारखंड में ठंड बढ़ गयी है और अगले 4 से 5 दिनों में अभी ठंड और बढ़ेगी. मौसम विभाग ने रांची गुमला समेत 10 जिलों को विशेष सलाह दी है. जिसमें उन्होंने बच्चों और बूढों को ठंड से बचने की सलाह दी है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
झारखंड के 10 जिलों में 5 डिग्री से नीचे जा सकता है पारा
झारखंड के 10 जिलों में 5 डिग्री से नीचे जा सकता है पारा
फाइल फोटो

रांची : पिछले तीन-चार दिनों से झारखंड के करीब-करीब सभी जिलों में ठंड असर दिखा रहा है. ऐसा पहाड़ों की ओर से आनेवाली बर्फीली हवा के कारण हो रहा है. पहाड़ों में पिछले कई दिनों से बर्फबारी हो रही है. मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अगले चार-पांच दिनों तक ठंड से राहत की उम्मीद नहीं है.

हवा की गति सामान्य से तेज है, जिससे ठंड का अहसास ज्यादा हो रहा है. मौसम विभाग ने पूर्वानुमान किया है कि सोमवार को राजधानी सहित राज्य के 10 जिलों का न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेसि या नीचे भी हो सकता है. शेष जिलों का न्यूनतम तापमान सात से आठ डिग्री सेसि के बीच हो सकता है.

तीन-चार दिनों तक राहत की उम्मीद नहीं :

राजधानी से 65 किलोमीटर दूरी पर बसा एंग्लो इंडियन गांव मैक्लुस्कीगंज में ठंड ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है. रविवार को मैक्लुस्कीगंज का न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस रहा. जबकि रांची का न्यूनतम तापमान 7.6 डिग्री सेसि रिकॉर्ड किया गया. वहीं कांके का न्यूनतम तापमान 4.3 डिग्री सेसि रिकॉर्ड किया. मौसम विभाग ने कहा है कि गढ़वा, पलामू, लातेहार, चतरा, कोडरमा, हजारीबाग, रामगढ़, रांची, गुमला और खूंटी में तापमान ज्यादा गिरेगा. यहां के लोगों को ठंड से बचने की सलाह दी गयी है.

बच्चों और बुजुर्गों का रखें खास ख्याल

ठंड के मौसम में हल्की लापरवाही बड़ी परेशानी में डाल देती है. इस मौसम में बच्चों को निमोनिया होने का खतरा रहता है. वहीं बुजुर्गों की परेशानी भी बढ़ जाती है. ऐसे में बच्चों और बुजुर्गों का खास ख्याल रखना चाहिए. तापमान में गिरावट और ठंड बढ़ने पर दिनचर्या में बदलाव कर लेना चाहिए. सुबह आैर शाम वुलेन कपड़ा पहनना चाहिए. मोजा, टोपी या मफलर भी पहन कर रहें. गर्म खाद्य पदार्थ और गुनगुना पानी का सेवन करना चाहिए. बीपी, हार्ट, अस्थमा और डायबिटीज के मरीजों को दवा नहीं छोड़नी चाहिए.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें