1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand naxal news fir on 121 including naxal sudhakaran a prize of 1 crore was hatched to carry out this big crime srn

Jharkhand Naxal News : 1 करोड़ का इनामी नक्सली सुधाकरण समेत 121 पर प्राथमिकी, इस बड़े वारदात अंजाम देने के लिए रची थी साजिश

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Jharkhand Crime News :1 करोड़ का इनामी नक्सली सुधाकरण समेत 121 पर प्राथमिकी
Jharkhand Crime News :1 करोड़ का इनामी नक्सली सुधाकरण समेत 121 पर प्राथमिकी
फाइल फोटो

Jharkhand News, Ranchi News, Naxal News Today रांची : माओवादी पोलित ब्यूरो के सदस्य सुधाकरण व उसकी पत्नी नीलिमा तेलंगाना में सरेंडर करने के बाद से आराम की जिंदगी काट रहे थे. लेकिन अब इनकी परेशानी बढ़नेवाली है. नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआइए) ने इस दंपती व इनसे जुड़े नक्सलियों पर शिकंजा कसने के लिए प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. जांच रांची स्थित एनआइए ब्रांच कर रही है.

मामला लातेहार के गारू थाना क्षेत्र के रूप पंचायत स्थित जंगल से जुड़ा है. एजेंसी ने लातेहार के गारू थाना के केस 32/2017 व एनआइए की ओर से पूर्व में दर्ज किये गये केस आरसी 14/2017 की जांच में गारू जंगल में सुधाकरण की ओर से 100 नक्सलियों के साथ बड़े वारदात को अंजाम देने की साजिश रचने की बात सामने आने के बाद केस संख्या आरसी 03/2021 दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गयी है.

इसमें सुधाकरण, उसकी पत्नी नीलिमा, प्रभु साव, बलराम उरांव, छोटू खेरवार, प्रदीप चेरो, नीरज, रवींद्र गंझू, मृत्युंजय, मनोज सिंह व विश्राम उरांव को नामजद समेत 110 अज्ञात नक्सलियों को आरोपी बनाया गया है. यह केस आइपीसी की धारा 120-इ, आर्म्स एक्ट, 17 सीएलए व यूएपीए एक्ट के तहत दर्ज किया गया है.

फरवरी 2019 में पत्नी नीलिमा के साथ सुधाकरण ने तेलंगाना में किया था सरेंडर

झारखंड सरकार ने रखा था एक करोड़ का इनाम

ज्ञात हो कि माओवादी पोलित ब्यूरो के सदस्यसुधाकरण और नीलिमा रेड्डी ने 12 फरवरी 2019 को तेलंगाना पुलिस के समक्ष सरेंडर किया था. उस वक्त सुधाकरण पर झारखंड सरकार ने एक करोड़ और तेलंगाना ने 25 लाख का इनाम रखा था. इससे पूर्व 30 अगस्त 2017 को 25 लाख रुपये नकद व 457 किलो सोना के साथ सुधाकरण के भाई बी नारायण रेड्डी और उसके सहयोगी सत्यनारायण रेड्डी को चुटिया (रांची) में पुलिस ने पकड़ा था. बाद में एनआइए ने केस को टेकओवर किया था.

गुमला के बिशुनपुर निवासी गिरफ्तार नक्सली प्रभु साव ने एनआइए को पूछताछ में बताया था कि सुधाकरण ने लातेहार जिला के गारू थाना क्षेत्र के रूप पंचायत के जंगल में बड़ी घटना को अंजाम देने केे लिए योजना बनायी थी. प्रभु के बयान के आधार पर रुद्रा गांव के जंगल में छापेमारी कर एनआइए ने एसएलआर की 13 राउंड कारतूस समेत अन्य सामान की बरामदगी की थी.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें