1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand coronavirus update new kit required for accurate examination of new strains of corona that thrive in britain srn

jharkhand coronavirus update : ब्रिटेन में पनपे कोरोना के नये स्ट्रेन की सटीक जांच के लिए नया किट जरूरी, अभी इस किट से हो रही है जांच

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
नये स्ट्रेन की जांच के लिए आरटीपीसीआर के नये किट की जरूरत पड़ सकती है.
नये स्ट्रेन की जांच के लिए आरटीपीसीआर के नये किट की जरूरत पड़ सकती है.
प्रतीकात्मक तस्वीर

रांची : ब्रिटेन में पनपे कोरोना वायरस के नये स्ट्रेन (म्यूटेंट) ने पूरे देश समेत झारखंड के स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है. वायरस के इस नये स्ट्रेन को लेकर माइक्रोबायोलॉजिस्ट चिंतित हैं, क्योंकि नये स्ट्रेन की जांच के लिए आरटीपीसीआर के नये किट की जरूरत पड़ सकती है. अभी आरटीपीसीआर की थ्री जीन किट से इसकी जांच हो रही है.

विशेषज्ञ बता रहे हैं कि थ्री जीन किट का उपयोग करनेवाले लैब में वायरस के नये स्ट्रेन को पकड़ा जा सकता है, पर इसकी सटीक जांच के लिए नये किट की जरूरत पड़ेगी. टू जीन की आरटीपीसीआर जांच में वायरस के नये स्ट्रेन को नहीं पकड़ा जा सकता है.

अभी थ्री जीन किट से हो रही जांच

ब्रिटेन से भारत आनेवाले सभी लोगों की आरटीपीसीआर की थ्री जीन किट से जांच की जा रही है. राहत की बात यह है कि अभी तक झारखंड में ब्रिटेन से आये किसी भी व्यक्ति में संक्रमण नहीं मिला है.

घबराने की जरूरत नहीं, एनआइवी कर रहा है शोध

भारत में उपलब्ध वर्तमान किट दो व तीन जीनवाले हैं. इनमें इंवेलप जीन, एन-जीन व आरडीआरपी जीन की पहचान की क्षमता होती है. टू जीन किट में वायरस के दो ही जीन की पहचान हो सकती है. थ्री-जीन किट में तीनों जीन की पहचान हो सकती है. ब्रिटेन में पनपे वायरस के नये स्ट्रेन की पहचान थ्री-जीन किट से संभव है.

डॉ पूजा सहाय, मेडिका, माइक्रोबायाेलॉजिस्ट

ब्रिटेन में पनपे कोरोना के नये स्ट्रेन की जांच एनआइवी में चल रही है. म्यूटेंट की पहचान की जा रही है. यह पता किया जा रहा है कि क्या इसकी पहचान के लिए आरटीपीसीआर के नये किट की जरूरत पड़ सकती है? हालांकि वर्तमान थ्री जीन किट भी वायरस की पहचान करने में सक्षम है.

डॉ सीमा, माइक्रोबायोलॉजिस्ट, रिम्स

इंग्लैंड से 32 लोग पहुंचे झारखंड

इंग्लैंड से सात दिसंबर के बाद से 32 लोग झारखंड आये हैं. ये लोग रांची, जमशेदपुर, धनबाद, हजारीबाग, देवघर, जामताड़ा व बोकारो जिलों के रहनेवाले हैं. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ नितिन कुलकर्णी ने बताया कि 23 से 25 दिसंबर तक उक्त जिलों के उपायुक्त को इन सबकी कोरोना की आरटीपीसीआर जांच कराने का निर्देश दिया गया था.

सबकी जांच हो चुकी है. सारे लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आयी है. हालांकि ये सभी लोग और उनके परिवार के सदस्य होम आइसोलेशन में ही रहेंगे. उपायुक्तों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है. गौरतलब है कि इंग्लैंड में कोविड वायरस के नये किस्म का आगाज हुआ है. सचिव ने इस विषय पर अत्यधिक सतर्कता बरतने का निर्देश भी दिया है.

दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (डीडीएमए) के स्पेशल सीइओ केएस मीणा ने सभी राज्यों के मुख्य सचिव को पत्र भेजकर इंग्लैंड से आनेवाले लोगों की सूची भेजी है. उन्हें सर्विलांस में रखने का आग्रह भी किया गया है. इंग्लैंड से झारखंड लौटे उक्त लोगों की भी सूची भेजी गयी थी .

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें