30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

सीएम हेमंत सोरेन के प्रेस सलाहकार पिंटू और साहिबगंज डीसी समेत तीन को ईडी का समन, जानें क्या है मामला

ईडी ने सीएम हेमंत सोरेन के प्रेस सलाहकार अभिषेक प्रसाद उर्फ पिंटू, साहिबगंज डीसी रामनिवास यादव और आर्किटेक्ट विनोद सिंह को समन भेजा है. ईडी ने इन्हें अलग-अलग समय पर हाजिर होने का निर्देश दिया है.

ED Action in Jharkhand: झारखंड में ईडी की कार्रवाई जारी है. ताबड़तोड़ छापेमारी के बाद ईडी ने अब मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रेस सलाहकार अभिषेक प्रसाद उर्फ पिंटू, साहिबगंज डीसी रामनिवास यादव और आर्किटेक्ट विनोद सिंह को समन भेजा है. मामला अवैध खनन से जुड़ा है. इसी मामले में पूछताछ के लिए ईडी ने साहिबगंज डीसी को 11 जनवरी, विनोद सिंह को 15 जनवरी और सीएम के प्रेस सलाहकार अभिषेक प्रसाद उर्फ पिंटू को 16 जनवरी को ईडी ऑफिस में हाजिर होने को कहा है. इससे पहले ईडी इनके ठिकानों पर छापेमारी कर चुकी है. 3 जनवरी की अहले सुबह अवैध खनन मामले में ईडी ने झारखंड में कई ठिकानों पर दबिश दी थी. केवल राजधानी रांची के ही करीब आधा दर्जन ठिकानों पर ईडी ने छापा मारा था. रांची में रातू स्थित अभिषेक प्रसाद उर्फ पिंटू के आवास और विनोद सिंह के ठिकानों पर छापेमारी की गई. अभिषेक प्रसाद उर्फ पिंटू सीएम के प्रेस सलाहकार हैं. वहीं विनोद सिंह ग्रिड आर्किटेक्ट के मालिक हैं. इसके अलावा साहिबगंज डीसी रामनिवास यादव के आवासीय कार्यालय और हजारीबाग स्थित आवास पर भी ईडी ने छापेमारी की थी.

साहिबगंज डीसी के घर से मिली थीं 21 गोलियां

तीन जनवरी को हुई छापेमारी के दौरान साहिबगंज डीसी के घर से विभिन्न प्रकार की कुल 21 गोलियां और पांच खोखे मिले. वहीं, 36.99 लाख रुपये नकद जब्त किये गये. अब तक हुई जांच के दौरान साहिबगंज में 23.26 करोड़ घनफुट पत्थर के अवैध खनन की पुष्टि हुई है. अवैध खनन से निकाले गये इन पत्थरों का बाजार मूल्य 1250 करोड़ रुपये है. ईडी की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि साहिबगंज उपायुक्त के घर से मिलीं 21 में से 19 गोलियां 9 एमएम की हैं. वहीं, दो गोली .380 बोर की है. इसके अलावा .45 बोर के पिस्टल की पांच खाली गोली (खोखा) मिली है. ईडी ने जांच के दौरान पंकज मिश्रा को साहिबगंज में अवैध खनन के किंग पिन के रूप में चिह्नित किया है.

अवैध खनन मामले में अब तक 51 जगहों पर छापेमारी 

साहिबगंज में अवैध खनन के सिलसिले में ईडी ने अब तक कुल 51 जगहों पर छापेमारी की है. तीन जनवरी को इनमें से 12 ठिकानों पर छापेमारी की गई थी. छापेमारी के दायरे में साहिबगंज के उपायुक्त राम निवास यादव, डीएसपी राजेंद्र दुबे, मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार पिंटू सहित अन्य लोगों को शामिल किया गया था. इडी ने उक्त छापेमारी हाइकोर्ट के आदेश पर सीबीआइ द्वारा दर्ज की गयी प्राथमिकी के आलोक में की. इडी ने साहिबगंज में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ संयुक्त रूप से जांच की थी. इसमें बड़े पैमाने पर अवैध खनन की पुष्टि हुई.

साहिबगंज डीसी ने ईडी अधिकारी पर की रोब जमाने की कोशिश

‘मैं आइपीएस अफसर रहा हूं, मुझे कानून मत सिखाओ.’ तीन जनवरी को छापेमारी और पूछताछ के दौरान साहिबगंज डीसी राम निवास यादव ने ईडी के अधिकारी द्वारा पूछे सवाल के जवाब में तुनकते हुए ये बातें कही थीं. छापा मारने पहुंची ईडी के अफसर पर भी रोब जमाने की कोशिश की. हालांकि, ऑफिस से नकद और प्रतिबंधित हथियारों की गोलियां मिलने के बाद डीसी पस्त पड़ गये. मालूम हो कि अवैध खनन के सिलसिले में साहिबगंज डीसी राम निवास यादव से ईडी ने कई बार पूछताछ की है. 11 जनवरी एक बार फिर ईडी साहिबगंज डीसी से पूछताछ करेगी.

Also Read: झारखंड में ईडी की बड़ी कार्रवाई, सीएम हेमंत सोरेन के मीडिया सलाहकार पिंटू समेत कई करीबियों के ठिकानों पर रेड

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें