1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. cm hemant took stock of kovid 19 hospital in rims said 100 beds are ready all suspects should be investigated

रिम्स में कोविड-19 अस्पताल की तैयारी सीएम हेमंत ने लिया जायजा, कहा- 100 बेड तैयार हैं, सभी संदिग्ध की हो जांच

By Pritish Sahay
Updated Date
Hemant Soren
Hemant Soren
prabhat Khabar

रांची : कोरोना वायरस के लिए रिम्स में तैयार कोविड-19 अस्पताल का रविवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने निरीक्षण किया. शाम पांच बजे मुख्यमंत्री ट्रॉमा सेंटर पहुंचे. उनके साथ स्वास्थ्य सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी सहित रिम्स निदेशक डॉ दिनेश कुमार सिंह, अधीक्षक डॉ विवेक कश्यप व टॉस्क फोर्स की पूरी टीम शामिल थी.

मुख्यमंत्री ने ग्राउंड फ्लोर, प्रथम तल्ला और द्वितीय तल्ला पर बनाये गये वार्ड काे देखा. वहां की व्यवस्था के बारे में जानकारी ली. करीब आधा घंटा तक निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत साेरेन ने बताया कि सरकार कोरोना वायरस से राज्य के लोगों को बचाने के लिए कटिबद्ध है. रिम्स में 100 बेड तैयार हैं. राज्य में ऐसे 1000 बेड की व्यवस्था करनी है. तत्काल अगर ऐसी व्यवस्था करनी पड़ी, तो हमें तैयार रहना होगा.

मीडिया के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जो जहां है, वहीं रहे, इसकी सख्त हिदायत है. राज्य और देश में कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहां 24 घंटे सेवा दी जा रही है. समस्या का समाधान किया जा रहा है. कोरोना आकस्मिक आपदा है, इसलिए तैयारी करनी पड़ती है. कोरोना वायरस के आनेवाले सभी संदिग्ध की जांच करायी जाये. इलाज की जरूरत पड़ने पर सुविधा उपलब्ध करायें. मीडिया के माध्यम से उन्हाेंने अपील की कि कोई राज्य से बाहर नहीं जाये. स्पष्ट निर्देश है, जो जहां पर काम कर रहा है, जहां रह रहा है, वहां अगर परेशान किया जा रहा है तो शिकायत करे. कार्रवाई की जायेगी.

वर्तमान में हर दिन 180 मरीजों की जांच की है क्षमता : रिम्स निदेशक डॉ दिनेश कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री को बताया कि हर दिन 180 मरीजों की जांच की क्षमता है. जांच की क्षमता को बढ़ाने के लिए आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं. ट्रॉमा सेंटर में हेल्प डेस्क भी बनाया गया है. इसके अलावा कोरोना वायरस के आनेवाले संदिग्ध मरीजों की स्क्रीनिंग के लिए अलग से स्क्रीनिंग रूम है. केंद्र और राज्य सरकार की गाइडलाइन के अनुरूप आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है.

निरीक्षण के समय ये मौजूद थे : मौके पर मुख्यमंत्री के अलावा मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का व मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल जी तिवारी मौजूद थे.

सीएम ने कहा : राज्य में ऐसे 1000 बेड की व्यवस्था करनी है तत्काल ऐसी व्यवस्था करनी पड़े, तो हमें तैयार रहना होगा

दुकान और स्टॉक की सूची तैयार कर रहे थानेदार

रांची . लॉक डाउन के दौरान अनाज या किसी आवश्यक सामान की कमी आम लोगों के बीच नहीं हो और दुकानदार इसकी कालाबाजारी नहीं कर सकें, इसके लिए थानेदार भी अपने क्षेत्र में स्थित दुकानों की सूची तैयार करने में जुट गये हैं. दुकान की सूची तैयार करने के बाद थाना के स्तर से किसी पुलिस पदाधिकारी को इस काम में लगाया जायेगा कि वह रोजाना संबंधित दुकान में स्टॉक के संबंध में जानकारी हासिल करेंगे. वह स्थानीय लोगों से भी यह जानकारी हासिल करने का प्रयास करेंगे कि उन्हें सामान अधिक कीमत पर तो नहीं मिल रहा है. शिकायत मिलने के बाद कार्रवाई की जायेगी.

शहर के कई इलाकों में पहुंचायी गयीं सब्जियां

रांची . जिला सहकारिता कार्यालय के सब्जी आपके द्वार कार्यक्रम के तहत शहर के मुहल्लों में सब्जी पहुंचायी जा रही है. रविवार को सोसाइटी और मुहल्लों में सब्जी पहुंचायी गयी. जिला सहकारिता पदाधिकारी मनोज कुमार की देखरेख में वेजफेड के माध्यम से दिनकर नगर, बिरसा नगर, हवाई नगर, बंसल प्लाजा, ओवर ब्रिज, कांके रोड, न्यूक्लियस मॉल, बरियातू रोड, रिसालदार नगर, अशोक नगर, मनोहरपुर आदि इलाकों में वेजफेड की गाड़ियां भेजी गयीं. सहकारिता विभाग ने कई फॉर्मर्स क्लब को इस काम से जोड़ा है. जरूरत पड़ने पर 9431108778 नंबर पर श्री कुमार से संपर्क किया जा सकता है.

खादगढ़ा व रिम्स के आश्रय गृहों का निरीक्षण

रांची . नगरीय प्रशासन निदेशालय के सहायक निदेशक संजय कुमार ने रविवार को खादगढ़ा और रिम्स स्थित आश्रयगृहों का निरीक्षण किया. राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत संचालित आश्रयगृहों में बेघर, बेसहारा और राहगीरों के अस्थायी रूप से रुकने की व्यवस्था है. सहायक निदेशक ने आश्रयगृहों के संचालकों को सभी कर्मियों को मास्क और सेनेटाइजर उपलब्ध कराते हुए समुचित साफ-सफाई के साथ सोशल डिस्टेंसिंग व समय-समय पर जारी हो रही मेडिकल एडवाइजरी का अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया.

उन्होंने कहा कि आश्रयगृहों में आनेवाले बेघरों और राहगीरों को सेनेटाइजर, मास्क और भोजन उपलब्ध कराया जाये. संजय कुमार ने बताया कि रांची के आधा दर्जन आश्रयगृहों व रैन बसेरों समेत राज्य में कुल 94 आश्रयगृहों का संचालन किया जा रहा है. सभी निकायों को शेल्टर्स में पहुंचनेवाले लोगों के लिए दिन में तीन बार भोजन की व्यवस्था सुनिश्चित करने व स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय बना कर व्यक्तियों की स्वास्थ्य जांच कराने के निर्देश भी दिये गये हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें