24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

रांची: बजरंग दल की राष्ट्रीय बैठक, एक लाख संयोजक बनाने का प्लान,निकलेगी शौर्य जागरण यात्रा,VHP का ये है लक्ष्य

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि बजरंग दल सेवा, सुरक्षा एवं संस्कार को ध्येय वाक्य मानकर हिंदू युवकों में समाज सेवक, देशभक्त, स्वावलंबी, कर्तव्यनिष्ठ बनाकर देश सेवा करने का भाव जगाता है. समाज में बढ़ रही चुनौतियों के प्रति जागरण कर निदान के लिए संघर्ष करता है.

रांची: विश्व हिंदू परिषद की युवा शाखा बजरंग दल की दो दिवसीय राष्ट्रीय बैठक रांची के हरमू रोड स्थित गौशाला के समीप दिगंबर जैन भवन में रविवार को संपन्न हो गयी. समापन सत्र में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि विश्व हिंदू परिषद के 60 वर्ष पूर्ण होने का प्रारंभ 7 सितंबर को कृष्ण जन्माष्टमी के पावन दिवस पर होने वाला है. आगामी 1 वर्ष में विश्व हिंदू परिषद का 1 लाख गांव तक संगठन विस्तार करने का लक्ष्य है, वहीं बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक नीरज दोनेरिया ने कहा कि 30 सितंबर से 14 अक्टूबर तक पूरे देश में बजरंग दल द्वारा शौर्य जागरण यात्रा निकाली जाएगी. देश के 300 स्थानों से प्रमुख यात्रा निकाली जाएगी एवं 2,000 से अधिक सभाएं होंगी. देश में एक लाख बजरंग दल संयोजक बनाने की योजना है. 20 हजार साप्ताहिक मिलन केंद्र एवं 25 हजार बलोपासना केंद्र चलाया जाएगा.

बजरंग दल का सेवा, सुरक्षा एवं संस्कार है ध्येय वाक्य

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि बजरंग दल सेवा, सुरक्षा एवं संस्कार को ध्येय वाक्य मानकर हिंदू युवकों में समाज सेवक, देशभक्त, स्वावलंबी, कर्तव्यनिष्ठ बनाकर देश सेवा करने का भाव जगाता है. समाज में बढ़ रही चुनौतियों के प्रति जागरण कर समस्या का निदान के लिए संघर्ष करता है. धर्म संस्कृति रक्षा, गोरक्षा, हिंदू कन्या रक्षा, मठ मंदिर सुरक्षा सहित कई सेवा के कार्य कर समाज के लिए अग्रणी रक्षक के रूप में खड़ा रहता है.

Also Read: जनजातीय युवतियों से विवाह कर आरक्षण का लाभ लेना असंवैधानिक, बजरंग दल की बैठक में बोले VHP के मिलिंद परांडे

भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर मनाएं जनजातीय गौरव दिवस ही

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि 9 जून को घोषित मूलनिवासी/आदिवासी दिवस यूरोप-अफ्रीका में ईसाइयों के द्वारा वहां के स्थानीय जनजातियों को प्रताड़ना कर लाखों की संख्या में हत्या की स्वीकृति देकर उन्हें याद करने के उद्देश्य से घोषणा की गयी थी. भारत में रामायण, महाभारत काल में भी जनजाति, गिरिवासी, वनवासी, नगरवासी साथ साथ जीने व रहने की परंपरा अपने शास्त्रों में बताई गई है. भगवान पुरुषोत्तम श्रीराम एवं माता शबरी, केवट आदि उस काल में एक साथ रहते थे, जो आज भी सभी हिंदू समाज एक साथ रहते आ रहे हैं. भारत में जनजातीय समाज के भगवान बिरसा मुंडा सहित अनेक क्रन्तिकारी वीरों ने अपने धर्म संस्कृति के रक्षार्थ अंग्रेजों के विरुद्ध संघर्ष में अपने को बलिदान दिये. भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर जनजातीय गौरव दिवस को ही मनाया जाना उचित है. 9 जून विदेशी संकल्पना है, जो हमें थोपी जा रही है, उससे बचना चाहिए.

Also Read: झारखंड: गरीबी को मात देकर कैसे लखपति किसान बन गयीं नारो देवी? ड्राइवर पति के साथ जी रहीं खुशहाल जिंदगी

मणिपुर में शांति व्यवस्था कायम होनी चाहिए

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि मणिपुर हिंसा के संदर्भ में उन्होंने कहा मणिपुर का संघर्ष हिंदू ईसाई के बीच नहीं है बल्कि मइती एवं कुकी जनजाति के बीच का संघर्ष है. ईसाइयों एवं वामपंथियों ने इस पर नकारात्मक विमर्श खड़ा कर हिंदू समाज को बदनाम करने की साजिश रची है. उन्होंने कहा कि आपसी मतभेद को भूलकर वहां शांति व्यवस्था अपनानी चाहिए.

Also Read: Explainer: झारखंड की 30 हजार से अधिक महिलाओं की कैसे बदल गयी जिंदगी? अब नहीं बेचतीं हड़िया-शराब

बजरंग दल द्वारा निकाली जाएगी शौर्य जागरण यात्रा

बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक नीरज दोनेरिया ने कहा कि वर्तमान परिपेक्ष्य में ईसाईयत एवं मुस्लिम जेहादी मानसिकता का प्रतिकार करने के लिए समाज को संगठित होना ही एक विकल्प है. बजरंग दल कार्यकर्ताओं के द्वारा 30 सितंबर से 14 अक्टूबर तक संपूर्ण देश में बजरंग दल द्वारा शौर्य जागरण यात्रा निकाली जाएगी. इसमें देश के 300 स्थानों से प्रमुख यात्रा निकाली जाएगी एवं 2,000 से अधिक सभाएं होंगी. उन्होंने कहा संपूर्ण देश में एक लाख बजरंग दल संयोजक बनाने की योजना है. 20 हजार साप्ताहिक मिलन केंद्र एवं 25 हजार बलोपासना केंद्र चलाया जाएगा. उन्होंने कहा कि विश्व हिंदू परिषद-बजरंग दल सदैव समाज की सेवा का करती है. पिछले माह 9000 स्थानों पर श्मशान घाट में सफाई के साथ पौधरोपण किया गया. सैकड़ों मंदिरों में प्रतिमा स्थापित की गई.

Also Read: झारखंड: जदयू के उपाध्यक्ष बने कामेश्वर नाथ दास व श्रवण कुमार महासचिव, अध्यक्ष खीरू महतो ने जारी की पहली लिस्ट

दो दिवसीय राष्ट्रीय बैठक में ये थे मौजूद

समापन सत्र में केंद्रीय सहसंयोजक सूर्य नारायण राव, क्षेत्र संगठन मंत्री आनंद पांडेय, क्षेत्र अध्यक्ष रामस्वरूप रुंगटा, क्षेत्र संयोजक जनमेजय कुमार, प्रांत कार्याध्यक्ष तिलक राज मंगलम, विश्व हिंदू परिषद के प्रांत मंत्री डॉ बिरेन्द्र साहु, प्रांत संगठनमंत्री देवी सिंह, प्रांत उपाध्यक्ष सुनील गुप्ता, प्रांत सहमंत्री रंगनाथ महतो, बजरंग दल प्रांत संयोजक दीपक ठाकुर, बजरंग दल मिलन केंद्र प्रांत प्रमुख संजय चौबे, प्रांत विद्यार्थी प्रमुख अमित पासवान,समाजसेवी प्रिंस अजमानी, प्रचार प्रसार प्रांत सहप्रमुख प्रकाश रंजन, समाजिक समरसता प्रांत प्रमुख मिथिलेश्वर मिश्र, विशेष संपर्क प्रांत प्रमुख अरविंद सिंह,रांची विभाग प्रचार प्रसार प्रमुख अमर प्रसाद, रांची महानगर अध्यक्ष कैलाश केसरी, मंत्री चंद्रदीप दुबे, बजरंग दल रांची महानगर सहसंयोजक अंकित सिंह व दीपक साहू, रांची विभाग सेवा प्रमुख रवि शंकर राय, विनय कुमार, विनोद विश्वकर्मा, अंकित पांडे, नरेंद्र प्रजापति, आशीष वर्णवाल, सोनू सिंह, अरुण साहू, भोला लोहरा मुकेश गिरी, सुभाष चटर्जी, रवि वर्मा सहित देश के सभी राज्यों के 76 बजरंग दल प्रांत संयोजक-सहसंयोजक, 7 क्षेत्र संयोजक सहित कई स्थानीय कार्यकर्ता उपस्थित थे.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें